Sunday, April 11, 2021

4 मार्च को एक बार फिर US कैपिटल में हिंसा की संभावना, सांसदों को किया गया सचेत

Must read

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता
- Advertisement -

वाशिंगटन। अमेरिका में एक बार फिर कैपिटल पर हमले को लेकर अधिकारियों ने वहां के सांसदों को चेताया है। स्थानीय समयानुसार बुधवार को अधिकारियों की ओर से सांसदों को सतर्क करते हुए यह संदेश दिया गया कि 4 मार्च को कैपिटल में खतरे की संभावना है। इसके साथ ही वहां की सुरक्षा व्यवस्था को सख्त कर दिया गया है। सूत्रों का हवाला देते हुए सीएनएन में एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई। इसके अनुसार, FBI द्वारा यह जानकारी दी गई है।

यह भी पढ़े :  चीन सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पूरे शहर को पांच दिनों में टीकाकरण करने का रखा लक्ष्य

 होमलैंड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट ने चरमपंथियों के बीच बढ़ी गतिविधियों के मद्देनजर चेतावनी दी। इसमें कहा गया कि 4 मार्च को कैपिटल में हिंसा को लेकर योजना बनाई जा रही है। इसके मद्देनजर यहां की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। 6 जनवरी के हमले के मद्देनजर अब तक कम से कम 280 लोगों को 300 से अधिक आरोपों में गिरफ्तार किया गया है। हमले में पांच लोगों की मौत हुई थी, जिसमें एक कैपिटल पुलिस अधिकारी भी शामिल था। इससे पहले कैपिटल पुलिस प्रमुख योगानंद पिटमैन (Yogananda Pittman) ने सांसदों को बताया था कि  ‘हम जानते हैं कि आतंकी समूह के सदस्य जो 6 जनवरी को मौजूद थे, उनका बताया था कि वे कैपिटल में विस्फोट करना चाहते थे और अधिक से अधिक सदस्यों की जान लेना चाहते थे।

यह भी पढ़े :  Google पर उत्पीड़न के बढ़ते मामलों पर 500 से अधिक कर्मचारियों ने सुंदर पिचाई को खुला ख़त लिखा
- Advertisement -

अमेरिकी संघीय जांच ब्यूरो (FBI) के निदेशक क्रिस्टोफर रे ने गत 6 जनवरी को कैपिटल हिल में हुए हिंसा की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि कानून प्रवर्तन एजेंसी पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों द्वारा 6 जनवरी को कैपिटल हिल में किए दंगे को घरेलू आतंकवाद के रूप में देखती है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार मंगलवार को सीनेट ज्यूडिशियरी कमेटी के समक्ष एक सुनवाई में रे ने कहा, वह हमला, घेराबंदी, आपराधिक व्यवहार, सरल रूप से वह व्यवहार है जिसे हम, एफबीआई के लोग, घरेलू आतंकवाद के रूप में देखते हैं।’

- Advertisement -

IPL 2021

- Advertisement -

More articles

Latest News