CM कमलनाथ के लिए 65 करोड़ का नया विमान, वीडियो में देखिए कितना लग्जरी | MP NEWS

0
221

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की कमलनाथ (CM Kamalnath) सरकार को नया विमान (aircraft) खरीदने के लिए केंद्र के DGCA ने अनुमति दे दी है. प्रदेश सरकार अमेरिकी कंपनी से जल्द ही 65 करोड़ का 7 सीटों वाला विमान खरीदेगी.

भोपाल. केंद्र सरकार के डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) की मंजूरी मिलने के बाद अब मध्य प्रदेश की कमलनाथ (CM Kamalnath) सरकार नए विमान (aircraft) में सवार हो सकती है. डीजीसीए ने सरकार को नया विमान (Beechcraft King Air B-200GT) लाने की अनुमति दे दी है. इसके बाद सरकार (Kamalnath Government) ने खरीदी प्रक्रिया को तेज कर दिया है. नया विमान अमेरिकी कंपनी से खरीदा जाएगा. इसलिए खरीदी से पहले सरकार प्रदेश से चिह्नित अपने दो पायलट और दो मैकेनिक को अमेरिका की विमान निर्माता कंपनी के पास ट्रेनिंग के लिए भेजेगी.

पुराने विमान की हालत खराब
सरकार के पास मौजूदा स्टेट प्लेन बी-250 की हालत खस्ता है. इसलिए सरकार ने पुराने को बेचकर नया विमान खरीदने की प्रक्रिया शुरू की थी. यह विमान अमेरिका से आएगा. 7 सीट वाले विमान में दो अतिरिक्त सीटें भी हैं, जो फोल्डिंग रहेंगी, जिनका उपयोग बैठने के साथ-साथ सामान रखने में किया जा सकता है. पुराने विमान के रखरखाव में काफी खर्च हो रहा था. बताया गया कि इस पर अभी तक 10 से 12 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं. साथ ही इसके बार-बार खराब होने से निजी विमान किराए पर लेना पड़ता था. ऐसे में कई बार सीएम कमलनाथ को निजी विमान से यात्राएं करनी पड़ती थीं.

यह भी पढ़े :  Seoni : सिवनी में ओवरटेक करने पर बवाल, एक की मौत

65 करोड़ में आएगा नया विमान
नए विमान की कीमत 59 करोड़ है, लेकिन दूसरे खर्चे और टैक्स मिलाकर इसकी लागत 65 करोड़ रुपए आएगी. मप्र सरकार ने 17 दिसंबर 2019 को केंद्र सरकार के विमानन निदेशालय को पत्र लिखकर मंजूरी मांगी थी, जिस पर सहमति मिल गई है. इसके अलावा सरकार ने मौजूदा 17 साल पुराना विमान और दो हेलिकॉप्टर बेचने का भी निर्णय लिया है. आपको पूर्ववर्ती शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने भी विमान खरीदने की कोशिश की थी, लेकिन कंपनियों के रुचि न दिखाने पर टेंडर रद्द करना पड़ा था. इसी प्रक्रिया को कांग्रेस सरकार ने आगे बढ़ाया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.