सिवनी में दिन दहाड़े चाक़ू चलने की खबर से सनसनी

0
234

चार बजे हुए जिला बदर के आदेश, साढ़े पाँच बजे चाकू से किया घायल

डूण्डा सिवनी थानांतर्गत ब्रहस्पतिवार को एक अधेड़ पर अज्ञात लोगों के द्वारा चाकू से हमला कर दिया गया। जैसे ही यह खबर शहर में फैली वैसे ही सनसनी मच गयी। प्राप्त जानकारी के अनुसार सिवनी में कटंगी रोड निवासी परमानंद (58) पिता जियालाल जैसवाल ब्रहस्पतिवार को मोतीनाला के पास प्रदर्शन करने की तैयारियों के सिलसिले में गये थे। वहाँ से जब वे लौट रहे थे तभी टेगौर वार्ड के पास पीछे से आ रहे अज्ञात बाइक सवार युवकों ने उस पर चाकुओं से हमला कर दिया। यह घटना डूण्डा सिवनी थाना क्षेत्र के टेगौर वार्ड में घटी।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि घायल परमानंद जैसवाल राजनीति में भी दखल रखते हैं और संभवतः वे कोई अनशन करना चाहते हैं जिसके लिये पोस्टर आदि लगवाने के लिये श्री जैसवाल मोतीनाला क्षेत्र में गये हुए थे। बताया जाता है कि वहाँ से जब वे शाम लगभग साढ़े पाँच बजे अपने घर लौट रहे थे उसी दौरान उन पर यह हमला हो गया।

बरघाट नाका क्षेत्र में लगने वाली सब्जी मण्डी के समीप निवास करने वाले यादव पेंटर के घर के सामनेपरमानंद जैसवाल पर हमला करने वाले युवक मौके से भाग निकलने में कामयाब रहे। वहीं मौके पर उपस्थित लोगों के द्वारा घायल जैसवाल को एक निजि चिकित्सक के पास ले जाया गया जहाँ से उन्हें एंबूलेंस की सहायता से जिला चिकित्सालय ले जाकर उपचारार्थ दाखिल करवा दिया गया। बताया जाता है कि घायल परमानंद के द्वारा इस हमले के पीछे हर बार विभिन्न शख्सियतों को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस के द्वारा काली चौक में लगे सीसीटीवी के फुटेज खंगाले गये। जहाँ सीसीटीवी कैमरे लगे हैं वहाँ से घटना स्थल काफी दूर है। सूत्रों ने बताया कि घायल के अनुसार घटना शाम लगभग साढ़े पाँच बजे की है एवं सीसीटीवी फुटेज में पाँच बजकर 36 मिनिट पर परमानंद जैसवाल किसी के साथ बैठकर आते दिख रहे हैं।

सूत्रों ने बताया कि परमानंद जैसवाल के पैर में किसी नुकीली चीज से हमला किया गया है। उनके पैर में दो स्थानों पर चोट के निशान हैं और घटना स्थल पर भी काफी मात्रा में खून फैला हुआ था। सूत्रों ने बताया कि पुलिस हर एंगल से जाँच कर रही है। इस मामले में परमानंद जैसवाल सहित अनेक लोगों के कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) भी पुलिस के द्वारा खंगाले जा रहे हैं।

सूत्रों ने बताया कि परमानंद जैसवाल के द्वारा शहर के अनेक कॉलोनाईजर्स के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान भी चलाया गया था। उन्होंने डूण्डा सिवनी थाने में भी कबीर वार्ड के एक कॉलोनाईजर के खिलाफ कॉलोनी काटने पर नियमों के उल्लंघन हेतु प्राथमिकी दर्ज करने के लिये आवेदन दिया था।

हो गया था जिला बदर : वहीं जिला कलेक्टर कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि कोतवाली पुलिस के द्वारा परमानंद जैसवाल का जिला बदर पेश किया गया था। जिला कलेक्टर के द्वारा इस मामले में ब्रहस्पतिवार को शाम चार बजे उन्हें जिला बदर करने के आदेश जारी किये गये थे। सूत्रों ने बताया कि संभवतः इस आदेश को सुनने के उपरांत ही वे मोतीनाला गये होंगे जहाँ से लौटते समय यह घटना घट गयी।


Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.