khabar-satta-app
Home सिवनी सिवनी : गूंज महिला संस्था द्वारा किया गया रक्तदान शिविर का आयोजन

सिवनी : गूंज महिला संस्था द्वारा किया गया रक्तदान शिविर का आयोजन

सिवनी : जिले में महिलाओं को सशक्त बनाकर उन्हें सशक्त भारत निर्माण के लिये तैयार करने हेतु प्रयासरत संस्था गूंज द्वारा आज 8 जनवरी को सुबह 11 बजे से स्थानीय जिला चिकित्सालय में संचालित ब्लड बैंक परिसर में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। ज्ञात रहे कि उक्त संस्था महिलाओं द्वारा संचालित की जाती है, जिसका प्रमुख कार्य महावारी के दौरान स्वच्छता प्रबंधन पर महिलाओं को जागरूक करना है।

आज रक्तदान शिविर के पूर्व संस्थाओं की सदस्यों द्वारा स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण कर आयोजन की शुरूआत की गई, जहाँ समाचार लिखे जाने तक 18 युवक-युवतियों ने रक्तदान कर पुण्य कार्य किया। इस अवसर पर संस्था के साथ ही ऐ एस ओ इंडिया के युवाओं ने भी जीवन रक्षा से जुड़े इस नेक कार्य में अपना सहयोग करते हुये रक्तदान किया।

- Advertisement -

कहते हैं कि रक्तदान यानी महा दान। इससे न सिर्फ आप कई लोगों को नया जीवन दे सकते हैं बल्कि कई बीमारियों को दूर भी भगा सकते हैं। भारत में हर साल 1 करोड़ ब्लड यूनिट की जरूरत पड़ती है। सोचिए, अगर कोई ब्लड ही डोनेट न करे तो फिर इस ब्लड की भरपाई कहां से होगी? इसलिए रक्तदान बहुत जरूरी है। सिर्फ इसीलिए ही नहीं बल्कि इसके कई फायदे भी होते हैं।

  • हर 3 महीने में एक बार ब्लड डोनेट करना चाहिए। इससे में आयरन की मात्रा ठीक बनी रहती है और दिल की बीमारियां भी दूर रहती हैं।
  • ब्लड डोनेशन से आप लंबे वक्त तक जवां बने रहते हैं और स्ट्रोक व हार्ट अटैक से भी बचाव होता है।
  • डॉक्टरों के अनुसार, ब्लड डोनेट करने से शरीर में आयरन की मात्रा सही बनी रहती है। आयरन की अधिकता से लीवर टिशू का ऑक्सीडेशन होता है, जिससे वो डैमेज हो सकता है और आगे चलकर कैंसर बन सकता है। इसलिए नियमित रूप से ब्लड डोनेट करने से लीवर डैमेज व कैंसर का जोखिम भी कम होता है।
  • ब्लड डोनेशन से वजन घटाने में भी मदद मिलती है। एक बार ब्लड डोनेट करके 650-700 कैलरी घटा सकते हैं। कैलरी घटने से वजन भी कम होता है। लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि आप हर महीने ही ब्लड डोनेट करें। याद रखें कि 3 महीने में केवल एक बार ही रक्तदान करना चाहिए।
  • ब्लड डोनेशन से मानसिक संतुष्टि भी मिलती है क्योंकि आपके द्वारा डोनेट किए गए ब्लड से कम से कम 2-3 लोगों को नया जीवन दान मिलता है जिसे खुशी और मानसिक संतुष्टि का अहसास होता है।
  • ब्लड डोनेशन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है, जिसकी वजह से हमारा शरीर कई तरह की बीमारियों से लड़ने में सक्षम बनता है।

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

Leave a Reply

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,007FansLike
7,044FollowersFollow
789FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

सिंधिया ने मंच पर ही इमरती देवी को लगाया गले, बताया वे उनके लिए …

डबरा: मध्य प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी पर विवादित टिप्पणी को लेकर घमासान जारी है। इमरती...

छत्तीसगढ़ के CM ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, एथेनॉल उत्पादन की दर तय करने पर कहा- शुक्रिया

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर चावस से एथेनॉल उत्पादन  की दर 54. 87 रुपये/ प्रति लीटर तय करने के फैसले...

वायु प्रदूषण से फेफड़ों के साथ मानसिक बीमारियों का भी खतरा

वायु प्रदूषण का फेफड़ों पर तो सीधा असर पड़ता ही है, इससे मानसिक बीमारियों का भी खतरा रहता है। एक नए अध्ययन में यह...

पिता के निधन के बाद पहली बार पॉलिटिकल मोड में चिराग, विजन डॉक्‍युमेंट के साथ फिर CM नीतीश पर साधा निशाना

पटना।  बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) की कमान पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) के हाथों में...

कोरोना अपडेट: भारत में एक बार फिर 24 घंटे में आए 50,000 से अधिक संक्रमित मामले

देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) के सक्रिय मामलों में लगातार कमी हो रही है और अब इसकी संख्या घटकर 7.40 लाख पर आ गई...