थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर से प्रताड़ित होकर ड्राइवर ने खाया जहर

0
275

पीड़ित ने जहर खाते वक्त बनाया वीडियो , सोशल मीडिया में वायरल हुआ वीडियो

सिवनी न्यूज़,खबर सत्ता । एक तरफ हैदराबाद पुलिस के रेप के आरोपी का एनकाउंटर करने पर पुलिस की तारीफ के कसीदे पढ़े जा रहे है तो वही दूसरी ओर कान्हीवाड़ा पुलिस की प्रताड़ना से आम जनता जहर खाने को मजबूर हो रही है ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार डुंडा सिवनी निवासी हीरा जंघेला उर्फ चिंटू जंघेला जो पैसे से ड्राइवर है । कान्हीवाड़ा थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर द्वारा पीड़ित हीरा जंघेला पर फर्जी एक्ससीडेंट केस दर्ज करने के लिए बार बार प्रताड़ित किया जा रहा था जिसके पश्चात पीड़ित हीरा जंघेला ने अपने जहर खाने की बात कहते हुए वीडियो बनाया । वीडियो में हीरा जंघेला यह कहता नजर आ रहा है कि उसे कान्हीवाड़ा थाना के दिलीप पंचेश्वर के द्वारा फर्जी एक्ससीडेंट केस में फसाया जा रहा है जिससे वह काफी समय से प्रताड़ित है और यह जहर मेरे द्वारा 10 मिनट बाद खा लिया जाएगा और मैं मर जाऊंगा उक्त वीडियो में पीड़ित दिलीप पंचेश्वर की प्रताड़ना से न्याय की गुहार लगा रहा है । पीड़ित के जहर खाने के बाद उसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया ।

जब इस विषय पर केवलारी एसडीओपी आर के कुर्वेती से चर्चा कर मामले की जानकारी चाही तो उन्होंने पूरी घटना से अंजान होने की बात कहते पल्ला झाड़ लिए । बड़े ही आश्चर्यजनक बात है कि थाना प्रभारी की प्रताड़ना से जनता जहर खाने को मजबूर है और हमारे जिम्मेदार अधिकारियों को जानकारी ही नही ।

यह भी पढ़े :  केवलारी : शहादत को शालाम , वीर जवानों को दी गई श्रद्धांजलि

दिलीप पंचेश्वर का विवादों से पुराना नाता:

थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर और विवादों का पुराना नाता है । विभागीय सूत्रों की माने तो दिलीप पंचेश्वर जिस थाने में भी पद भार संभालते है वहा सट्टा , जुआ , गौ तस्करी और गैरकानूनी काम करने वालो के हौसले बुलंद होते है । थाना बंडोल में पदस्थ रहते अवैध शराब और जुआ सट्टा के मामले खूब चर्चा रहे तो थाना डुंडा सिवनी थाने के दौरान जंगल जुआ के नाल कट का याराना चर्चित रहा है अब कान्हीवाड़ा थाने में थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर की कार्यप्रणाली के चलते अपराधियो के हौसले बुलंद है तो वही आम आदमी जहर खाने को मजबूर है ।

यह भी पढे :विवादित कान्हीवाड़ा थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर को हटाया गया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.