Tuesday, August 9, 2022
Homeउत्तर प्रदेशअंग्रेजी नव वर्ष के पहले दिन बाबा विश्वनाथ और संकट मोचन दरबार...

अंग्रेजी नव वर्ष के पहले दिन बाबा विश्वनाथ और संकट मोचन दरबार में आस्था का सैलाब

गंगा उस पार रेती पर और सारनाथ में मेले जैसा नजारा, गुलाब और फूलों के गुलदस्ते की जमकर बिक्री

- Advertisement -

वाराणसी । अंग्रेजी नववर्ष 2022 के पहले दिन शनिवार को काशीपुराधिपति और संकटमोचन दरबार में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा।

धुंध और सर्द हवाओं के बीच तड़के से ही बाबा विश्वनाथ और संकटमोचन में दर्शन पूजन के लिए युवा, महिलाएं, बुर्जुग परिवार के साथ दर्शन पूजन के लिए कतारबद्ध होने लगे।

- Advertisement -

दिन चढ़ने पर इस कदर भीड़ उमड़ने लगी कि सावन माह जैसा नजारा बाबा विश्वनाथ के दरबार में दिखा। नव्य काशी विश्वनाथ धाम में दर्शन पूजन के साथ इसे देखने के लिए लोग लालायित रहे।

काशीपुराधिपति के प्रति श्रद्धा गंगा की लहरों की तरह उफान मारती दिखी। नव वर्ष पर अन्नपूर्णा मंदिर, दुर्गाकुंड स्थित कुष्मांडा दरबार, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय स्थित विश्वनाथ मंदिर,लक्ष्मीकुंड स्थित लक्ष्मी मंदिर,सारनाथ स्थित सारंग महादेव दरबार,रोहनिया शूलटंकेश्वर महादेव, दुर्गाकुंड त्रिदेव मंदिर में युवाओं की भीड़ दर्शन पूजन के लिए जुटी रही।

- Advertisement -

दर्शन पूजन के बाद जीवन में नई उम्मीद, नये साल का गर्मजोशी से स्वागत कर युवाओं ने गंगाघाट के साथ उस पार रेती में, सारनाथ, बीएचयू परिसर, मॉल, सार्वजनिक पार्को में जमकर मस्ती की। युवाओंं की भीड़ को देखते हुए नगर के सभी सार्वजनिक जगहों पर सुरक्षा का व्यापक इंतजाम किया था।

सारनाथ में पुरातात्विक खंडहर परिसर, चौखंडी स्तूप, मूलगंध कुटी विहार, बौद्ध मंदिर परिसर, डियर पार्क, आशापुर चौराहा, हवेलिया चौराहा पर पुलिस कर्मी मुस्तैद नजर आये। गंगा घाटों पर बड़ी संख्या में जुटे लोगों ने नव वर्ष के पहले दिन सजे-धजे बजड़ों, स्टीमर और नावों पर सवार होकर नौकायन का आनन्द लिया।

- Advertisement -

रेती में भी नव वर्ष मनाने के लिए लोग परिवार के साथ जुटे रहे। रेती पर लोगों ने बच्चों के साथ घोड़े और ऊंट की सवारी का जमकर आनन्द उठाया। नगर के मॉल में स्थित सिनेमाघर युवाओं के चलते हाउसफुल नजर आये। शहर में आटो और ई-रिक्शा चालक अपने वाहनों को गुब्बारे से सजाकर चल रहे थे। सड़कों पर भी चूने से लिखकर नववर्ष का स्वागत किया गया।

नये साल पर गुलाब और फूलों के गुलदस्ते की जमकर बिक्री

नव वर्ष के पहले दिन शनिवार को नगर में जगह -जगह अस्थाई फूलों, गुलदस्तों की दुकानें सजी थी। इंग्लिशिया लाइन और बांसफाटक स्थित फूल बाजार में फूलों के राजा गुलाब, बुके और गेंदा की खरीददारी के लिए फुटकर विक्रेताओं का आना-जाना दिन भर लगा रहा।

विदेशी फूल भी युवाओं ने जमकर खरीदा और इसे उपहार के रूप में दिया। न्यू कपल्स की पहली पसंद देशी गुलाब, अमेरिकी गुलाब, गुलदस्ते व बुके रही। मंडी में तीन सौ से 15 सौ रुपये तक के गुलदस्ते की मांग रही। गुलाब फूल के गुलदस्ते 50 रुपये से 300 रुपये तक बिके।

बाजार में गुलाब का एक फूल 25 से 30 रुपए में बिका। अन्य फूलों में गलार्डियां, बडरें पैराडाइज, लिली, जर्विरा आदि की मांग भी दिखी। मलदहिया चौराहे के समीप गुलाब का फूल और बुके बेच रहे विजय माली ने बताया नए साल पर गुलदस्ता व बुके देने का चलन है।

पहले लोग नए साल पर एक फूल देकर बधाई देते थे। लेकिन अब युवा पैसे की परवाह नहीं कर रहे हैं। बस उन्हें बुके पसंद आना चाहिए।

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group