अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने चीन पर एक्शन क्यों नहीं लिया? Trump के निशाने पर WHO

खास बातें : नवंबर में चीन में कोरोना का पहला मामला सामने आया,दिसंबर में डॉक्टरों ने बताया, सरकार ने एक्शन नहीं लिया, WHO को चीन ने कोरोना महामारी की सही जानकारी नहीं दी

Must Read

Coronavirus In Hollywood: हॉलीवुड पहुंचा कोरोना वायरस

Coronavirus In Hollywood: कोरोना वायरस का असर पूरी दुनिया पर पड़ रहा है।...

Holi के दिन Colour से बचने के लिए लोगों के अतरंगी जुगाड़, हंसी नहीं रोक पाओगे

Holi के दिन Colour से बचने के लिए लोगों के अतरंगी जुगाड़, हंसी नहीं रोक पाओगे

अजब गजब : यह शहर कहलाता है भारत का फ्रांस

अजब गजब : विश्व के नक्शे पर फ्रांस को देखकर अगर आपका...

क्या आप जानते है ? घड़ी के विज्ञापन में समय 10:10 ही क्यों रखा जाता है

चाहे वो रोलेक्स घडी हो या टाइटन सबके विज्ञापन में हमेशा समय...

खाने से पहले उसके चारों तरफ क्यों छिड़कते हैं पानी ! Did You Know ?

भारतीय परंपराओं का हमेशा से ही दुनिया में अलग स्थान रहा है, शायद...
- Advertisement -

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (corona virus) से दुनियाभर में अब तक 21 हजार लोग मारे जा चुके हैं. इस महासंकट से अब तक 196 देश प्रभावित हैं और करीब पौने पांच लाख लोग इससे संक्रमित हैं. इस बीच अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (World Health Organisation) पर निशाना साधा है. ट्रंप ने कहा कि डब्‍ल्‍यूएचओ (WHO) ने कोरोना वायरस संकट पर चीन (China) का ‘बहुत ज्‍यादा पक्ष’ लिया. अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा कि दुनियाभर में कई लोग डब्‍ल्‍यूएचओ के रवैये से नाखुश हैं और यह महसूस करते हैं कि ‘यह बहुत गलत हुआ.’ 

ट्रंप ने यह जवाब डब्‍ल्‍यूएचओ के चीन के तरफदारी करने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा. ट्रंप का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब डब्‍ल्‍यूएचओ के डायरेक्‍टर टेडरोस अधनोम चीन को लेकर दुनियाभर में कई लोगों के निशाने पर चल रहे हैं. 

नवंबर में वुहान में सामने आया था कोरोना वायरस का पहला केस 
चीन के वुहान में कोरोना वायरस का पहला मामला नवंबर में सामने आया था. तब वुहान के अस्पताल के डॉक्टर ली वेनलियांग ने पहली बार प्रशासन को इस वायरस के खतरे के बारे में आगाह किया था लेकिन डॉक्टर ली वेनलियांग को प्रशासन की ओर से धमकाया गया और यहां तक कि उन्हें पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया. मार्च के शुरुआती महीने में ली वेनलियांग की मौत भी हो गई, तब चीन की ओर से दावा किया गया कि डॉक्टर ली की मौत कोरोना वायरस के कारण हुई थी. हालांकि उनकी मौत को भी लेकर तरह-तरह के दावे किए गए. 

जनवरी में वुहान शहर में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने लगे. तब भी चीन ने हेल्थ इमरजेंसी लगाने से इंकार कर दिया था. चीन में कोरोना के कहर को देखते हुए कई देशों ने वुहान के लिए विमान सेवा रोक दी. इसके बाद भी चीन ने किसी तरह का लॉकडाउन नहीं किया. 23 जनवरी को चीन ने वुहान को लॉकडाउन किया, तब तब कोरोना वायरस के संक्रमण में आए 5 लाख लोग वुहान से अलग-अलग देशों की यात्राएं कर चुके थे. 

कोरोना को रोक पाने में WHO नाकाम रहा 
कोरोना वायरस के चीन में बढ़ते मामलों के बावजूद विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोई कदम नहीं उठाया गया. फरवरी बीत गया लेकिन WHO ने चीन को महामारी नहीं माना. मार्च महीने में जाकर WHO ने कोरोना को महामारी घोषित की. सवाल है कि इस दौरान जब कोरोना चीन में और दूसरे देशों में तेज़ी से फैल रहा था, तो WHO ने चीन के खिलाफ किसी तरह का एक्शन क्यों नहीं लिया. अगर WHO वक्त रहते कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर  देता और चीन पर एक्शन ले लेता तो कोरोना दुनिया के कई देशों में अपने पांव नहीं पसार पाता.

चीन की तारीफ पड़ी भारी, ट्रंप के निशाने पर WHO
WHO के इसी रवैये को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप भी सवाल खड़ा कर चुके हैं. ट्रंप ने सीधे-सीधे WHO पर चीन का पक्ष लेने का आरोप जड़ दिया. ट्रंप ने कहा कि दुनियाभर में कई लोग WHO के रवैये से नाखुश हैं और यह महसूस करते हैं कि ‘यह बहुत गलत हुआ.’ 

- Advertisement -

2 COMMENTS

  1. w.h.o. समझता है, चीन अभी सदमे में है ऐसा करने से शायद युद्ध ना छिड़ जाए
    जब तक कोरोनावायरस से निपटा नहीं जा सकता तब तक किसी भी देश मैं जुर्माना नहीं ठोका जाना चाहिए कोरोनावायरस को लेकर पहले कोरोनावायरस की दवा बनाई जाए उसके बाद चीन पर या किसी अन्य देश पर जुर्माना लगाया जाए। इस महामारी से पहले निपटना जरूरी है

    यहां वायरस मनुष्य की बॉडी में जाकर 1,2,4,16,32,64,128 इस तरह बढ़ रहा है हमें दवा भी सराही बनाना चाहिए कि वह मनुष्य की बॉडी में जाकर 1,2,4,16,32,64,128,256 हो सके।

  2. w.h.o. समझता है,चीन अभी सदमे में है ऐसा करने से शायद युद्ध ना छिड़ जाए।जब तक कोरोनावायरस से निपटा नहीं जा सकता, तब तक किसी भी देश मैं जुर्माना नहीं ठोका जाना चाहिए। कोरोनावायरस को लेकर पहले कोरोनावायरस की दवा बनाई जाए, उसके बाद चीन पर या किसी अन्य देश पर जुर्माना लगाया जाए। इस महामारी से पहले निपटना जरूरी है।यहां वायरस मनुष्य की बॉडी में जाकर 1,2,4,16,32,64,128 इस तरह बढ़ है इससे मनुष्य की मौत हो जाती हैं दवा भी इसी तरह बनाई जा सकती हैं कि वह मनुष्य की बॉडी में जाकर 1,2,4,16,32,64,128,256 होसके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

राष्ट्रपति पुतिन से मिले डॉ की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

कोरोना वायरस की चपेट में इस वक्त दुनिया की अधिकतर देश आ चुकी है। ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स...

लॉकडाउन के बीच बड़ी राहत, रसोई गैस हुई सस्ती

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चल रही मंदी का फायदा अब आम आदमी को मिलता दिख रहा है। प्राकृतिक गैस...

कोरोना: अमरनाथ यात्रा पर कोरोना का साया रजिस्ट्रेशन टला : Baba Amarnath Yatra 2020

जम्मू, देश भर में फैले कोरोना वायरस का साया वार्षिक अमरनाथ यात्रा पर भी पड़ता नजर आ रहा है। अप्रैल से शुरू होने...

सरकार ने कहा अचानक बढ़े कोरोना के मरीज, तबलीगी जमात के लोग है वजह

देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1700 से ज्यादा हो गया है. अब तक 54 लोगों की मौत हो चुकी है. इस...

जनता और प्रशासन के बीच बना रहे तालमेल चौकी प्रभारी- प्रदीप पांडे

सिवनी केवलारी (रवि चक्रवती) : जिले सहित पूरे देश में लॉकडाउन के चलते पलारी चौकी प्रभारी एस आई प्रदीप पांडे और स्टाफ...

Stay connected

4,879FansLike
6,469FollowersFollow
408FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

More Articles Like This