Home सिवनी सिवनी का एक परिवार इंदौर में कर रहा आमरण अनशन, मप्र सेंट्रल ग्रामीण बैंक सिवनी के खिलाफ खोला मोर्चा

सिवनी का एक परिवार इंदौर में कर रहा आमरण अनशन, मप्र सेंट्रल ग्रामीण बैंक सिवनी के खिलाफ खोला मोर्चा

सिवनी संजीवनी समझौता योजना (Sanjeevni Samjhota Yojana) का लाभ नहीं मिलने से नाराज सिवनी (Seoni) की महिला उद्यमी दीपमाला ने परिवार सहित इंदौर (Indore) में सोमवार 2 नवंबर से आमरण अनशन शुरू कर दिया है। इंदौर (Indore) मप्र ग्रामीण बैंक मुख्यालय के सामने अनशन कर रही दीपमाला ने बताया कि मप्र ग्रामीण बैंक की सिवनी शाखा ने उसके साथ अन्याय किया है। महिला का कहना है कि बैंक ने जानबूझकर उन्हें कोरोना काल में लागू की गई संजीवनी समझौता योजना का लाभ नहीं दिया। इसके कारण उन्हें आर्थिक नुकसान हुआ है। न्याय की उम्मीद लेकर वह सिवनी (Seoni) से अपना काम छोड़कर परिवार सहित इंदौर पहुंची हैं। शाम को इंदौर (Indore) बैंक के कर्मचारियों ने अनशन स्थल पहुंचकर महिला की शिकायत का आवेदन लेकर कार्रवाई का भरोसा दिलाया था।

ऋण चुकाने पर छूट की है योजना

आमरण अनशन पर बैठी दीपमाला ने बताया कि मेरे ऋण खातों में लेजर बेलैंस 16 लाख 20 हजार रुपए बकाया था, जिसका भुगतान मैंने 3 सितंबर 2020 को किया। बैंक में 1 सितम्बर 2020 से संजीवनी समझौता योजना लागू है, इसके तहत कुल लेजर बैलेंस में 40 फीसद छूट का प्रावधान है। लेकिन बैंक ने इस योजना के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं दी। सिवनी के खैरीटेक में महिला बैटरी उत्पादन इकाई उद्योग का संचालन कर रहीं हैं।

- Advertisement -

बैंक वापस लौटाए रुपयेः महिला का आरोप है कि बैंक प्रबंधक ने जान बूझकर योजना का लाभ मुझे नहीं दिया है। दीपमाला की मांग है कि, इस योजना का लाभ देते हुए भुगतान की गई राशि में से 40 फीसद 6 लाख 48 हजार रुपये वापस लौटाए जाएं। मप्र ग्रामीण बैंक की सिवनी ब्रांच द्वारा किए गए अन्याय के खिलाफ वह अनशन पर बैठी हैं। महिला उद्यमी दीपमाला का कहना है कि, बैंक का मुख्यालय इंदौर में है। इसलिए वह इंदौर में बैंक आफिस के सामने अनशन कर रही हैं। यदि बैंक ने पैसे वापस नहीं किए तो वह न्याय पाने कोर्ट जाने के लिए मजबूर होंगी।

यह भी पढ़े :  सिवनी जिले में छपारा एवं केवलारी नगर परिषद गठित, मतदाता सूची बनाने का कार्यक्रम जारी
यह भी पढ़े :  सिवनी में भूकंप : सीएम शिवराज ने मांगी विस्तृत जानकारी

इनका कहना है
इससे सिविल रिपोर्ट खराब होने के कारण आगे बैंक ऋण लेने में परेशानी ना आए इसलिए महिला उद्यमी के पति विजय नंदन बकाया ऋण का भुगतान समझौते के तहत नहीं करना चाहते थे। महिला उद्यमी का खाता एनपीए हो चुका था। 3 सितंबर को बकाया ऋण राशि का भुगतान बैंक को किया गया है। संजीवनी समझौता योजना के आदेश 8 सितंबर को बैंक प्रबंधन को मिले हैं। इसलिए महिला को योजना का लाभ नहीं दिया जा सका है।
आरएन मिश्रा, जिला समन्वयक, मप्र सेंट्रल ग्रामीण बैंक सिवनी

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,261FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

संजय दत्त से कंगना रनौत ने की हैदराबाद में मुलाकात

हैदराबाद : कंगना रनौत एक पहेली हैं! एक ओर, उसने हाल ही में संजय दत्त की नशीली दवाओं की लत के...
यह भी पढ़े :  सिवनी कलेक्टर द्वारा जिले के क्रेशर संचालकों, डम्फर संचालकों से अप्रत्‍याशित परिस्थितियों में नागरिकों की जान -माल की सुरक्षा के लिए त्वरित राहत बचाव कार्य में सहयोग की अपील

कोरोना काल में MP के कड़कनाथ मुर्गे की बढ़ी मांग, शासन ने तैयार की कड़कनाथ पालन योजना

भोपाल , मध्यप्रदेश : कोरोना काल में प्रदेश के प्रसिद्ध कड़कनाथ की देश में बढ़ती माँग को देखते हुए राज्य शासन ने इसके उत्पादन...

नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना

भोपाल: मध्य प्रदेश के राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगाण करते नजर आ रहे...

नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण

भोपाल: प्रदेश की सियासत बहुत कुछ या यूं कहें, कि सबकुछ गंवाने के बाद भी कांग्रेस अपनी गलतियों से कोई सीख नहीं ले रही...

लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय

रांची। लालू प्रसाद यादव की जमानत पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान लालू के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सीबीआइ के जवाब...
x