Home देश चीन ने फिर धोखा देने का ऐसे बनाया था प्‍लान! भारतीय सेना ने खदेड़ा

चीन ने फिर धोखा देने का ऐसे बनाया था प्‍लान! भारतीय सेना ने खदेड़ा

नई दिल्‍ली: 15 जून को गलवान में भारत और चीन की सेनाओं के बीच झड़प हुई थी. उसके ढाई महीने बाद एक बार फिर चीन ने लद्दाख एरिया में नापाक हरकत की लेकिन इस बार फिर उसको मुंह की खानी पड़ी.  दरअसल इस बार चीन ने चुपचाप रात के अंधेरे में भारतीय सीमा में घुसपैठ की तैयारी कर ली थी. चीन ने टैंक, 500 सैनिकों और गोला बारूद के साथ भारतीय सीमा में दक्षिणी पैंगोंग शो झील (Pangong Lake) के दक्षिणी क्षेत्र में घुसपैठ करने की कोशिश की. लेकिन LAC पर मुस्तैद भारतीय जवानों ने दुश्मन की सेना को पीछे धकेल दिया. चीनी सेना इस इलाके में घुसपैठ कर पूरी तरह से डटने के लिए आए थे.

भारत ने पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग सो क्षेत्र में यथास्थिति बदलने के लिए चीनी सेना द्वारा की जा रही घुसपैठ को नाकाम कर दिया है. हालांकि दोनों पक्षों की ओर से सैनिकों के हताहत होने की पुष्टि होनी बाकी है. मुद्दे को हल करने के लिए चुशुल में एक ब्रिगेड कमांडर-स्तर की मीटिंग चल रही है. बता दें कि यह घटना शनिवार और रविवार की रात की है. अब चीन और भारत पूर्वी लद्दाख में विवादित सीमा मुद्दे को सुलझाने के लिए कूटनीतिक और सैन्य वार्ता में लगे हुए हैं.

- Advertisement -

भारतीय सेना द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि 29 अगस्त और 30 अगस्त, 2020 की रात पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में पिछली आम सहमति का उल्लंघन किया और उसने यथास्थिति को बदलने के लिए सैन्य घुसपैठ भी की.

सेना ने कहा, “भारतीय सैनिकों ने पैंगोंग झील के पास पीएलए की गतिविधि को नाकाम कर दिया. साथ ही हमारी स्थिति मजबूत करने और चीनी इरादों को विफल करने के लिए भी उपाय किए.”

- Advertisement -
यह भी पढ़े :  दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर सख्त NGT, क्रिसमस-नए साल पर पटाखे नहीं चला पाएंगे लोग

भारतीय सेना ने यह भी कहा कि वे बातचीत के माध्यम से शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन अपनी क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए भी वे समान रूप से ²ढ़ हैं.

यह भी पढ़े :  सोना हुआ सस्ता, चांदी की कीमतों में भी अच्छी-खासी गिरावट, जानें क्या रह गए हैं रेट

वहीं, चीन ने पैंगोंग सो के उत्तर में अपनी वर्तमान सैन्य स्थिति से पीछे हटने से इनकार कर दिया है. साथ ही पैंगॉन्ग सो में चीन ने फिंगर -5 और 8 के बीच अपनी स्थिति को मजबूत किया है. जबकि पीएलए मई के शुरूआत से ही फिंगर -4 से लेकर फिंगर -8 तक के कब्जे वाले 8 किलोमीटर के क्षेत्र में पीछे हटने से इनकार कर चुका है.

- Advertisement -

जबकि भारत ने चीन से कहा है कि वह पैंगोंग सो से अपने सैनिकों को पूरी तरह से हटा ले.

दोनों देशों के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर लगभग चार महीने से गतिरोध बना हुआ है. कई स्तरों की बाचतीच के बावजूद कोई सफलता नहीं मिली और अब भी यहां गतिरोध जारी है.

भारत को यह भी पता चला है कि चीनी पक्ष ने एलएसी – पश्चिमी (लद्दाख), मध्य (उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश) और पूर्वी (सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश) के तीन क्षेत्रों में सेना, तोपखाने और ऑर्मर का निर्माण शुरू कर दिया है.

लद्दाख : भारत-चीन के सैनिकों के बीच फिर झड़प, भारतीय सेना ने दिया करारा जवाब

नई दिल्ली: सीमा पर जारी तनाव के बीच लद्दाख में पैंगोंग भारत-चीन के सैनिकों के बीच फिर से झड़प होने की खबर आ रही है. यह झड़प 29-30 अगस्त की रात को हुई है. भारतीय सेना ने चीन की सैनिकों की घसपैठ का करारा जवाब दिया.

यह झड़प ऐसे समय हुई है जब दोनों देशों के बीच सीमा पर तनाव को कम करने के लिए बातचीत का दौर जारी है. रक्षा मत्रालय ने इस संबंध एक बयान भी जारी किया है जिसमें कहा गया है चीन के सैनिकों ने भारतीय सैनिकों को उकसाया. भारतीय सैनिकों ने चीन की सेना को मुंहतोड़ जवाब दिया. पैंगोंग झील के पास झड़प के बाद चुशूल में भारत और चीन के सैन्य अधिकारियों के बीच बैठक जारी है. 

यह भी पढ़े :  भारत में कोरोना की वैक्सीन जनवरी तक आने की उम्मीद, ट्रायल अंतिम चरण मेंः गुलेरिया

गौरतलब है कि गलवन घाटी में 15-16 जून की दरम्यानी रात भारतीय और चीनी सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी. इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे. झड़प में चीन के सेना के 43 सैनिक भी हताहत हुए थे.  

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,274FansLike
7,044FollowersFollow
780FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

पंजाब के किसानों ने मोदी सरकार को घुटनों पर ला दिया: शिवसेना

शिवसेना ने शुक्रवार को कहा कि पंजाब के किसानों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनों के जरिये मोदी...
यह भी पढ़े :  उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण संबंधी कानून आज से लागू, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने दी मंजूरी

किसान आंदोलन का मामला अब SC में, दिल्ली की सीमाओं पर जमे किसानों को हटाने की मांग

किसान आंदोलन का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। शीर्ष अदालत में एक याचिका दाखिल की गई है, जिसमें दिल्ली की सीमाओं पर जमे...

Corona वॉरियर्स पर हुए लाठीचार्ज को देख भावुक हुए राहुल गांधी, बोले- इस तरह की बेरहमी शर्मनाक

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे कोरोना वारियर्स के साथ पुलिस दमन की कड़ी निंदा की।...

ममता बनर्जी ने प्रदर्शनकारी किसानों से फोन पर की बात, अपनी 2006 की भूख हड़ताल की दिलाई याद

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केन्द्र के कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे विभिन्न किसान...

IAF ने दुश्मन के लड़ाकू विमानों को मार गिराने के लिए 10 आकाश मिसाइलों का किया सफल परीक्षण

नई दिल्ली। एलएसी में तनाव के बीच भारतीय वायु सेना लगातार दुश्मनों पर अपनी पकड़ और मजबूत किए हुए है। भारतीय वायुसेना ने 10 आकाश...
x