क्या संदेहास्पद है अनिल साहू की D.EL.ED डिग्री ! निपटेंगे अनेको अतिथि शिक्षक

0
185

छिंदवाडा से D.EL.ED सिवनी में अतिथि शिक्षक एक समय में दो स्थानों में उपस्थिति दर्ज

seoni news
D.EL.ED | D.EL.ED | D.EL.ED

सिवनी // सिवनी जिले के स्कूल में अतिथि शिक्षक के रूप में कार्यरत अनिल साहू गणित विषय में पिछले कुछ वर्षो से छात्र छात्राओ को शिक्षा देते है परन्तु सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अतिथि शिक्षक अनिल साहू के द्वारा वर्ष 2017 से 2019 तक छिंदवाडा जिले के पोनार के एक प्राइवेट स्कूल से D.EL.ED किया और साथ ही उसी समय से सिवनी जिले की शासकीय शालाओ में  अतिथि शिक्षक के रूप में निरंतर कार्यरत है . अब यहाँ पर बात ये उठती है की एक ही व्यक्ति एक समय में 2 स्थानों में उपस्थित होकर शिक्षा हासिल करना व शिक्षा प्रदान करने जैसा कार्य कैसे कर सकता है .

सूत्रों ने तो यह भी बताया की जिस स्कूल में अतिथि शिक्षक के रूप में निरंतर कार्यरत है वहां के प्रिंसिपल को भी इस बात की जानकारी थी परन्तु प्रिंसिपल द्वारा किसी भी प्रकार का कोई एक्शन नहीं लिया गया . इतनी जानकारी प्रिंसिपल के पास होने पर प्रिंसिपल के द्वारा एक्शन ना लेना संदेह का विषय तो जरूर है.

सूत्रों से जानकारी प्राप्त होने के बाद खबर सत्ता न्यूज़ पोर्टल द्वारा अनिल साहू से इस सम्बन्ध में जानकारी लेनी चाही तो फ़ोन पर बात की गयी. तब बात सुनते ही अनिल साहू द्वारा फ़ोन काट दिया गया जिसके बाद खबर सत्ता के एडिटर का नंबर ब्लैक लिस्ट में डाल दिया गया फिर क्या था फ़ोन बंद, दोबारा फ़ोन लगाने पर फ़ोन निरंतर ही बंद आने लगा .

यह भी पढ़े :  जरूरतमंद विद्यार्थियों को वितरित किये गये छाते

समाचार लिखे जाने तक अनिल साहू द्वारा किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं दी गयी .हमने यह भी सोचा की अनिल साहू से बात होने पर ही समाचार लिखा जाये किन्तु जब अनिल द्वारा ऐसा व्यवहार किया गया तो हमें आभास हुआ की सूत्रों से मिली इस फ्रॉड की जानकारी बिलकुल सत्य हो सकती है. 

साथ ही सिवनी जिले में ऐसे बहुत से अतिथि शिक्षक है जिन्होंने अतिथि शिक्षक रहते हुए में D.ED व B.ED किया है और वर्तमान में भी कई अतिथि शिक्षक कर रहे है . क्या जिला शिक्षा अधिकारी इन विषय को संज्ञान में लेते हुए कारवाही करेंगे या फिर इसी तरह ये अतिथि शिक्षक शासन प्रशासन और अधिकारियो को गुमराह कर गलत तरीको से ये फर्जी कार्य करते रहेंगे. अब देखना ये होगा की जिला शिक्षा अधिकारी ऐसे शिक्षको और इन्हें संरक्षण देने वाले प्राचार्यो पर कारवाही करते है या नहीं ?

खबर सत्ता न्यूज़ पोर्टल के पास ऐसे अनेको अतिथि शिक्षको की जानकरी है जिन्होंने D.ED व B.ED अतिथि शिक्षक के पद पर रहते हुए कर चुके है और जो वर्तमान में कर रहे है हमारे पास प्राप्त जानकरी की पुष्टि होते ही समाचार के माध्यम से आपके समक्ष ऐसे अतिथि शिक्षको की पूर्ण जानकारी प्रकाशित की जायगी. 

यह भी पढ़े :  ZOMATO डिलीवरी बॉयज ने कहा गाय और सूअर का मांस नहीं बांटेंगे: हड़ताल का ऐलान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.