बारिश की बूंदे और जीवन का रहस्य

बारिश की बूंदे और जीवन का रहस्य


शुभम शर्मा // गर्मियों की एक शाम दिल्ली के लोधी गार्डन में मैं एक दोस्त के तीन साल के बच्चे का पीछा कर रही थी जो तितली पकड़ रहा था, तभी अचानक आसमान में अंधेरा छाने लगा। हमारे सर पर बारिश की पहली बूंदें पड़ी। टप!

- Advertisement -

“बारिश,” मेरा छोटा दोस्त खुशी से चिल्लाया। “बारिश,” मेरी जर्मन दोस्त कोर्नेलिया ने और ज़ोर देकर कहा। मैं गीली मिट्टी की मादक खुशबू में खो गई जिसने हमें अपनी आग़ोश में ले लिया था। इसमें कोई हैरानी की बात नहीं कि उन्होंने बिहार में इस खुशबू की पूरी शीशी पा ली थी।

तब जब धरती का रहस्य, बारिश और खुशबू मुझ तक आई। कोर्नेलिया ने बताया कि उसके नगर में, जहां महीनों बारिश होती है, उसे उमसदार महसूस होता है, न कि ऐसा कि वह इत्र के स्वर्ग में है। उत्तरी भारत के मैदानी इलाकों की चिलचिलाती गर्मी में, झुलसी हुई धरती की गहराई में जब बारिश की बूंद पड़ती है तो वह गहरी सांस लेती है।

- Advertisement -

जैसे ही पहली बूंद गिरती है, उत्तेजित तड़प खत्म हो जाती है। भीगी हुई धरती का उत्साह छिपा नहीं रह पाता; यह आसमान में शुद्ध कस्तूरी के रूप में उठता है। संतुष्ट धरती पत्ता अंकुरित करने के लिए तैयार है। हरियाली और खेतों के लिए खुद को देने के लिए तैयार है, मखमली पेड़ पर ठंडी हवा से खुश्बू पैदा करने के रूप में तैयार है; जैसे की बीज के जादू के रूप में; नए जन्म और उत्सव के वादे के रूप में।

सदियों पहले, कालीदास ने प्रकृति के अभ्यस्त जीवन की पारिस्थितिकी, पृथ्वी के पुनर्योजी चक्र: धान और गन्ने की सर्दियों की धरती के बारे में बात की थी। वसंत में सड़क आम के फूलों के साथ सोती है; भयंकर सूरज की गर्मी के नीचे, कीचड़ भरे गड्ढों में सूअर के साथ।

- Advertisement -
यह भी पढ़े :  सिवनी : बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना अंतर्गत ऑनलाईन चित्रकला प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं ने की सहभागिता

फिर “बारिश एक राजा की तरह प्रवेश करती है और कौन उस ठंडी हवा से पागल नहीं होता, जिसमें कदंब के पेड़ों की खुशबू भरी हुई हो? निर्वासन में कालीदास का यक्ष, अपने प्रेयसी के लिए विलाप करते हुए, एक गुज़रते हुए बादल से कहता है कि उसका संदेश उसकी प्रेमिका तक पहुंचा दे, उसका मेघदूत बन जाए।

यह भी पढ़े :  सिवनी : बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना अंतर्गत ऑनलाईन चित्रकला प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं ने की सहभागिता

चक्रीय समय सत्रों में रहते हुए जीवन के इतिहास में हमेशा मानव भावनात्मक परिदृश्य के लिए रूपक किया गया है। इस तरह, बारिश की पहली बूंद के लिए झुलसी धरती की तड़प, एक पूर्णत: स्पष्ट क्षण, प्यार और लालसा के मौसम इंद्रियों के एक नाजुक ब्रह्मांड बनाने के रूप में, मानव मन में एक कामुक गूंज पाई गई।

यदि तड़प एक विषय है, तो वही उत्सव भी है। तीज त्यौहार पर जब महिलाएं झूला झूलती हैं, तो वह कृष्ण राधा के प्रेम का उत्सव मनाती हैं। एक ब्रह्मासा चित्र में, दो प्रेमी एक छत पर काले आसमान के तले बैठे हैं, उसी पल भारी बारिश होने लगती है। पृथ्वी पहली बूँद से संतृप्त है। मंडावा, राजस्थान का दौरा करते समय अहमदाबाद के वास्तुकार के रूप में राजीव कथपालिआ ने एक मूसलधार बारिश के दौरान उसे समझा।

परनाल से बहता आया पानी, मुंडेर की पट्टी को प्यार से स्पर्श करती बारिश की बूंदें। “उस पल में

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Leave a Reply

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

10,744FansLike
7,044FollowersFollow
567FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

संसद में चर्चा से इन्कार करने वाले विपक्षी दल सड़क पर लोकतंत्र और संसदीय परंपराओं का हितैषी बता रहे

कोरोना संकट के कारण संसद का मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया, लेकिन यह उल्लेखनीय है...
यह भी पढ़े :  सिवनी : सोशल मीडिया को लेकर जारी प्रतिबंधात्मक आदेश अभी रहेगा लागू

इंदौर में संबल योजना के कार्यक्रम में बिना मास्क लगाए शामिल हुए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, पूछने पर दिया यह जवाब

इंदौर। मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के अंतर्गत बुधवार को रवींद्र नाट्यगृह में हुए कार्यक्रम में 35 हितग्राहियों को अनुग्रह राशि के प्रमाण पत्र दिए गए।...

Shweta Tiwari हुई कोरोना संक्रमित, Mere Dad Ki Dulhan सीरियल में इन दिनों कर रही हैं मेन लीड

जानी-मानी टीवी एक्‍ट्रेस Shweta Tiwari कोरोना संक्रमित हो गईं हैं। वह एक अक्टूबर तक होम क्वारंटाइन में रहेंगी। वे इन दिनों सोनी चैनल पर...

मध्य प्रदेश में 25 हजार खाली पदों पर जल्द शुरू होगी भर्ती

भोपाल। बेरोजगारों के लिए यह अच्छी खबर है। सरकार करीब 25 हजार रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज...

राफेल डील: कैग ने ऑफसेट करार को लेकर की दसॉल्ट और एमबीडीए की खिंचाई

नई दिल्लीः लड़ाकू विमान बनाने वाली फ्रांस की कंपनी दसॉ एविएशन और यूरोप की मिसाइल निर्माता कंपनी एमबीडीए ने 36 राफेल जेट की खरीद से...
x