Home » मध्य प्रदेश » मध्यप्रदेश की 1170 सर्वसुविधायुक्त गोशालाओं में पल रहा 1 लाख 3 हजार गोवंश – MP NEWS

मध्यप्रदेश की 1170 सर्वसुविधायुक्त गोशालाओं में पल रहा 1 लाख 3 हजार गोवंश – MP NEWS

By SHUBHAM SHARMA

Updated on:

Follow Us
GauShala

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

गो-संवर्धन बोर्ड के उपाध्यक्ष स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरी ने बताया है कि मुख्यमंत्री गोसेवा योजना में अब तक पंजीकृत 1170 गोशालाएँ में एक लाख 3 हजार गोवंश का पालन किया जा रहा है।

योजना में निर्मित सभी गोशालाएँ सर्वसुविधायुक्त हैं। इनमें गायों के शेड के साथ बछड़ों के लिए अलग-अलग शेड की व्यवस्था की गई है। बीमार गोवंश को सुविधायुक्त वातावरण में रखा जाता है।

गोशालाओं में चारा काटने की मशीन, ओवरहेड टैंक, सबमर्सिबल पंप और बोर के लिए एक लाख 60 हजार रूपये प्रति गोशाला के मान से सभी गोशालाओं को अनुदान भी दिया गया है।

वर्ष 2022-23 में प्रदेश की 1797 शासकीय और अशासकीय गोशालाओं के गोवंश के लिए 202 करोड़ 33 लाख की राशि जिला गोपालन एवं पशुधन संवर्धन समितियों के माध्यम से प्रदाय की गई।

गोशालाओं के विद्युतीकरण पर 30 करोड़ 23 लाख से अधिक खर्च

सभी निर्मित गोशालाओं में संबंधित विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा 30 करोड़ 23 लाख 38 हजार की लागत से विद्युतीकरण का कार्य पूरा कराया जा चुका है। गोवंश के चारे-भूसे की व्यवस्था के लिए प्रत्येक गोशाला के साथ 5 एकड़ का चारागाह भी निर्मित कराया गया है। चारागाह मनरेगा के माध्यम से संचालित है।

363 पंचायतों में गोशाला निर्माण जारी

प्रदेश की लगभग 3 लाख निराश्रित गोवंश को आश्रय देने के लिए आरंभ मुख्यमंत्री गोसेवा योजना में गोशालाओं का निर्माण सतत जारी है। अन्य 363 पंचायतों में गोशालाओं के अधो-संरचना का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है। पंचायतों द्वारा विद्युतीकरण कार्य पूर्ण करने के बाद इन गोशालाओं का संचालन प्रारंभ हो जाएगा।

अशासकीय 627 गोशालाओं में एक लाख 87 हजार गोवंश का पोषण

शासकीय गोशालाओं के अलावा स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा 627 गोशालाओं में एक लाख 87 हजार गोवंश की देखभाल की जा रही है। इस प्रकार प्रदेश की कुल 1797 गोशालाओं में 2 लाख 90 हजार गोवंश का पालन किया जा रहा है।

गोशालाओं के चारे-भूसे की अनुदान राशि 20 से बढ़कर 100 करोड़

मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड द्वारा वर्ष 2023-24 में गोशालाओं के चारे-भूसे के लिए अनुदान राशि 20 करोड़ से बढ़ाकर 100 करोड़ के बजट का प्रावधान किया गया है।

इसके अलावा राज्य शासन द्वारा भी बजट में गोशालाओं के लिए 90 करोड़ का प्रावधान किया गया है। रीवा, सतना, ग्वालियर, दमोह, देवास और आगर आदि गोशालाओं में बायोगैस संयंत्र भी स्थापित किये जा रहे है। इनसे गैस, बिजली उत्पादन के साथ उन्नत गुणवत्ता की जैविक खाद भी प्राप्त होगी।

राज्य शासन द्वारा नरवाई से भूसा बनाने के लिए 49 गोशालाओं को स्ट्रा रीपर स्वीकृत किये गये हैं इनमें से 34 गौशालाओं को स्ट्रा रीपर प्रदाय किये जा चुके हैं। गो-संरक्षण और संवर्धन शासन की प्राथमिकताओं में शामिल है।

SHUBHAM SHARMA

Khabar Satta:- Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.

Leave a Comment