Home देश भारत को कोरोना वैक्सीन के पहले चरण में मिली कामयाबी, जानिये कब तक मिलेगी दवा

भारत को कोरोना वैक्सीन के पहले चरण में मिली कामयाबी, जानिये कब तक मिलेगी दवा

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Corona virus) के खिलाफ देश में तैयार की जा रही कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) का पहला चरण कामयाब हो गया है. इस चरण में 375 वॉलिंटियर्स को टीके लगाए गए और उन्हें कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हुआ. माना जा रहा है कि ट्रायल की यही रफ्तार रही तो अगले साल की शुरुआत में भारत कोरोना वैक्सीन तैयार कर सकता है. 

बता दें कि देश में भारत बायोटेक और आईसीएमआर मिलकर कोरोना वैक्सीन तैयार कर रहे हैं. ट्रायल के पहले चरण में 375 वॉलिंटियर्स को वैक्सीन की दो- दो डोज दी गई. यह चरण दिल्ली के एम्स समेत देश के 12 संस्थानों में किया गया. अभी तक के नतीजे बता रहे हैं कि किसी भी वॉलिंटियर्स को कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ है. अब वॉलिंटियर्स के ब्लड टेस्ट  किए जा रहे हैं. जिससे यह देखा जाए कि उन्हें कोई नुकसान तो नहीं हुआ है.

- Advertisement -

 वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल की शुरुआत सबसे पहले पटना एम्स से हुई. उसके बाद रोहतक के पीजीआई संस्थान में वैक्सीन के ट्रायल की प्रक्रिया शुरू की गई. इनमें सबसे ज्यादा वॉलिंटियर्स दिल्ली के एम्स में रजिस्टर किए गए. देश भर में कुल रजिस्टर्ड 375 में से 100 वॉलिंटियर्स दिल्ली एम्स में रजिस्टर्ड हैं. पहला चरण का ट्रायल पूरी तरह खत्म होने में अभी 20 से 30 दिन और लगेंगे. इसके बाद भारत बायोटेक और आईसीएमआर ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया से दूसरे चरण की मंजूरी लेंगे.

कोरोना वायरस की वैक्सीन के लिए कुल 1125 लोगों पर परीक्षण किए जाने हैं. पहले चरण के परीक्षण में 375 लोग शामिल है. किसी भी वैक्सीन के ट्रायल में पहला चरण सबसे अहम चरण माना जाता है. इसमें यह देखा जाएगा कि वैक्सीन के कोई साइड इफेक्ट तो नहीं हो रहे. साथ ही यह भी देखा जाता है कि वैक्सीन की कितनी डोज पर्याप्त रहेगी.

- Advertisement -
यह भी पढ़े :  Bhaidooj 2020: भाई दूज पर ऐसे करें पूजा? जानें क्या है शुभ मुहूर्त और इसका महत्व

वैक्सीन लगाने के बाद पीड़ित 2 घंटे तक अस्पताल में निरीक्षण में रहेगा. इसके बाद 28 दिन तक उसके साइड इफेक्ट देखे जाएंगे. साथ ही 3 महीने तक व्यक्ति का फॉलो अप चलेगा. दूसरे चरण में 700 से ज्यादा लोगों को रजिस्टर किया जाएगा. इस चरण में यह देखा जाएगा कि वैक्सीन लगाने पर शरीर में कितनी एंटीबॉडी तैयार हो रही है. आसान भाषा में इसे ऐसे समझिए कि वायरस के खिलाफ शरीर कितने हथियार तैयार कर पा रहा है. इसकी जांच दूसरे चरण में की जाएगी. इस ट्रायल में 12-65 वर्ष के लोगों को शामिल किया जाएगा.

यह भी पढ़े :  PDP के संस्थापक सदस्यों में शामिल मुजफ्फर हुसैन बेग ने पार्टी से नाता तोड़ा

तीसरे और आखिरी चरण में सबसे ज्यादा लोगों को वालंटियर के तौर पर रजिस्टर किया जाएगा तीसरे चरण में कितने लोग होंगे, यह संख्या अभी तय नहीं की गई है. इसी चरण में यह तय किया जाता है कि असल में वैक्सीन कितनी असरदार साबित हुई. फिलहाल की रफ्तार देखते हुए कहा जा रहा है कि भारत में बनने वाली वैक्सीन नए साल की शुरुआत में या 2021 की पहली तिमाही में तैयार हो सकती है. 

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,250FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

धूमधाम से मनाया गया साई जन्मउत्सव

केवलारी/खैरा पलारी(रवि चक्रवती): ग्राम के माता दिवाला मंदिर में श्री सत्य साईं बाबा का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया।...
यह भी पढ़े :  Gold-Silver Rate Today: सोने-चांदी की आज की कीमतों का ताजा अपडेट

कोरोना का असरः कर्नाटक में दिसंबर में नहीं खुलेंगे स्कूल

बेंगलुरुः कर्नाटक सरकार ने कोविड-19 की स्थिति के मद्देनजर दिसंबर में स्कूलों को नहीं खोलने का सोमवार को फैसला किया। स्कूलों को फिर से खोले...

कानपुर में ढही तीन मंजिला इमारत, कई लोगों के दबे होने की आशंका

कानपुर में सोमवार को तीन मंजिला इमारत ढहने से हड़कंप मच गया। बिल्डिंग के नीचे कई लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा...

पटरी पर लौट सकते हैं भारत-नेपाल के रिश्ते, काठमांडू जाएंगे विदेश सचिव

नई दिल्लीः भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला नेपाल की दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर बृहस्पतिवार को काठमांडो पहुंचेंगे। इस यात्रा के दौरान वह अपने...

धुंध ने रोकी दिल्ली की रफ्तार, जहरीली हवा से लोगों को सांस लेने में हो रही दिक्कत

देश की राष्ट्रीय राजधानी में आए दिन हालात बिगड़ रहे हैं। जहां एक और धुंध ने दिल्ली की रफ्तार रोक दी है तो वहीं...
x