Monday, August 15, 2022
Homeसिवनीसिवनी: गांव में उल्टी-दस्त का प्रकोप, 32 बीमार, एक वृद्धा की मौत...

सिवनी: गांव में उल्टी-दस्त का प्रकोप, 32 बीमार, एक वृद्धा की मौत को बताया…

Seoni: Outbreak of vomiting and diarrhea in the village, 32 sick, told the death of an old man...

- Advertisement -

सिवनी। बारिश के दिनों में पीने का पानी मटमैला व दूषित हो जाने और उसके सेवन से बीमारी बढ़ जाती है जिसके चलते लोगों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ता है। रविवार को विकासखंड घंसौर के गांव अगरियाकला में उल्टी दस्त से 32 लोग बीमार हुए हैं जिनमें अधिकांश की आयु 30 वर्ष से अधिक है।

वही उल्टी-दस्त से बीमार होने पर बीमारों का उपचार जहां घंसौर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है वही गांव की 75 वर्षीय एक वृद्ध की मौत हो जाने से इस मामले में जहां ग्रामवासी मौत का कारण उल्टी दस्त बता रहे हैं। वही डॉक्टरों का कहना है कि वृद्ध महिला का बीपी बढ़ गया था तथा अन्य बीमारी से भी व ग्रसित थी जिसके चलते हुए उसकी मौत हुई है।

- Advertisement -

प्राप्त जानकारी के अनुसार घंसौर अंतर्गत गांव अगरियाकला में गांव के लोग खुले कुएं में भरा पानी पीने के लिए उपयोग करते हैं। बारिश के दिनों में कुएं में बारिश का पानी तथा अन्य गंदा पानी भी चला गया था। दूषित पानी के सेवन से गांव में एक के बाद एक उल्टी-दस्त से बीमारों की संख्या बढ़ती गई जहां सोमवार तक उल्टी दस्त के मरीजों की संख्या बढ़कर 32 हो गई। अलग स्वास्थ्य विभाग इस मामले में सभी की स्थिति ठीक बता रहा है।

सीएमएचओ डॉ. राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि गांव में उल्टी दस्त से बीमारों की जानकारी प्राप्त हुई है तथा गांव की जो 75 वर्षीय महिला की मौत हुई है वह उल्टी-दस्त से नहीं हुई है अपितु अन्य बीमारी से मौत होना पाया गया है। वहीं उन्होंने बताया कि गांव में स्वास्थ्य टीम भिजवा दी गई है। जो जांच कर रही है।

- Advertisement -

फिलहाल जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरके धुर्वे, एपिडेमियोलॉजी रश्मि रेखा तथा बीएमओ घंसौर भारती सोनकेसरिया मरीजों की देखरेख में जुटे हैं। वही पीएचई विभाग ने पानी का सैंपल भी ले लिया है डॉक्टर ने बताया कि उल्टी दस्त से बीमार मरीजों के स्वास्थ्य में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है।

जमीनी सतह से लगा है कुँआ – गांववासी पीने के पानी के लिए जिस कुएं का उपयोग करते हैं वह कुआं जमीनी सतह से लगा हुआ है। कुआं के आसपास छोटी बाउंड्रीवॉल मुंडेर नहीं बनाया गया है जिसके कारण बारिश का पानी भी कुएं में चला जाता है तथा कुएं से पानी निकाल कर गंदे कपड़े धोने, साफ करने के कारण आसपास की कीचड़ व गंदगी जमा रहती है जो बारिश के पानी के साथ पुनः कुएं में गंदा पानी चला जाता है। वही पानी पीने के उपयोग में किए जाने के कारण लोगों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ा।

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group