Home देश प्रणब मुखर्जी : जन्‍म से लेकर निधन तक नंबर 13 से प्रणब मुखर्जी का रहा खास नाता

प्रणब मुखर्जी : जन्‍म से लेकर निधन तक नंबर 13 से प्रणब मुखर्जी का रहा खास नाता

नई दिल्ली: 31 अगस्त सोमवार के दिन पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का निधन हो गया. ये खासा दिलचस्प है कि सभी को 13 नंबर भारी पड़ता है लेकिन उनको 13 का उलटा यानी 31 नंबर भारी पड़ गया. प्रणब मुखर्जी हमेशा से ही काफी प्रोफेशनल रहे. तमाम नेता जहां तारीखों और शुभ-अशुभ का ध्यान रखकर ही राजनीति में बड़े फैसले लेते हैं, वहीं हर साल चार दिन तक दुर्गा पूजा के भक्तिरस में तन्मयता से डूबने वाले प्रणब दा इस मामले में थोड़ा अलग थे.

दुनियाभर में अशुभ माना जाता है 13 नंबर
जिस 13 के नंबर को पूरी दुनिया अशुभ मानती है. दुनियाभर की बिल्डिंगों में 13 नंबर का फ्लोर या फ्लैट होता ही नहीं है, वहीं प्रणब मुखर्जी जिंदगी भर 13 नंबर के बंगले में रहे. उनका ये भी मानना था कि 13 नंबर बाहर के लिए अशुभ होगा लेकिन हिंदुओं में तो इसे शुभ माना जाता है. हालांकि लोगों को इसकी सही जानकारी नहीं है.

- Advertisement -

हिंदू धर्म में 13 नंबर को शुभ माना जाता है
गौरतलब है कि जिस तरह से हरिवंश राय बच्चन 13 नंबर को अशुभ ना मानकर शुभ मानते थे, प्रणब मुखर्जी का भी यही मानना था. हरिवंश राय बच्चन ने कई तरह की त्रयोदशी हिंदू धर्म में गिनवाई थीं. हिंदू धर्म में धनतेरस तक धूमधाम से मनाई जाती है. कई त्यौहार त्रयोदशी को ही होते हैं.

प्रणब मुखर्जी देश के 13वें राष्ट्रपति थे
बता दें कि प्रणब मुखर्जी देश के 13वें राष्ट्रपति थे. वो 76 साल की उम्र में राष्ट्रपति बने, 7 और 6 मिलकर 13 होता है. यूपीए ने 13 जून को प्रणब मुखर्जी के नाम पर सहमति की मोहर लगाई थी. जब पहली बार वो केंद्र में मंत्री बने थे तो उनसे पूछा गया था कि क्या वो 13, तालकटोरा रोड बंगले को लेने के लिए तैयार हैं? क्योंकि और कोई तैयार नहीं था. तब प्रणब दा ने उसे शुभ माना और 13 नंबर के बंगले में रहने के लिए राजी हो गए.

यह भी पढ़े :  कांग्रेस में खटपट की जंग हुई तेज, सिब्बल के खिलाफ मैदान में उतरे हाईकमान समर्थक नेता
- Advertisement -
यह भी पढ़े :  बंगाल में दीवाली के दिन आग लगने की दो घटनाएं, न्यू टाउन में 50 घरों में लगी आग

जब प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति बने तो उस चुनाव में उन्हें 7 लाख 13 हजार से कुछ ज्यादा वोट मिले थे. इतना ही नहीं संसद में जो कक्ष उन्हें आवंटित हुआ था, उसका नंबर भी 13 ही था. ऐसे में जब भी कोई 13 नंबर नहीं लेता तो ये मान लिया जाता था कि प्रणब मुखर्जी ले लेंगे क्योंकि 13 नंबर उनके लिए लकी था.

दिलचस्प बात ये है कि ऐसे किसी भी मकान या कक्ष के आवंटन में उनके घरवालों ने भी कभी ऐतराज नहीं जताया था. माना जाता है कि उनका विवाह 13 जुलाई 1957 को हुआ था. शायद इसीलिए उन्होंने 13 नंबर को अशुभ मानना बंद कर दिया था. लेकिन उनको क्या पता था कि 13 का उलटा 31 उनकी जिंदगी में काल बनकर आएगा. ये भी जान लीजिए कि हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन ने 13 अगस्त को ही ऐलान किया था कि वो डीप कोमा में चले गए हैं.

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,250FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

मास्क न पहनने पर ठेले वाले पर भड़के SDM, पानी मुंह पर फेंक निकाला गुस्सा

ग्वालियर: ग्वालियर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में प्रशासन ने भी सख्ती बरतना शुरू कर...
यह भी पढ़े :  कोरोना का असरः कर्नाटक में दिसंबर में नहीं खुलेंगे स्कूल

सोयाबीन से भरे ट्रैक्टर में पीछे से घुसा दूध वाहन, भीषण सड़क हादसे में तीन की मौत

इंदौर: इंदौर उज्जैन रोड़ धरमपुरी स्थित बायपास पर मंगलवार सुबह करीब 6 बजे बड़ा सड़क हादसा हो गया, जहा इंदौर से उज्जैन की ओर...

प्रदूषण से निपटने के लिए मध्य प्रदेश सरकार की अनोखी पहल, पराली से बनेगी बायोगैस

भोपाल: प्रदूषण का स्तर बढ़ाने में पराली का अहम भूमिका रहती है। हवा की गुणवत्ता को खराब होने के लिए पराली जलाने को जिम्मेदार...

MP के गृह मंत्री बोले- कमलनाथ ने मध्य प्रदेश को ऐसे लूटा जैसे मुहम्मद गजनवी ने भारत को लूटा था

भोपाल: मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार के स्थाई होने के बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा एक्शन में आ गए हैं। एक बार फिर से पूर्व...

MP सरकार का बड़ा फैसला, धार्मिक स्थलों पर नहीं फिल्माए जा सकेंगे डर्टी सीन, शूटिंग की होगी रिकॉर्ड

भोपाल: मध्य प्रदेश में नेटफ्लिक्स के वेब सीरीज के 'ए सूटेबल बॉय' को लेकर बवाल बढ़ता जा रहा है। सरकार भी इसे लेकर अब...
x