जेल में भाई की हत्या की दी धमकी, तो गुस्से में कैदी ने किया जानलेवा हमला

0
71

पुरानी रंजिश के चलते भोपाल सेंट्रल जेल में बुधवार की सुबह एक कैदी ने दूसरे कैदी पर चाकू से जानलेवा हमला कर दिया।
भोपाल .पुरानी रंजिश के चलते भोपाल सेंट्रल जेल में बुधवार की सुबह एक कैदी ने दूसरे कैदी पर चाकू से जानलेवा हमला कर दिया। आरोपी ने कैदी पर उस समय हमला किया, जब वह किराना गोदाम में गेहूं साफ कर रहा था। आरोपी भी वहीं पास में ही चाकू से सब्जी काट रहा था। जिस कैदी पर हमला किया गया उसने हमलावर के मौसेरे भाई की हत्या की थी। पुलिस आरोपी के खिलाफ हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है। दोनों ही कैदी हत्या के दो अलग अलग मामलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं।
क्या है मामला…
– गांधी नगर पुलिस के मुताबिक बाड़ी बरेली निवासी सुप्यार सिंह बुधवार सुबह गेहूं गोदाम में अन्य बंदियों के साथ सब्जी काट रहा था।

– वहीं पास में बाड़ी बरेली निवासी मोदक सिंह भी गेहूं साफ कर रहा था। गोदाम में करीब 50 बंदी काम कर रहे थे।

– उन पर नजर रखने के लिए वहां एक प्रहरी तैनात था। करीब 10 बजे सुप्यार सिंह ने मोदक पर चाकू से हमला कर दिया।

– बंदी और जेल प्रहरी मोदक को बचाने पहुंचे। सुप्यार ने प्रहरी को धमकी दी कि रास्ते में आए तो तुमको भी मार दूंगा।

यह भी पढ़े :  महत्वपूर्ण जानकारी : मध्यप्रदेश में अब पुलिस के अलावा फायर ब्रिगेड के लिये भी होगा ये नंबर, सेव कर लें

– चार-पांच बंदियों ने सुप्यार को काबू में कर उसके हाथ से चाकू छीना। मोदक के चेहरे पर पांच घाव हैं। गंभीर हालत में उसे तत्काल हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

तीन हत्याएं और एक हत्या के प्रयास का भी आरोपी है मोदक

– मोदक पूर्व में तीन हत्या और एक लड़के पर जानलेवा हमला किया। लगभग तीन साल भोपाल जेल में रहने के बाद वह 2012 में जमानत पर रिहा हुआ था।

– जमानत पर रहते हुए ही उसने सुप्यार के मौसेरे भाई की हत्या की थी।

– जेल सुप्रीडेंट का कहना है कि दोनों कैदियों ने नहीं बताया था कि वे एक दूसरे को जानते हैं और उनके बीच पुरानी रंजिश हैं। यदि इसकी जानकारी होती तो दोनों को अलग-अलग रखा जाता।
मोदक ने कहा था- तुम्हारे भाई को भी निपटा दूंगा
– बंदियों ने जेल प्रबंधन को बताया कि सुप्यार सिंह सुबह चाकू लेकर मोदक के पीछे यह कहते हुए भागा था कि आज तुझे खत्म ही कर दूंगा। जब तक अन्य बंदी उसे पकड़ते सुप्यार ने चाकू से हमला कर दिया था।

– जेल अधीक्षक दिनेश नरगावे के मुताबिक सुप्यार सिंह का कहना है कि मोदक ने उसे धमकी दी थी कि वह उसके भाई को निपटा देगा। इस बात से गुस्सा आने पर उस पर हमला कर दिया। जब भी उससे बात होती थी तो मोदक यही धमकी देता था।

यह भी पढ़े :  छिंदवाड़ा : कमलनाथ ने सर्जिकल स्ट्राइक पर उठाया सवाल, बोले- Modi सरकार ने कहां और कौन सी स्ट्राइक की?

– मोदक ने सुप्यार सिंह के मौसेरे भाई की हत्या की थी। रायसेन कोर्ट ने उसे 2 दिसंबर 2017 को ही आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। मोदक के साथ उसका बेटा भी हत्या के मामले में सजा काट रहा है। जबकि सुप्यार और उसके भाई को सात साल पहले हत्या के मामले बाड़ी बरेली से आजीवन कारावास की सजा हुई थी। सुप्यार का भाई जेल में सिलाई करता है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.