Friday, April 9, 2021

प्रयागराज: पुलिस मुठभेड़ में मुख्तार अंसारी गैंग के दो शूटर ढेर, 50 हजार का इनामी वकील पाण्डेय मारा गया

Must read

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता
- Advertisement -

प्रयागराज। माफिया से विधायक बने मुख्तार अंसारी के साथ ही मुन्ना बजरंगी के इशारे पर वाराणसी में करीब आठ वर्ष पहले डिप्टी जेलर की हत्या करने वाले शातिर वकील पाण्डेय उर्फ राजीव पाण्डेय उर्फ राजू को एसटीएफ ने प्रयागराज में उसके साथी के साथ मुठभेड़ में ढेर कर दिया। 50 हजार का इनामी वकील पाण्डेय मुख्तार अंसारी के साथ ही मुन्ना बजरंगी व प्रयागराज के दिलीप मिश्रा गैंग का शार्प शूटर था। यह दोनों गुरुवार को प्रयागराज में किसी नेता की हत्या की योजना से आए थे। इस मुठभेड़ में दो दारोगा भी मामूली रूप से जख्मी हैं जबकि उत्तर प्रदेश एसटीएफ के डिप्टी एसपी बुलेट प्रूफ जैकेट पहले होने के कारण बच गए।

तड़के अरैल तटबंध मार्ग पर वाहन चेकिंग चल रही थी। उसी दौरान अपाचे से पहुंचे दो बदमाश  रोकने पर भागने लगे। पुलिस ने जब उन्हेंं दौड़ाया तब वह पुलिस पर फायरिंग करने लगे। जवाबी फायरिंग में भदोही जिले के गोपीगंज थाना बड़ा शिव मंदिर निवासी वकील पांडेय उर्फ राजू पुत्र रामसहाय और गोपीगंज  खुर्द गांव निवासी अमजद उर्फ अंगद उर्फ पिंटू पुत्र हफीजुल्लाह गोली लगने से ढेर हो गया। वकील पांडेय पर विभिन्न थानों में दो दर्जन मुकदमे दर्ज हैं और 50 हजार का इनाम भी घोषित था। अमजद पर डेढ़ दर्जन मुकदमे दर्ज हैं ।

- Advertisement -

दारोगा और एक सिपाही गोली का छर्रा लगने से जख्मी: बदमाशों की फायरिंग में दारोगा अनिल कुमार और एक सिपाही गोली का छर्रा लगने से जख्मी हैं। इस दौरान सीओ एसटीएफ के बुलेट प्रूफ जैकेट में भी एक गोली लगी। गोली जैकेट नहीं भेद और फंसी रह गई। पुलिस मुठभेड़ की सूचना पर आला पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। मुन्ना बजरंगी की मौत के बाद भदोही का 50 हजार इनामी वकील पांडेय व अमजद उर्फ पिंटू चाका के पूर्व ब्लाक प्रमुख दिलीप मिश्रा के लिए काम करने लगे थे। दोनों सुपारी किलर थे और यहां एक नेता की हत्या करने के इरादे से आए थे।

जंगल में गोलियों की तड़तड़ाहट से सनसनी: प्रयागराज में सुबह नैनी में अरैल क्षेत्र में मंगलवार को गंगा नदी के कछार के जंगल में गोलियों की तड़तड़ाहट से सनसनी फैल गई। उत्तर प्रदेश एसटीएफ के साथ एक मुठभेड़ में माफिया मुख्तार अंसारी, मुन्ना बजरंगी एवं दिलीप मिश्रा गैंग का कुख्यात शार्प शूटर पचास हजार रुपया का इनामी वकील पाण्डेय उर्फ राजीव पाण्डेय उर्फ राजू पुत्र सहस राम पाण्डेय निवासी बडा शिव मंदिर थाना गोपीगंज भदोही अपने साथी शार्प शूटर एचएस अमजद उर्फ अंगद उर्फ पिंटू उर्फ डाक्टर पुत्र हफीजउल्ला निवासी रामसहायपुर थाना भदोही नवेन्दु कुमार पुलिस उपाधीक्षक एसटीएफ उत्तर प्रदेश प्रयागराज के नेतृत्व में टीम के साथ हुई प्रयागराज के नैनी थाना क्षेत्र के अरैल में एक मुठभेड़ में ढेर हो गया। इस दौरान मौके से 30 एवं नाइन एमएम की पिस्टल व जिन्दा कारतूस व खोखा एवं बाइक मिली है।

- Advertisement -

दोनों बैखौफ बदमाश काफी कुख्यात: वकील पाण्डेय तथा एचएस अमजद ने अन्य साथियों के साथ मिलकर 2013 में माफिया मुख्तार अंसारी तथा मुन्ना बजरंगी के इशारे पर वाराणसी में तत्कालीन डिप्टी अनिल कुमार त्यागी की दिनदहाड़े हत्या कर दी थी। दोनों बैखौफ बदमाश काफी कुख्यात थे। इनका पूर्वी उत्तर प्रदेश के साथ ही बिहार तथा झारखंड में काफी कहर था। इसी बीच 17 फरवरी को इंटरनेट मीडिया पर वायरल भदोही के विधायक विजय मिश्रा के पत्र का भी उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने संज्ञान लिया। विधायक विजय मिश्रा ने यह पत्र केंद्र सरकार में गृह मंत्री अमित शाह को लिखा था। विजय मिश्रा ने पत्र में लिखा था कि वकील उर्फ राजीव पाण्डेय से मेरी जान को खतरा है। इससे पहले भी 28 मई 2020 को प्रयागराज में माफिया दिलीप मिश्रा के कालेज से गिरफ्तार खान मुबारक गैंग के शार्प शूटर एक लाख के इनामी नीरज सिंह ने बताया था कि माफिया दिलीप मिश्रा के कहने पर मैने वकील पाण्डेय के साथ मिलकर नैनी निवासी आरएसएस से जुड़े सुजीत सिंह तथा नन्हेंं खान के दामाद समाजवादी पार्टी के नेता सलीम अहमद पुत्र मंजूर अहमद निवासी घोघापुर थाना घूरपुर जनपद प्रयागराज की हत्या करने के लिए तीन बार रेकी भी की थी। नीरज सिंह के पकड़े जाने के कारण यह प्रयास समाप्त हो गया।

झारखण्ड के कोयला माफिया व धनबाद के डिप्टी मेयर नीरज सिंह की हत्या में शामिल मुन्ना बजरंगी गैंग के शार्प शूटर अमन सिंह पुत्र उदयभान सिंह निवासी जगदीशपुर थाना राजे सुल्तानपुर जनपद अम्बेडकर नगर रांची के होटरवार जेल में बंद है। उसी के कहने पर वकील पाण्डेय और उसके साथी एचएस अमजद ने अपने साथियों के साथ मिलकर रांची के होटरवार जेल के एक अधिकारी की हत्या करना चाहते थे। जिससे कि जेल में अमन सिंह का दबदबा जेल में होता, लेकिन एसटीएफ ने 11 फरवरी को इनके साथी अभिनव प्रताप सिंह उर्फ वरूण पुत्र दिनेश प्रताप सिंह निवासी ज्ञानापुर थाना महाराजगंज को अयोध्या के पकड़ लिया। जिससे इस बड़े षडयंत्र की जानकारी हो गई। इस बात की पुष्टि अभिनव सिंह ने अपने बयान में भी की थी।

- Advertisement -

- Advertisement -

IPL 2021

- Advertisement -

More articles

Latest News