Homeदेशदेश में लाइसेंस का इंतजार कर रहे पांच और टीके

देश में लाइसेंस का इंतजार कर रहे पांच और टीके

सरकार टीके की अनुमति देने में प्रभावशीलता और सुरक्षा के दो कारकों पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

- Advertisement -

कोरोना की दूसरी लहर के कारण देश में स्थिति वर्तमान में बिगड़ रही है और केंद्र सरकार को अक्टूबर तक कम से कम पांच और टीकों को मंजूरी देने की उम्मीद है। इस बीच, रूस के स्पूतनिक 5 वैक्सीन को अगले दस दिनों में अनुमोदित किया जाएगा। सरकार वर्तमान में उपलब्ध टीकों के उत्पादन को बढ़ाने का भी प्रयास करेगी।

वर्तमान में भारत में केवल दो टीके उपलब्ध हैं, कोविशिल्ड और कोवाक्सीन, और 2021 की तीसरी तिमाही में पांच और होने की उम्मीद है। स्पूतनिक5 वैक्सीन का निर्माण रेड्डी की प्रयोगशालाओं की मदद से किया जाएगा और जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन का निर्माण बिस्कुट ई से किया जाएगा।

- Advertisement -

 सीरम इंडिया वैक्सीन NovaVax का उत्पादन करेगा। Zydus Cadillac कंपनी Zykov-D वैक्सीन विकसित कर रही है। भारत एक बायोटेक वैक्सीन विकसित कर रहा है। सरकार इन टीकों की अनुमति देने में प्रभावकारिता और सुरक्षा के दो कारकों पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

ANI ने सूत्रों के हवाले से लिखा कि 2021 की तीसरी तिमाही तक पांच और टीके भारत में उपलब्‍ध हो जाएंगे। ये पांच वैक्‍सीन इस प्रकार हैं:

  • स्‍पतनिक वी वैक्‍सीन
  • जॉनसन ऐंड जॉनसन वैक्‍सीन
  • नोवावैक्‍स वैक्‍सीन
  • भारत बायोटेक की इंट्रानेजल वैक्‍सीन
  • जायडस कैडिला की वैक्‍सीन

रेड्डी प्रयोगशालाओं के अलावा, हेट्रो बायोफार्मा, ग्लैंड फार्मा, स्टेलिस बायोफार्मा और विक्रो बायोटेक 850 मिलियन यूनिट की उत्पादन क्षमता के साथ स्पूतनिक 5 वैक्सीन का उत्पादन करेंगे। स्पुतनिक वैक्सीन जून में बाजार में आने की उम्मीद है, जॉनसन एंड जॉनसन और ज़ाइडस कैडिला टीका अगस्त में, नोवावैक्‍स सितंबर तक और अक्‍टूबर तक भारत में उपलब्‍ध हो सकती है।

- Advertisement -

टीकों की प्रभावकारिता

फाइजर 95 प्रतिशत

- Advertisement -

आधुनिक 94 प्रतिशत

स्पुतनिक 92 प्रतिशत

नोवावैक्स 89 प्रतिशत

एस्ट्राजेनेका 70 प्रतिशत

जॉनसन एंड जॉनसन 66 प्रतिशत

सिनोवैक – 50 प्रतिशत

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group