khabar-satta-app
Home मध्य प्रदेश कोरोना : अंतिम सांस तक याकूब ने निभाई दोस्ती, अंतिम सांसों तक दिया अमृत का साथ

कोरोना : अंतिम सांस तक याकूब ने निभाई दोस्ती, अंतिम सांसों तक दिया अमृत का साथ

शिवपुरी: कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच लोग अपने घर पहुंचने की जद्दोजहद में हैं. रोजाना हजारों-लाखों की भीड़ सड़कों पर इस उम्मीद से दिख रही है कि वे एक दिन अपने गांव पहुंच जाएंगे. ऐसे में एक तस्वीर शिवपुरी से आई है. जहां एक दोस्त ने मरते दम तक अपने दोस्त का साथ नहीं छोड़ा. यह तस्वीर बताती है कि इंसानियत और दोस्ती का रिश्ता आज भी सबसे ऊपर है. याकूब ने अपने दोस्त के लिए इंसानियत की मिसाल पेश की है. इस पूरे वाकिये को पढ़ आप भी एक बार सोचने पर मजबूर हो जाएंगे. 

दरअसल, कोरोना संदिग्ध 24 वर्षीय अमृत गुजरात के सूरत से यूपी के बस्ती जिला स्थित अपने घर एक ट्रक से लौट रहा था. उस ट्रक में कई और लोग सवार थे. ट्रक जब मध्य प्रदेश के शिवपुरी-झांसी फोरलेन से गुजर रहा था, तभी अमृत की तबियत बिगड़ने लगी.

- Advertisement -

ट्रक में सवार लोगों को लगा कि अमृत को कोरोना हो गया है, इसलिए डरकर लोगों ने उसे ट्रक से उतरवाने का फैसला किया. लोगों ने अमृत को ट्रक से उतार दिया और आगे बढ़ गए लेकिन इन सबके बीच याकूब मोहम्मद भी ट्रक से उतर गया. उसने अपने दोस्त अमृत के साथ रहने का फैसला किया. इधर अमृत की तबियत लगातार बिगड़ते जा रही थी तो याकूब ने उसका सिर अपनी गोद में रख लिया और मदद की आस में बैठा रहा है. याकूब अमृत की सलामती की दुआ करता रहा. 

किसी तरह शाम तक अमृत को जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया.अस्पताल पहुंचने तक याकूब ने अमृत का साथ नहीं छोड़ा था और उसे बचा लेने का ढांढस बंधाता रहा था, लेकिन खुदी को कुछ ही पसंद था. अव्यवस्था, बेबसी और इलाज में देरी से अमृत की तो मौत हो गई लेकिन इंसानियत की एक मिसाल जरूर देखने को मिल गई. इस घटना ने बता दिया कि भाईचारा अब भी कायम है. 

- Advertisement -

जिला अस्पताल में मौजूद याकूब मोहम्मद (23) पुत्र मोहम्मद युनुस ने बताया कि हम दोनों गुजरात के सूरत स्थित फैक्ट्री में मशीन से कपड़ा बुनने का काम करते थे. लॉकडाउन की वजह से सूरत से ट्रक में 4-4 हजार रुपये किराया देकर नासिक, इंदौर होते हुए कानपुर जा रहे थे.

सफर के दौरान अचानक अमृत की तबियत बिगड़ गई थी. अमृत को तेज बुखार आया और उल्टी जैसी स्थित बनने लगी, हालांकि उल्टी नहीं हुई. ट्रक में बैठे 55-60 लोग विरोध करने लगे और अमृत को उतारने की जिद करने लगे. ट्रक वाले ने अमृत को उतार दिया तो अमृत का ख्याल रखने के लिए मैं भी उतर गया था. 

- Advertisement -

जिला अस्पताल सिविल सर्जन सिविल सर्जन डॉ. पीके खरे ने बताया है कि उक्त युवक और उसके एक साथी का कोरोना टेस्ट कराया गया है रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है. प्रशासन को उनकी रिपोर्ट का इंतजार है. अमृत की बॉडी अस्पताल में है. 

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,007FansLike
7,044FollowersFollow
795FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

Portronics भारत में लेकर आया ब्लूटूथ रिसीवर और ट्रांसमीटर एडाप्टर, जानें कीमत और फीचर्स

नई दिल्ली। डिजिटल एवं पोर्टेबल कन्ज़्यूमर इलेक्ट्रोनिक्स मार्केट के दिग्गज Portronics ने भारतीय मार्केट में 'Auto 14' ब्लूटूथ रिसीवर एवं...

स्टीव स्मिथ ने पंजाब के खिलाफ जीत के बाद कहा- हम सही समय पर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं

अबुधाबी। राजस्थान रॉयल्स ने आइपीएल के 13वें सीजन के 50वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जीत दर्ज की और प्लेऑफ में इस...

IPL 2020: दिल्ली की बल्लेबाजी लगा पहला झटका, शिखर धवन बगैर खाता खोले आउट

नई दिल्ली।  इंडियन प्रीमियर लीग 2020 (IPL 2020) का 51वां मुकाबला दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला...

EC के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस, तन्खा बोले- चुनाव आयोग दबाव में कर रहा काम

इंदौर: पूर्व सीएम कमलनाथ को स्टार प्रचारक की सूची से हटाने पर मध्य प्रदेश कांग्रेस नेताओं का गुस्सा चर्म पर हैं। चुनाव आयोग के...

5 किलो 100 ग्राम गांजे के साथ दो आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

रतलाम: रतलाम की जावरा पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है।  मादक प्रदार्थो की तस्करी करने वालों की धर...