HOME

WhatsApp

Google News

Shorts

Facebook

Home » छत्तीसगढ़ » मुख्यमंत्री बघेल ने वैक्सीन को लेकर पीएम को लिखा पत्र, जुलाई में एक करोड़ डोज उपलब्ध कराने का किया आग्रह

मुख्यमंत्री बघेल ने वैक्सीन को लेकर पीएम को लिखा पत्र, जुलाई में एक करोड़ डोज उपलब्ध कराने का किया आग्रह

By Ranjana Pandey

Published on:

Follow Us
bhupesh-baghel

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

डेस्क।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर छत्तीसगढ़ को जुलाई में कोरोना टीके की कम से कम एक करोड़ डोज उपलब्ध कराए जाने का आग्रह किया है। उन्होंने यह भी अवगत कराया है कि छत्तीसगढ़ में वर्तमान में कोरोना वैक्सीन की मात्र नौ लाख 98 हजार 810 डोज शेष बची हैं जो केवल तीन दिनों के लिए पर्याप्त है।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से छत्तीसगढ़ को कोरोना टीके उपलब्ध कराए जाने के संबंध में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को तत्काल निर्देशित करने का भी अनुरोध किया है।


मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को पत्र में अवगत कराया है कि राज्य में कोरोना के विरुद्ध टीकाकरण का कार्य तीव्र गति से चल रहा है। राज्य अबतक फंटलाइन वर्कर को 100 प्रतिशत प्रथम डोज तथा हेल्थ केयर वर्कर को 91 प्रतिशत प्रथम डोज लग चुकी है।

इनमें से 71 प्रतिशत फंटलाइन वर्कर को और 70 प्रतिशत हेल्थ केयर वर्कर को द्वितीय डोज भी लगायी जा चुकी है।
राज्य में इसी प्रकार 45 वर्ष से अधिक के आयु वर्ग में भी अब तक 80 प्रतिशत नागरिकों को वैक्सीन की प्रथम डोज लगायी जा चुकी है।

यद्यपि 18-44 वर्ष के आयु वर्ग का टीकाकरण एक मई से ही प्रारम्भ हुआ है फिर भी दो माह से भी कम समय में राज्य में 18-44 वर्ष आयु वर्ग के 16 प्रतिशत नागरिकों को भी कोरोना वैक्सीन की प्रथम डोज लगायी जा चुकी है। वर्तमान में छत्तीसगढ़ में प्रतिदिन तीन लाख से अधिक लोगों को टीके लगाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने पत्र में यह भी लिखा है कि राज्य में वर्तमान में कोरोना वैक्सीन की मात्र नौ लाख 98 हजार 810 डोज शेष बची हैं जो केवल तीन दिनों के लिए ही पर्याप्त है।

हमने राज्य के लिए यह लक्ष्य निर्धारित किया है कि यदि हमें भारत सरकार से पर्याप्त संख्या में कोरोना टीके के डोज प्राप्त हो जाएँ तो हम एक माह में ही सभी पात्र हितग्राहियों को टीके की प्रथम डोज लगा देंगे। इसके लिए छत्तीसगढ़ में व्यापक रूप से जन अभियान चलाया जा रहा है।

Also read- https://khabarsatta.com/health/save-premature-baby-with-kangaroo-care/

Leave a Comment