Monday, March 8, 2021

Salmonella Outbreak : प्याज खाने से लोग हुए बीमार, क्या है सैल्मोनेला संक्रमण आइये जानते है?

Must read

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma
- Advertisement -

सैल्मोनेला संक्रमण (Salmonella Infection) का नया खतरा मंडरा रहा है। इस बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण यूएस (US) के लगभग 34 राज्यों में, 400 से ज्यादा लोग बीमार पड़ गए हैं, इसके साथ ही कई मामले कनाडा से भी सामने आ रहे हैं। वहीं इसे लेकर अब अमेरिकी की सबसे बड़ी स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) ने अलर्ट जारी किया है।

सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) ने लाल प्याज को इस साल्मोनेला संक्रमण से जोड़ा है। सीडीसी के अनुसार, 34 राज्यों में लगभग 400 लोग साल्मोनेला से संक्रमित हुए हैं, उन सभी में साल्मोनेला नामक बैक्टीरिया पाया गया है, जो आंतों को प्रभावित करता है। इस बैक्टीरिया के संपर्क में आने के छह घंटे से छह दिन बाद मरीज में दस्त, बुखार और पेट में ऐंठन जैसी परेशानियां होने लगती हैं, जो कई लोगों में गंभीर भी हो जाता है।

लाल प्याज के कारण फैल रहा है ये संक्रमण (Red onions linked to salmonella outbreak in US)

- Advertisement -

सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि ये संक्रमण संक्रमित लाल प्याज को खाने से फैल रहा है। सीडीसी के अनुसार, लाल, पीले, सफेद और मीठे पीले प्याज को खाने से ये साल्मोनेला बैक्टीरिया लगातार लोगों को बीमार कर रहा है। हालांकि सीडीसी प्याज से जुड़े साल्मोनेला संक्रमण के इस बहुस्तरीय प्रकोप की जांच कर रहा है, पर तब तक इसने खाद्य सुरक्षा चेतावनी जारी करते हुए लोगों को प्याज की लाल, सफेद, पीली और मीठी पीली किस्में को खाने, परोसना, बेचने और व्यापार करने से भी मना कर दिया है।

क्या है साल्मोनेला संक्रमण?

साल्मोनेला (Salmonella Bacteria) जीवाणुओं के एक समूह का नाम है, यह खाद्य-जनित बीमारी का सबसे सामान्य कारण होते है। साल्मोनेला कच्चे पोल्ट्री, अंडे, गौमांस, और कभी-कभी बिना धोये फल और सब्जियों में पाया जाता है। पशुओं, विशेष रूप से सांप, कछुए और छिपकलियां, छूने के बाद भी आप इससे संक्रमित हो सकते हैं। साल्मोनेला की वजह से होने वाला टाइफाइड बुखार नामक गंभीर रोग अमेरिका में सामान्य नहीं है। यह विकासशील देशों में ज्यादा होता है।

साल्मोनेला संक्रमण के लक्षण

- Advertisement -

आमतौर पर, साल्मोनेला संक्रमण वाले लोगों में कोई लक्षण नहीं होते हैं। हालांकि, अन्य लोगों को दस्त, बुखार, पेट में ऐंठन, मतली, उल्टी, सिरदर्द, मल में ब्लड आदि संक्रमण के विकसित होने के 8-72 घंटे के भीतर हो सकता है। लक्षण चार से सात दिनों तक रह सकते हैं, और अधिकांश लोग उपचार या एंटीबायोटिक दवाओं के बिना ठीक हो जाते हैं। गंभीर मामलों में, रोगियों को अस्पताल में भर्ती की आवश्यकता हो सकती है। 65 साल और उससे अधिक उम्र के वयस्कों, कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग जैसे कि एचआईवी संक्रमण या कीमोथेरेपी उपचार और पांच साल से कम उम्र के बच्चों को एक गंभीर बीमारी होने की अधिक संभावना है।

साल्मोनेला संक्रमण से बचने के उपाय

  • -कच्चे मांस आदि को खाने से बचें।
  • – जानवरों को छूने या संभालने के बाद साबुन और पानी से हाथ धोएं।
  • -कच्चे फलों और सब्जियों को अच्छे से धोएं और उन्हें छीले कर ही खाएं।
  • -अधपके अंडे, अधपके बीफ़, पोर्क या पोल्ट्री खाने से बचें।
  • -भोजन को ठीक से फ्रिज करें।
  • -कच्चे भोजन के साथ पका हुआ भोजन न मिलाएं या उन्हें तैयार करने के लिए उसी बर्तन का उवपयोग न करें।
यह भी पढ़े :  सिवनी विकास योजना 2035 (प्रारूप) प्रकाशित, जाने इस योजना की ख़ास बातें

गौरतलब है कि अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) का भी कहना है कि 34 अमेरिकी राज्यों में सैल्मोनेला का संक्रमण मूलत: लाल प्याज से जुड़ा हुआ है पर इस पर और गहराई से जांच की जाएगी। सीडीसी के मुताबिक, 19 जून से 11 जुलाई के बीच इसके शुरुआती मामले रिपोर्ट हुए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले बढ़े। हालांकि खबरों की मानें, तो सप्लायर एजेंसी थॉमसन इंटरनेशनल लाल, सफेद, पीली और मीठी प्याज वापस मंगाया गया है। उम्मीद करते हैं अमेरिका इस मुसीबत को जल्द ही कंट्रोल कर ले।

यह भी पढ़े :  सिवनी विधायक दिनेश राय के जन्मदिवस पर नेताजी विद्यालय में वाटर कूलर का शुभारंभ
- Advertisement -
- Advertisement -

More articles

Latest article