Sunday, April 11, 2021

नए साल के भाषण में ताइवान की राष्ट्रपति ने कहा- चीन से बढ़ रहा सैन्य खतरा

Must read

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता
- Advertisement -

ताइपे। ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन(TSai Ing Wen) ने शुक्रवार को नए साल के संदेश में कहा कि उनका देश चीन से सैन्य खतरे का सामना कर रहा है। बात दें कि चीन इस द्वीपीय क्षेत्र को अपना मानता है और इस क्षेत्र पर बल पूर्वक कब्जे की धमकी भी दे चुका है।साई ने अपने संदेश में चीन से बढ़ते खतरे का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ताइवान स्ट्रेट में लड़ाकू विमानों और युद्धपोतों की गतिविधियां बढ़ गई हैं। इससे क्षेत्रीय स्थिरता के लिए पैदा हुआ खतरा न सिर्फ इस स्वायत्त क्षेत्र बल्कि पूरी दुनिया के लिए चिंता की बात है

यह भी पढ़े :  एक तरफा प्यार में ऑस्ट्रेलिया में भारतीय लड़की की हत्या, शव को शहर से 400 किमी दूर दफनाया

राष्ट्रपति साई ने नए साल के अपने संदेश में कोरोना महामारी से मुकाबले के लिए उठाए गए कदमों की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि ताइवान ने लॉकडाउन लगाए बगैर संक्रमण पर अंकुश पाने में प्रगति की है। चीन के समीप होने के बावजूद इस द्वीपीय क्षेत्र में कोरोना के महज 800 मामलों की पुष्टि हुई और सात पीडि़तों की मौत हुई है।

- Advertisement -

नए साल के दिन अपने वार्षिक संबोधन में ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन ने कहा कि ताइवान ने व्यावसायिकता में विश्वास करते हुए  एक दूसरे पर भरोसा करते हुए और समाज के रूप में एकीकरण करते हुए, व्यवसाय और शिक्षा के लिए गंभीर अवरोधों के बिना प्रभावी ढंग से कोरोना पर विजय प्राप्त की। राष्ट्रपति ने ताइवान में कोरोना को लेकर तेज और निरंतर प्रयासों के लिए सराहना की गई। चीन से निकटता होने के बावजूद, जहां केवल सात मौतें और 800 से कम मामले सामने आए हैं।

यह भी पढ़े :  उत्तर कोरिया ने कोविड-19 मुक्त होने का किया दावा, WHO को सौंपी रिपोर्ट

इससे पहले ताइवान ने चीन के बढ़ते खतरे को लेकर सभी एशियाई देशों को आगाह किया था। सीएनएन को दिए एक खास इंटरव्‍यू में ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वें ने आगाह किया था कि अगर चीन को नहीं रोका गया तो एशिया के दूसरे देश उसके निशाने पर आ जाएंगे। साई का यह बयान इस वजह से भी बेहद खास है क्‍योंकि जनवरी में ही चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा था कि ताइवान अगर बातचीत से नहीं माना तो वह सैन्‍य कार्रवाई से भी पीछे नहीं हटेगा।

- Advertisement -

- Advertisement -

IPL 2021

- Advertisement -

More articles

Latest News