रेलवे यात्रियों के लिए बेहद जरूरी खबर: 31 मई को देशभर की ट्रेनों के थम जायेंगे पहिये; ये है बड़ी वजह

Very important news for railway passengers: On May 31, the wheels of trains across the country will stop; this is the big reason

Must read

Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
- Advertisement -

रेलवे यात्रियों के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है। अगर कोई यात्री कहीं जाने का सोच रहा है तो 31 मई से पहले सफर को पूरा कर ले। जानकारी मिली है कि 31 मई को देश भर की सभी ट्रेनों के पहिए थम जाएंगे।

दरअसल रेलवे स्टेशन मास्टर की देशव्यापी हड़ताल 31 मई को होगी। ऐसे में सभी रेलवे मास्टरों ने सामूहिक अवकाश पर जाने की घोषणा कर दी है। जिसकी वजह से यात्रियों को काफी परेशानियों से गुजरना पड़ेगा।

स्टेशन मास्टर्स ने की ये मांग

- Advertisement -

दरअसल भारतीय रेलवे के स्टेशन मास्टर्स ने 31 मई को देशव्यापी हड़ताल की घोषणा कर दी है जिससे 1 दिन के लिए पूरी ट्रेनें बंद रहेंगी। अगर 31 मई आपका रिजर्वेशन पहले से करा हुआ है तो उसे आगे बड़वाना होगा।

इस दिन देश भर की ट्रेनें नहीं चलेंगी। स्टेशन मास्टर्स ने मांग करते हुए कहा कि उनके संवर्ग में खाली पद पड़े हैं। उन्हें जल्दी भरे जाएं। खाली पद होने की वजह से उन्हें हर दिन 12 घंटे की ड्यूटी करना पड़ती है ऐसे में जल्दी इन पदों को भरने की मांग की है।

1 दिन के अवकाश पर जा रहे मास्टर्स

- Advertisement -

दरअसल रेलवे की उदासीनता के चलते स्टेशन मास्टर को हर दिन डबल ड्यूटी करना पड़ती है जिसकी वजह से परेशान रेलवे मास्टर्स ने 1 दिन के अवकाश की घोषणा कर दी है जिसका खामियाजा अब रेलवे यात्रियों को भुगतना पड़ेगा।

वहीं एक दिन ट्रेन नहीं चलने से भारतीय रेलवे को भी काफी नुकसान झेलना पड़ेगा। हर दिन रेलवे से बड़ी कमाई होती है, लेकिन पूरे दिन के लिए रेल के पहिए थमे रहेंगे।

देशभर में 35 हजार स्टेशन मास्टर्स पदस्थ

- Advertisement -

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि देशभर में करीब 35000 स्टेशन मास्टर काम कर रहे हैं। अब इन रेलवे मास्टर ने 31 मई को सामूहिक अवकाश को लेकर रेलवे बोर्ड को नोटिस जारी कर दिया है जिसमें उन्होंने उनके संबंध में खाली पड़े पदों पर नियुक्ति करने की मांग की है।

रेलवे मास्टर्स को करना पड़ती है डबल ड्यूटी

वहीं इस मामले में ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष धनंजय चंद्रात्रे का कहना है कि सामूहिक अवकाश पर जाने के अलावा कोई और उपाय नहीं है। उनका कहना है कि उनके संवर्ग में करीब 6 पद खाली पड़े हैं, लेकिन उन्हें भी नहीं भर पा रहे हैं।

ऐसे में देश में 6000 से अधिक स्टेशन मास्टरों की कमी है। इन रेलवे मास्टर को 12 घंटे की ड्यूटी करना पड़ती है। वहीं अधिकतर स्टेशनों पर केवल दो ही स्टेशन मास्टर पदस्थ हैं। ऐसे में इनकी कमी को जल्दी पूरी करने की मांग की जा रही है।

बहरहाल लंबे समय से इन रेलवे स्टेशन मास्टर्स के द्वारा खाली पदों को लेकर भरने की मांग की जा रही है, लेकिन रेलवे की उदासीनता के चलते इस पर ध्यान नहीं दिया गया है। ऐसे में परेशान होकर अब रेलवे मास्टर ने सामूहिक अवकाश की घोषणा कर दी है ।1 दिन के लिए देश भर की ट्रेनों के पहिए थम जाएंगे लेकिन यात्रियों को भी काफी परेशानियों से जूझना पड़ेगा।

- Advertisement -

Latest article