Home » स्वास्थ्य » बरसात के मौसम में हमेशा रहें सतर्क और खुद को रखें हेल्दी: जानिए बारिश के मौसम में होने बाली बीमारियां और बचाव

बरसात के मौसम में हमेशा रहें सतर्क और खुद को रखें हेल्दी: जानिए बारिश के मौसम में होने बाली बीमारियां और बचाव

By Anshul Sahu

Published on:

Follow Us
Monsoon Me Healthy Rahne Ke Upay

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

Monsoon Me Healthy Rahne Ke Upay: बारिश के मौसम में बीमारियाँ आपको आसानी से प्रभावित कर सकती हैं। इन बीमारियों के बारे में जानकारी रखकर आप खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

बदलते मौसम में हमेशा सतर्क रहना चाहिए, क्योंकि शरीर उसके प्रभावों का सामर्थ्य रखता है और ऐसे में बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है। बरसात के मौसम में, जल से होने वाली बीमारियों का खतरा अधिक होता है।

इस मौसम में, बैक्टीरिया, वायरस, और फंगस अपने आप मल्टिप्लाई होते हैं और नमी के माध्यम से आपको पहुंच सकते हैं।

इसके अलावा, इस मौसम में अन्य जीव भी विकसित होते हैं जो आपको बीमार कर सकते हैं। आइए, हम बारिश में होने वाली बीमारियों के बारे में अधिक जानते हैं।

मच्छरों द्वारा फैलने वाली बीमारियाँ

बारिश के मौसम में मच्छरों द्वारा फैलने वाली बीमारियाँ बहुत तेजी से बढ़ती हैं। इनमें मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया शामिल हैं। ये मच्छर प्रजनन के मौसम में जीवित रहते हैं और अपने अंडे देते हैं। मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया, ये तीनों मच्छर विभिन्न होते हैं और वे तेजी से अपनी प्रकोप प्रवृत्ति करते हैं। इसलिए बारिश के समय इनसे बचने का प्रयास करें।

दूषित पानी और अशुद्ध आहार से होने वाली बीमारियाँ

दूषित पानी और अशुद्ध आहार से होने वाली बीमारियाँ इस मौसम में अधिक देखी जाती हैं। इनमें टायफॉइड और हैजा शामिल हैं। ये दोनों बीमारियाँ स्नान, कपड़े धोने, पानी पीने या दूषित पानी से संपर्क में आने से हो सकती हैं। इसलिए इन बीमारियों से सतर्क रहें और दूषित पानी और अशुद्ध आहार से बचें।

संक्रमण से

इस मौसम में ये परिवर्तन आपको बीमार कर सकता है। साथ ही आपके चारों ओर बढ़ते बैक्टीरियल और वायरल संक्रमण के कारण आप जुकाम और बुखार के शिकार हो सकते हैं। इसलिए इन मौसम में संक्रमण से बचें।

कैसे करें अपना बचाव- मौसमी बीमारियों से बचने के टिप्स

बारिश की बीमारियों से बचने के लिए आपको सबसे पहले इस बात का ध्यान रखना होगा कि स्वच्छ पानी पीएँ और अपने घर में भी पानी भरे स्थानों को सावधानी से रखें।

कूलर और बाग-बगीचे में पानी जमने न दें। इनमें मच्छर बढ़ सकते हैं। शाम को अपने घर की खिड़कियों और दरवाज़ों को बंद रखें और घर से बाहर निकलने के समय छाता साथ लें। गर्म खाना खाएं और स्वस्थ रहें।

Leave a Comment