Thursday, December 8, 2022
HomeसिवनीEarthquake In Seoni: भूकंप के झटके से भरभरा कर गिरी छत, क्षतिग्रस्त...

Earthquake In Seoni: भूकंप के झटके से भरभरा कर गिरी छत, क्षतिग्रस्त समान; दहशत में लोग

Earthquake In Seoni: Earthquake tremors collapsed roof, damaged structures; people in panic

- Advertisement -

सिवनी। इन दिनों शहर के कबीर वार्ड, टैगोर वार्ड, महावीर वार्ड क्षेत्र में आए दिन भूकंप के झटकों से रहवासी परेशान हैं। दशहरे के दिन बुधवार को सुबह से शाम तक 5-6 झटको से नागरिकों में जहां दहशत बनी रही वहीं डूंडासिवनी निवासी कुछ घरों को काफी क्षति पहुंची। कबीर वार्ड स्थित रामनगर डूंडासिवनी निवासी गोपाल उर्फ गोपी तिवारी के घर में लगी फाल्स सीलिंग भरभरा कर नीचे गिर गई।

बुधवार दोपहर लगभग 2:30 बजे जोरदार कंपन से जिस वक्त सीलिंग गिरी उसके कुछ क्षण पहले ही उक्त कमरे में गोपी के 1 पुत्र व एक पुत्री वहां खेल रहे थे। वह कुछ मिनट पहले ही घर के सामने रहने वाली सकुन चौधरी के घर गए थे तथा गोपी की पत्नी अभिलाषा तिवारी रसोई में थी। व गोपी घर के बाहर खड़े थे।

- Advertisement -

जिसके चलते घर के सदस्य बाल-बाल बच गए।वहीं उन्होंने बताया कि पिछले दो-तीन सालों से इस क्षेत्र में हल्के झटके लगातार आ रहे हैं। बुधवार को सबसे पहले सुबह लगभग 9:33 बजे जमीन में कंपन हुआ। हालांकि यह कंपन कम तीव्रता का था।

इसके बाद तीन चार झटके और आए वही दोपहर लगभग 2:30 बजे जमीन में आया कंपन काफी तेज था। जोरदार झटका आते ही आसपास के रहवासी अपने-अपने घरों के बाहर निकल गए थे। उसी समय गोपी तिवारी के घर के हाल की छत में लगाई गई फाल्स सीलिंग भरभरा कर नीचे फर्श में गिर गई। सीलिंग गिरते ही अफरातफरी मच गई।

खंभे से की गई लाइट बंद – 

सीलिंग गिरते ही छत में लगा सीलिंग फेन की पंखुड़ियां मुड़ गई। वहीं लाइट के तार टूट कर खुले में लटकने लगे। सीलिंग को कसने के लिए लगाई गई एलमुनियम की पट्टी में बिजली के करंट होने और करंट से कोई घटना ना हो इसके लिए आसपास के लोगों ने घर की लाइट बंद कराने बिजली कार्यालय को फोन कर सूचना दी। लाइनमेन ने बिजली के खंभे से घर की लाइट के प्रवाह को बंद किया।

टीवी, बल्ब, सोफासेट छतिग्रस्त – 

फाल्स सीलिंग गिरते ही कमरे में रखी टीवी, लाइट, सोफा, पेटी, साउंड बॉक्स व अन्य सामान क्षतिग्रस्त हो गए। वहीं उन्होंने बताया कि लगभग 4 साल पहले सीलिंग व आकर्षक लाइट लगाया गया था। इसके टूटने व अन्य सामग्री का हुए नुकसान की कीमत लगभग 50 हजार बताई जा रही है।

टूटा लेंटर –

बुधवार को दोपहर जोड़ जोरदार कंपन से जहां आसपास के कई घरों में दरारें आई हैं वही डूंडासिवनी क्षेत्र निवासी महेश सोनवाने के घर का लेंटर का कुछ हिस्सा भी टूट गया। इमला सोनवाने ने बताया कि लेंटर का हिस्सा टूटने पर जहां मकान को क्षति पहुंची वहीं उसी स्थान पर कोई मौजूद नहीं था नहीं तो कोई बड़ी दुर्घटना से इनकार नहीं किया जा सकता था। जिस घर की फाल्स सीलिंग टूट कर फर्श में गिरी वहां की टाइल्स भी क्षतिग्रस्त हो गई है।

बाहर निकल गुजारते हैं रात – 

क्षेत्रवासियों में वर्षा पोहेकर, कमला खूपसे, नितिन राव, शगुन चौधरी, इक्क्षा तिवारी, विधान, टीना चौधरी, इमला आदि ने बताया कि जिस दिन शाम व रात को भूकंप आता है उस रात अधिकांश घरों के लोग दहशत में घर के बाहर खुले क्षेत्र में दहशत के साए में रात गुजारते हैं। पूरी रात जागरण में गुजारते हैं। बार-बार कंपन से नागरिकों में भय का वातावरण बना हुआ है।

बारिश के दिनों में ज्यादा कंपन –

क्षेत्रवासियों ने बताया कि बारिश के दिनों में ज्यादा कंपन हो रहा है। कबीर वार्डवासियों ने बताया कि आसपास चुना मिट्टी होने के कारण बारिश में पानी के संपर्क में आने से चुना मिट्टी में गैस बनती है और यह गैस जमीन की कमजोर स्थान से निकलती है जिसके कारण इन क्षेत्रों में कंपन ज्यादा हो रहे हैं।

भूगर्भ वैज्ञानिकों का आया था दल – 

इससे पहले भी कुछ साल पहले इन इलाकों में भूकंप के झटकों की जांच के लिए भूगर्भ वैज्ञानिकों का एक दल कबीर वार्ड, चुना भट्टी, छिड़िया पलारी क्षेत्र का भ्रमण कर जांच कर चुकी है। इसके लिए कलेक्टर ने उच्चाधिकारियों को पत्र भी लिखा था। इस मामले में आसपास लगे क्रेशर में पत्थरों की तुड़ाई के लिए ही जाने वाले विस्फोटकों का कारण भी लोग मान रहे थे। वही जमीन की निचली परतो में चुना मिट्टी का होना और बारिश में पानी के संपर्क से गैस बनने के चलते कंपन आने की बातें भी सामने आ चुकी हैं। फिलहाल कबीर वार्ड, टैगोर वार्ड, महावीर वार्ड सहित आसपास के अन्य वार्डों में रह रहे नागरिकों ने भी इन इलाकों में आए दिन हो रहे कंपन की बात बताई है। वही लोगों का कहना है कि यह कंपन सलगभग 2 से 3 रिक्टर स्केल का आता है, लेकिन कभी-कभी जोर का झटका महसूस होता है। साथ ही दूसरे और तीसरे मंजिल में रहने वाले लोग ज्यादा कंपन महसूस करते हैं। आए दिन हो रहे कंपन से लोगों में भय का वातावरण भी निर्मित हो रहा है। साथ ही मकान कमजोर होने की बात नागरिकों द्वारा बताई जा रही है।

जलजमाव व कम्पन से मकान हो रहे कमजोर –

इसके साथ ही कबीर वार्ड डूंडासिवनी क्षेत्र स्थित रामनगर क्षेत्र के निवासियों ने बताया कि रामनगर कॉलोनी में घरों के सामने नाली भी नहीं है जिसके कारण घरों से निकलने वाला पानी भी सड़कों में व घर के आस-पास ही जमा रहता है। जिसके कारण जहां आए दिन वाद-विवाद हो रहे हैं।

वहीं जलजमाव के कारण मकान की नींव व दीवारें भी कमजोर हो रही हैं। ऐसे में आए दिन भूकंप के झटके से व नमी युक्त स्थान में बने मकानों के चलते मकान कमजोर हो रहे हैं।

वहीं वार्डवासियों ने रामनगर डूंडासिवनी इलाके में पक्की नालियां व पक्की सड़कें बनाए जाने की भी मांग नगरपालिका अधिकारियों से की है। वहीं उन्होंने बताया कि इस मामले की शिकायत कई बार सीएम हेल्पलाइन में भी की जा चुकी है लेकिन इस और कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharmahttps://shubham.khabarsatta.com
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments