Monday, August 15, 2022
Homeसिवनीसिवनी: यूरिया डी ए पी की मांग को लेकर किसानो ने किया...

सिवनी: यूरिया डी ए पी की मांग को लेकर किसानो ने किया चक्काजाम, मौके पर पहुंचे अधिकारी

Seoni: Farmers did a ruckus on the demand of urea DAP, officials reached the spot

- Advertisement -

सिवनी (एस.शुक्ला): बरघाट जनपद के अन्तर्गत ग्राम आष्टा अखीवाडा मे आज चक्काजाम कर दिया लम्बे समय से सहकारी समिति आष्टा मे किसानो को खाद उपलब्ध नही हो पा रही है और किसान यूरिया डी ए पी खाद के लिये परेशान है किसानो का कृषि कार्य पूर्ण हो गया और अब अपने धान रोपणी को बचाने के लिये और उसे जीवित रखने के लिये खाद के लिये दर दर की ठोकर खा रहा है पर उसे अपनी फसल बचाने के लिये रोड पर उतरना पड रहा है.

आज अन्न दाता किसान ही शासन की नीतियो से त्रस्त होकर अपनी माग के लिये सडक पर उतरा हुआ है खाद न मिलने की शिकायत यहा के ही किसानो के साथ नही है बरघाट ब्लाक की हर वो सहकारी समिति है जहा पर खाद का टोटा लगा हुआ है और प्रत्येक सहकारी समिती मे दर्जनो गाव के किसान सहकारी समिति से जुडे हुऐ है किन्तु समय पर संस्थाओ के आला अधिकारी और कर्मचारी किसानो के हित मे कोई कार्य नही कर रहे है

- Advertisement -

किसानो ने यह भी आरोप लगाया है कि सहकारी समिति के कर्मचारी किसानो के कृषि खाते पर यूरिया एवम डी ए पी के परमिट तो काट रहे है किन्तु अन्दर अन्दर ही साठ करते हुए खाद की कालाबाजारी भी कर रहे है जिससे किसानो को खाद नही मिल पा रही है वही दूसरी तरफ खुले बाजार मे बिकने वाला घटिया स्तर का खाद किसानो को थमाया जा रहा है जिसमे कर्मचारीयो की मिली भगत से भी इंकार नही किया जा सकता

यहा यह बताना भी लाजिमी है कि दो तीन दिनो पूर्व ही सहकारी समिति से जुडे गांवो के जन प्रतिनिधि और सरपंचो के द्वारा आष्टा समिति मे आकर खाद की समस्या से किसानो को निजात दिलाने का आग्रह समिति प्रबंधक से किया था जबकि इसके पूर्व भी आष्टा सहकारी समिति मै यूरिया डी ए पी की मांग को लेकर किसानो का हंगामा हुआ है किन्तु इसके बावजूद भी संस्था के करणधारो ने किसानो की इस समस्या पर ध्यान देना उचित नही समझा और आज उसी का परिणाम है कि छेत्र का किसान यूरिया डी ए पी खाद की माग को लेकर सडक पर उतर आया

- Advertisement -

किसानो ने यह भी बताया कि समिति के आला अधिकारी और कर्मचारीयो की निष्क्रियता और लापरवाही के चलते छेत्र के किसान बहूत ज्यादा परेशान और पीडित है यही नही किसानो के कर्ज राशि जमा हो जाने के बाद किसानो के खाते मे बकाया राशि है और दो दो बार राशि काटी जा रही है और किसान कर्ज राशि को वापस पाने के लिये बैक के चक्कर लगा रहा है किसानो के परमिट तो खाद के लिये काट दिये जाते पर किसानो को खाद नही मिलता किन्तु खाद की राशि किसानो के खातो मे चढा दी जाती है

किसानो को यूरिया डी ए पी के स्थान पर देव पुत्र सुपर फास्फेट आर्गेनिक जयराम खाद जो कि प्रायवेट सप्लाई खाद है यही खाद किसानो को यूरिया डी ए पी के नाम पर परोसी जा रही है

- Advertisement -

यहा यह भी उखल्लेखनीय है कि जब खाद गोदाम प्रभारी से बात की गई तो गोदाम प्रभारी ने बताया कि गोदाम मे डी ए पी पर्याप्त है समिति से आरो प्राप्त हो जाये तो खाद पहुचा दिया जायेगा यह भी उल्लेखनीय है कि आष्टा समिति मे अब तक किसानो के लिये मात्र 60 टन डी ए पी एव 129 टन यूरिया ही गोदाम से वितरण के लिये आया है जबकि किसानो को लगभग 600 डी ए पी और इससे ज्यादा मात्रा यूरिया की चाहिये किन्तु एक चौथाई खाद भी किसानो को नही मिली है

मौके पर पहुचे तहसीलदार एवम उपायुक्त सहकारी संस्था सिवनी के सामने किसानो ने अपनी पीडा रखी तथा समिति प्रबंधक को तत्काल हटाने की भी माग की किसानो के आक्रोश को देखते हुए मौके पर पहुचे अधिकारियो ने तत्काल कार्रवाई का भी आश्वासन दिया है वही समिति प्रबंधको की माने तो उनका कहना है कि डबल लाक बरघाट से खाद की पूर्ति नही हो पा रही है

जिससे किसानो को उनकी माग के आधार पर खाद की पूर्ति नही हो पा रही है डबल लाक बरघाट गोदाम पर भी समितियो को खाद प्रदाय मे अनियमितता बरते जाने के आरोप लगे है किसानो के द्वारा मौके पर आये अधिकारी उपायुक्त निगम जी तहसीलदार रिनाहिते बरघाट नायब तहसीलदार के समक्ष अपना आक्रोश भी प्रगट किया गया एव समस्या से तत्काल निजात दिलाने जाने की माग की गई

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group