khabar-satta-app
Home मध्य प्रदेश स्कूलों में दीवाली की छुट्टी अब 24 दिन की होगी: MP SCHOOL DIWALI VACATION

स्कूलों में दीवाली की छुट्टी अब 24 दिन की होगी: MP SCHOOL DIWALI VACATION

MP SCHOOL DIWALI VACATION

MP SCHOOL DIWALI VACATION

भोपाल। प्रदेश के स्कूलों में अब अवकाश (VACATION DAYS) के दिन जल्द बढ़ने वाले हैं। कुछ सालों पहले जैसे दशहरे से दीवाली तक (DUSSEHRA TO DIWALI) 24 दिनों की छुट्टियाँ (24 DAYS VACATION) एक साथ होती थीं, उसी तर्ज पर अब स्कूलों में छुट्टियाँ होंगी। मध्य प्रदेश विधानसभा (VIDHANSABHA) में विधायकों ने इस पर अपनी प्रारंभिक स्वीकृति भी दे दी है।

स्कूल शिक्षा विभाग (SCHOOL EDUCATION DEPARTMENT) से मत लेने के बाद अवकाश की प्रक्रिया पर आगे काम किया जाएगा। संभावना यही है कि अब 24 दिनों की छुट्टियाँ स्कूलों में रहेंगी।अपडेट: 15 जुलाई मंगलवार को विधानसभा में यह प्रस्ताव सर्वसम्मति से मंजूर कर लिया गया।

विधायक संजय यादव ने प्रस्ताव रखा था

- Advertisement -

अशासकीय संकल्प में बरगी विधायक संजय यादव ने विधानसभा में यह प्रस्ताव रखा, जिसमें उन्होंने कहा कि हमारे समाज में लोगों का जुड़ाव कम हो रहा है। हमारे जो तीज-त्यौहार हैं, संस्कृति है, उससे भावी पीढ़ी दूर जा रही है। पढ़ाई तो एक बोझ की तरह हो गई है, जिससे थोड़े दिन के अवकाश से त्यौहारों का सही आनंद बच्चे नहीं ले पाते हैं। कई लिहाज से यह सही नहीं है और इसमें बढ़ोत्तरी के साथ बदलाव की जरूरत है।

इस तरह के बदलाव से बच्चों का जुड़ाव बेहतर हो सकता है। बच्चों की पढ़ाई पर वैकेशन वाले दिनों का असर न हो, शैक्षणिक कैलेण्डर इस अंदाज में तैयार किया जा सकता है। इस प्रस्ताव को सदन ने स्वीकार कर लिया। सदन के द्वारा प्रस्ताव स्वीकार करने के बाद स्कूल शिक्षा विभाग से इस पर अपना मत आगे लेकर अंतिम निर्णय की दिशा में बढ़ाया जाएगा। गौरतलब है कि अभी स्कूलों में दशहरे के समय 3 दिनों का अवकाश रहता है। इसी तरह दीवाली के समय भी 5 दिवसीय अवकाश होता है। होली के समय तीन दिन की छुट्टियाँ और इसी तरह अवकाश का कैलेंडर है।

त्यौहारी छुट्टी के तुरंत बाद कोई परीक्षा नहीं होगी

- Advertisement -

दीवाली, दशहरा में अवकाश दिवस बढ़ाने के अलावा यह भी प्रस्ताव दिया गया है कि होली जैसे त्यौहार के बाद कोई भी परीक्षा तुरंत नहीं होनी चाहिए। होली के बाद बच्चों को पेपर की तैयारी करने के लिए कम से कम एक सप्ताह का वक्त मिलना चाहिए।

इससे न केवल मानसिक दबाव कम होगा, बल्कि इससे परिणाम भी भविष्य में बेहतर आ सकते हैं। विधायकों का इस तरह के प्रस्ताव में मानना भी है कि यदि मध्य प्रदेश सरकार इसको स्वीकार करती है, तो सीबीएसई में इसी तरह की वैकेशन प्रणाली लागू की जा सकती है, जो पूरे देश के छात्रों के लिए हितकारी होगी। वैकेशन पीरियड बढ़ाने को लेकर कई तरह के तर्क दिए गए हैं।

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,007FansLike
7,044FollowersFollow
792FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

सिवनी: अवैध रूप से संचालित फैक्ट्री को किया गया सील

सिवनी: खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम के अंतर्गत अमानक खाद्य पदार्थों के विक्रय करने वाले प्रतिष्ठानों पर...

Aashram Season 2 Download: आश्रम सीजन 2 वेब सीरीज डाउनलोड

Aashram Season 2 Download: आश्रम सीजन 2 वेब सीरीज डाउनलोड HD Quality : Ashram Season 2 Web Series Download करने के लिए...

बिहार चुनाव में हुई पाकिस्‍तान की एंट्री, योगी ने कहा- मोदी ने खराब कर दी है इमरान खान की नींद

मोतिहारी। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कांग्रेस ने कश्मीर में शेष भारतीयों के लिए जो अधिकार छीना था उसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र...

संकल्प पत्र पर बोली कांग्रेस- सिंधिया को कांग्रेस का दुल्हा बताने वाली BJP खुद बाराती भी नहीं बना रही है

भोपाल: विधानसभा उपचुनाव के लिए बीजेपी ने चुनावी रणनीति के तहत 28 अक्टूबर को एक साथ पूरे 28 विधानसभा में संकल्प पत्र जारी किया।...

दिग्विजय का सिंधिया से सवाल- राज्यसभा सांसद तो कांग्रेस भी बनाती थी फिर दुश्मन के सामने क्यों झुके

अशोकनगर: विधानसभा उपचुनाव के मद्देनजर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह दो दिवसीय दौरे पर अशोकनगर के मुंगावली पहुंचे। वहां नुक्कड़ सभा में सीएम शिवराज सिंह चौहान...