छः माह में काँग्रेस ने बदहाली की ओर ढकेला प्रदेश को!

0
82

भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेम तिवारी ने लगाये काँग्रेस सरकार पर आरोप

prem-tiwari

सिवनी । अपने पिछले छह माह के कार्यकाल में प्रदेश को बदहाली की तरफ धकेल कर मुख्यमंत्री कमल नाथ ने यह साबित कर दिया है कि नाकारापन और वादा खिलाफी काँग्रेस के डीएनए में शामिल है। 06 माह में काँग्रेस नाकामियों का नगाड़ा बजाकर यह भी प्रमाणित कर दिया है कि यह बंटाधार पार्ट – 02 सरकार है। जिसका जनहित से कोई सरोकार नहीं है।

उक्त आशय की बात भाजपा जिला अध्यक्ष प्रेम तिवारी द्वारा कमल नाथ सरकार के प्रदेश में 06 माह के कार्यकाल पूरे होने के अवसर पर काँग्रेस की नाकामियों को उजागर करते हुए कही गयी।

श्री तिवारी ने कहा कि 06 महीनों में कमल नाथ सरकार ने प्रदेश की जनता को छटी का दूध याद दिला दिया है। न बेरोजगार युवाओं को 04 हजार रूपए. भत्ता मिला है और न किसानों का कर्ज माफ हुआ है। प्रदेश में बिजली और कानून व्यवस्था पूरी तरह असफल हो गयी है। कमल नाथ सरकार ने अपने 06 महीनों में सिर्फ जनता को ठगने का काम किया है। यह सरकार हर मोर्चे पर पूरी तरह विफल साबित हुई है।

श्री तिवारी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जय किसान ऋण माफी योजना के बड़े – बड़े विज्ञापन देकर यह स्वीकार कर लिया है कि इन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से 10 दिन में सारे किसानों का कर्ज माफ करने का झूठ बुलवाया था। अपने घोषणा पत्र में काँग्रेस ने कहा था कि हर किसान का 02 लाख रूपए तक का कर्जमाफ करेंगे, लेकिन आज तक किसी भी किसान का 2 लाख रू. तक का कर्ज माफ नहीं हुआ। सरकार ने सिर्फ 05 हजार, 10 हजार और 15 हजार तक के ऋण माफ कर झूठी वाहवाही लूटने का काम किया है।

श्री तिवारी ने कहा कि कमल नाथ सरकार किसानों को भी टोपी पहनाने से भी नहीं चूकी है। प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से लाभान्वित होने वाले 80 हजार किसानों में से सिर्फ 43 हजार किसानों की सूची ही केन्द्र सरकार को भेजी है। सरकार के इस रवैये से योजना से 50 प्रतिशत किसान लाभ से वंचित रह जायेंगे। पिछले दिनों किसान द्वारा की गयी आत्महत्या की घटनाओं का हवाला देते हुए श्री तिवारी ने कहा कि सरकार की नीतियों से और झूठी कर्जमाफी से प्रदेश का किसान परेशान है और आत्महत्या करने के लिये मजबूर हुआ है।

श्री तिवारी ने कहा कि जब से प्रदेश सरकार बनी है प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयी है। लॉ एण्ड आर्डर बिगड़ चुका है। अधिकारियों के लगातार हो रहे तबादलों से अविश्वास का भाव पैदा हुआ है। पुलिस अधिकारियों को स्वयं यह पता नहीं होता कि सुबह जिस जगह उनका तबादला हुआ है वे शाम तक उस जगह बने रहेंगे या नहीं। मंत्री से लेकिर संत्री हर वर्ग में अनिश्चितता का माहौल है। प्रदेश की बिगड़ती व्यवस्था के लिये मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनकी सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है।

भाजपा मीडिया प्रभारी श्रीकांत अग्रवाल द्वारा जारी विज्ञप्ति में श्री तिवारी ने आरोप लगाया कि मुख्य मंत्री कमल नाथ अपनी सरकार बचाने के लिये जोड़-तोड़ में व्यस्त हैं। पूरी सरकार अंतर कलह है से जूझ रही है। सब एक दूसरे की टांग खींच रहे हैं जबकि हकीकत में प्रदेश की जनता बिजली और पानी तक के लिये परेशान है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.