Wednesday, August 17, 2022
Homeदेशकोरोना टीकाकरण: क्या मैं कोरोना वैक्सीन प्राप्त कर सकता हूं यदि मैंने...

कोरोना टीकाकरण: क्या मैं कोरोना वैक्सीन प्राप्त कर सकता हूं यदि मैंने ऑनलाइन पंजीकरण नहीं किया है?

ऑनलाइन पंजीकरण के बाद, व्यक्ति को उनके मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से सूचित किया जाएगा। यह टीकाकरण की तारीख, स्थान और समय के बारे में जानकारी प्रदान करेगा।

- Advertisement -

कोरोना टीकाकरण: देश भर में कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू हो रहा है। इस चरण में, कोरोना वैक्सीन 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को दी जाएगी, जो बीमार हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि इन नागरिकों को वैक्सीन के लिए भुगतान नहीं करना पड़ेगा। सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ चयनित अस्पतालों में टीकाकरण होगा। टीकाकरण के लिए पंजीकरण कोविद के मंच पर सोमवार 1 मार्च से शुरू होगा। टीकाकरण के लिए सरकार ने 10,000 सरकारी स्वास्थ्य केंद्र स्थापित किए हैं। वहां वैक्सीन मुफ्त दी जाएगी। इसके अलावा, टीका खरीदा जा सकता है।

अगर मैं पंजीकरण नहीं करवाता हूं तो क्या मुझे टीका लगाया जाएगा?

टीकाकरण के संबंध में इस समय सबसे बड़ा सवाल यह है कि जो लोग पंजीकरण नहीं कराते हैं उन्हें टीका मिलेगा या नहीं। ऑनलाइन पंजीकरण के अलावा, लोगों को ‘वॉक इन पंजीकरण’ की सुविधा भी दी जाएगी। जो लोग मोबाइल या ऑनलाइन पंजीकरण नहीं कर सकते वे सीधे अस्पताल जा सकते हैं और टीका प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि, ऑनलाइन या ऐप के जरिए पंजीकरण करने वालों को पहली प्राथमिकता दी जाएगी।

वैक्सीन के लिए पंजीकरण कैसे करें

- Advertisement -

सरकारी अधिसूचना के अनुसार, टीका प्राप्त करने के लिए नागरिकों को पहले को-विन ऐप पर पंजीकरण करना होगा। एक बार पंजीकृत होने के बाद, व्यक्ति को उनके मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से सूचित किया जाएगा। यह टीकाकरण की तारीख, स्थान और समय के बारे में जानकारी प्रदान करेगा।

पंजीकरण के लिए कौन से दस्तावेज मान्य ?

आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, पैन कार्ड, जॉब कार्ड, मनरेगा कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, सांसद, विधायक और एमएलसी द्वारा जारी आधिकारिक पहचान पत्र जैसे पहचान पत्र पंजीकरण के लिए मान्य होंगे।

- Advertisement -

सरकार के अनुसार, 20,000 लोग निजी केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन भी प्राप्त कर सकते हैं। टीकाकरण के लिए राष्ट्रीय विशेषज्ञों की टीम के अनुसार, देश में 50 वर्ष से अधिक आयु या बीमारी से पीड़ित लोगों की संख्या लगभग 27 करोड़ है। एक सूची संकलित की जा रही है जिसमें 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कौन सी बीमारियां शामिल हैं। इन रोगों की सूची जल्द ही प्रकाशित की जाएगी।

इस चरण में 1.34 करोड़ नागरिकों का टीकाकरण

टीकाकरण अभियान का पहला चरण 16 जनवरी को शुरू किया गया था। पहले चरण में अब तक 1.34 करोड़ लोगों को टीका लगाया गया है। पहले चरण में केवल 2000 निजी केंद्र शामिल थे लेकिन दूसरे चरण में निजी केंद्रों की संख्या बढ़ा दी गई है। सरकारी सूत्रों के अनुसार, देश के 12,000 निजी अस्पताल आयुष्मान भारत से जुड़े हैं।

- Advertisement -

यह भी पढ़े: अमेरिका और ब्रिटेन से ज्यादा तेजी से हो रहा भारत में कोरोना का टीकाकरण, जानें- कौन सा राज्य है पहले स्थान पर

यह भी पढ़े : अब बच्चों को भी लगेगा कोरोना का टीका, सीरम इंस्टीट्यूट ने कहा- अक्टूबर तक आ जाएगी वैक्सीन

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group