Monday, February 6, 2023
Homeज्योतिष और वास्तुDiwali 2022: दिवाली पर वास्तु शास्त्र के अनुसार इस तरह बनाएं रंगोली,...

Diwali 2022: दिवाली पर वास्तु शास्त्र के अनुसार इस तरह बनाएं रंगोली, होगा लाभ

दीपावली के त्यौहार में रंगोली बनाने का विशेष महत्व है। इस पर्व पर वास्तु शास्त्र के अनुसार रंगोली बनाने से विशेष लाभ होगा।

- Advertisement -

मुंबई : दीपावली के त्योहार में रोशनी की तरह रंगोली का भी खासा महत्व है। इसके पीछे कई तरह की धार्मिक मान्यताएं हैं। एक मान्यता के अनुसार, दिवाली पर, जब भगवान राम 14 साल के वनवास के बाद रावण को मारकर अयोध्या शहर लौटे तब लोगों ने पूरे अयोध्या को सजाया और उनके आगमन का जश्न मनाने के लिए दीपक जलाए। इसके साथ ही उसी समय से दरवाजे के सामने रंगोली भी बनाई जाती है, और तभी से दिवाली के दिन घर को रंगोली, रोशनी आदि से सजाने की परंपरा आज भी जारी है।

दिवाली पर बनाई गई रंगोली को समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि घर के बाहर और अंदर खींची गई रंगोली देवी लक्ष्मी के स्वागत के लिए बनाई जाती है। इससे लक्ष्मी प्रसन्न होती है। आइए जानते हैं दिवाली के दिन घर के किस कोने में शुभ और सौभाग्य की रंगोली कैसे बनाएं और इसका धार्मिक महत्व क्या है।

  1. रंगोली शब्द दो शब्दों ‘रंग’ और ‘अवल्ली’ के मेल से बना है जिसका अर्थ है- रंगों की पंक्ति। त्योहार में दीया बनाने की प्राचीन कला को विशेष महत्व दिया गया है।
  2. घर के अंदर और बाहर कई तरह की रंगोली बनाई जाती है, लेकिन दिवाली पर कमल की डिजाइन वाली रंगोली बनाना बहुत शुभ माना जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार दिवाली पर कमल की रंगोली बनाने से देवी लक्ष्मी जल्दी प्रसन्न होती हैं, कमल को लक्ष्मी का आसन माना जाता है।
  3. वास्तु के अनुसार दिवाली के दिन घर के मुख्य द्वार पर रंगोली बनानी चाहिए। इस स्थान पर रंगोली बनाने के लिए लाल, पीले, हरे, गुलाबी, नारंगी रंगों का विशेष रूप से प्रयोग करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि इन रंगों के इस्तेमाल से सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है। वास्तु के अनुसार रंगोली में काले रंग का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  4. रंगोली बनाते समय, आपकी उंगली और अंगूठा एक साथ मिलकर ज्ञानमुद्रा (प्राणायाम मुद्रा) बनाते हैं। माना जाता है कि ये उंगली आसन आपके मस्तिष्क को अधिक ऊर्जावान और सक्रिय बनाने के साथ-साथ आपकी बौद्धिक शक्ति को भी बढ़ाते हैं।
  5. रंगोली बनाते समय आटा, चावल, हल्दी, कुमकुम, फूल, पत्ते का उपयोग करना भी बहुत शुभ माना जाता है। आप चाहें तो दिवाली के दिन चावल को अलग-अलग रंगों में रंग कर रंगोली बनाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
- Advertisement -

(उपरोक्त जानकारी उपलब्ध स्रोतों से प्रदान की गई है। हम तथ्यों के बारे में कोई दावा नहीं करते हैं, न ही हम अंधविश्वास का समर्थन करते हैं)

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments