सिवनी: सुनिए सुनिए कलेक्टर साहब! शासकीय सेवको को मिल रहा, गरीबों को मिलने वाली इस योजना का लाभ

By SHUBHAM SHARMA

Published on:

Follow Us
seoni-rashan-vitran

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

सिवनी: धारनाकला (एस.शुक्ला): मध्य प्रदेश और केंद्र सरकार की गरीबो के लिये बनाई गई महत्वपूर्ण योजना के तहत गरीबों को मुफ्त में राशन वितरण हो रहा है किन्तु इस योजना के तहत जिन गरीबों को वास्तविक मे लाभ मिलना चाहिए वे आज भी इस योजना से अत्यधिक दूर है.

ठीक इसके विपरीत इस महत्वपूर्ण योजना का लाभ आज की स्थिति मे उन्हे मिल रहा है जो सही मे गरीबी रेखा की पात्रता नही रखते और जिनके पास लाखों की सम्पति और आलीशान भवन तथा अच्छा खासा व्यापार है. जिससे वे प्रति माह हजारो रूपये की गाढी कमाई कर रहे है इसके बाद भी राशन योजना के तहत मुफ्त का अनाज ले रहे है.

और यह सालों पूर्व से हो रहा है.

शासकीय सेवकों को मिल रहा है इस योजना का लाभ

उल्लेखनीय है मुफ्त का राशन लेने मे शासकीय सेवक भी पीछे नही है जिन्हे प्रति माह पचास से साठ हजार रूपये वेतन मिल रहा है उनहे भी शासन दवारा प्रदत मुफ्त का अनाज मिल रहा है और वास्तव मे जो गरीब है वो अपने हक के लिये तरस रहे है.

शासकीय सेवा से जुडे शासकीय सेवक इसमें शामिल है जो वर्षो से शासन द्वारा वितरित हो रहे मुफ्त के अनाज को लेते आ रहे है और गरीबो के हक पर शासन प्रशासन की नाक के नीचे डाका डाल रहे है. जबकि इस सम्बन्ध मे शासन प्रशासन को अनेको बार अवगत कराने के बाद भी अब तक कानों मे जू तक नही रेंगी है.

यही कारण है की अपात्र लाभान्वित हो रहे है और वास्तविक मे जो पात्रता रखते है आज भी अपना गरीबी रेखा का कार्ड बनवाने दफ्तर के चक्कर लगा रहे है

लगभग पूरा गांव है गरीबी रेखा के भीतर

यहा यह भी उल्लेखनीय है की धारनाकला मे जनसंख्या के आधार पर लगभग 750 परिवार एवं 2532 के लगभग मतदाता है ठीक इसके विपरीत धारनाकला मे 650 राशन कार्ड तथा लगभग 2780 सदस्यो अथवा लोगो को मुफ्त का राशन मिल रहा है.

इससे अन्दाजा लगाया जा सकता है की जवाबदारो ने लगभग पूरे गाव को ही गरीब बनाकर रख दिया है जिनके हाथ मे राशन कार्ड मे नाम जोडने की बागडोर थी उन्होने थोक के भाव मे सगे सम्बन्धी और करीबी होने के नाते अमीर एवं धन से सम्पन्न अपात्र लोगो के भी राशन कार्ड बना दिये गये

यही कारण है की आज की स्थिति मे धारनाकला मे पात्र दर दर की ठोकर खा रहे है और अपात्र मजे से मुफ्त का राशन लेकर शासन की महती अन्न योजना को कलंकित कर रहे है

टू व्हीलर एवं फोर व्हीलर से आते है राशन लेने

यहा यह बताना भी लाजिमी है की राशन दुकानो मे गरीब टू व्हीलर एवं फोर व्हीलर से राशन लेने आते है और बकायदा राशन दुकान से राशन तुलवाकर कुछ ही समय बाद अनाज दुकान मे विक्रय भी कर देते है.

विभाग झाड रहा पल्ला

यहा यह भी उल्लेखनीय है की इस सम्बन्ध मे शिकायत होने के बाद जांच करने मे सम्बन्धित विभाग जैसे पंचायत विभाग राजस्व विभाग तथा खाद्य विभाग भी अपना पल्ला झाड़ रहे है और यही जवाब मिल रहे है की उपरोक्त शिकायत हमारे विभाग से सम्बंधित नही है जबकि राशन से सम्बंधित शिकायत मे इन विभागो की अहम भूमिका होती है किन्तु इतनी बडी अनियमितता के सामने आने पर विभाग किनारा करते हुए नजर आ रहा है जो समझ से परे है.

सी एम हेल्पलाइन का नही होता असर

यहा यह बताना भी लाजिमी है की इस सम्बन्ध मे 181 सी एम हेल्पलाइन मे शिकायत के बाद भी सम्बंधित विभाग द्वारा कार्य वाही तो दूर जाच करना भी मुनासिब नही समझा जाता और शिकायत वापस हो इस दिशा मे सम्बंधित विभाग द्वारा सबसे ज्यादा प्रयास किये जाते है इस तरह यह सेवा भी सिर्फ औपचारिकता के अलावा कुछ नही है.

क्यो नही होती ठोस कार्रवाई

उल्लेखनीय है की मुफ्त का राशन अमीर और लाखो की सम्पति धारक के साथ साथ शासकीय सेवक जिनकी वेतन भी पचास से साठ हजार रूपये प्रति माह है ऐसे अपात्र लोग भी मुफ्त का राशन ले रहे है बावजूद इसके सम्बंधित विभाग द्वारा ठोस कार्रवाई न किया जाना समझ से परे है

ऐसे मे अन्दाजा लगाया जा सकता है की शासन की महती योजना का संचालन जमीनी हकीकत मे किस तरह हो रहा है और यह स्थिति धारनाकला की नही है अपितु पूरे सिवनी जिले के विकास खंडो की जहा है अमीर मालामाल और गरीब शासन की योजनाओ से कोषो दूर है, जिले के संवेदनशील नवागत जिला कलेक्टर इस ओर ध्यान दे कार्रवाई करेगे ऐसी जनाअपेक्षा है.

SHUBHAM SHARMA

Khabar Satta:- Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.

Leave a Comment