मैं हूँ अस्पताल मित्र योजना ले रही मूर्त रूप

0
114

जिला प्रशासन द्वारा की गयी मैं हूँ अस्पताल मित्र योजना की पहल तेजी से मूर्तरूप ले रही है।

main hu aspatal mitr yojna
मैं’ हूँ अस्पताल मित्र योजना | main hu aspatal mitr yojna

सिवनी मैं’ हूँ अस्पताल मित्र योजना : जिला अस्पताल में महानगरों की तरह बेहतर उन्नत स्वास्थ्य सुविधाओं की सुनिश्चितता एवं जिले वासियों का अस्पताल से भावात्मक जुड़ाव हेतु विगत 01 जुलाई को विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति एवं जिले के प्रभारी मंत्री सुखदेव पांसे तथा अन्य जन प्रतिनिधियों की उपस्थिति में प्रारंभ की गयी इस अभिनव योजना में जिले के जिम्मेदार नागरिकों द्वारा अपनी मंशा से जिला चिकित्सालय को आर्थिक सहयोग देकर जिला चिकित्सालय से मित्रता कर ली है।

प्राप्त जानकारी अनुसार शनिवार 13 जुलाई तक इस योजना में दानदाता रंजीत खरे द्वारा 25 हजार, सुनील मालू द्वारा 25 हजार, अल्पना राणा द्वारा 25 हजार, अजय साहू द्वारा 15 हजार, संदीप औसवाल द्वारा 11 हजार, विनय सेंगर द्वारा 10 हजार, पवन बिसेन द्वारा 10 हजार, रूपेश जैन द्वारा 10 हजार,नरेंद्र टांक द्वारा 10 हज़ार, जितेंद्र सोनकेशरिया द्वारा 10 हजार, नितिन जैन द्वारा 10 हजार,पवन मेहंदीरत्ता द्वारा 10 हजार,सतीश अग्रवाल द्वारा 11 हजार, राम स्वरूप राय द्वारा 11 हजार, धर्मेंद्र बोपचे 10 हजार,सुदेश जैन द्वारा 11 हजार, विजय यादव द्वारा 10 हजार, रमेश अग्रवाल द्वारा 11 हजार,संतोष अग्रवाल द्वारा 11 हजार,

यह भी पढ़े :  SEONI NEWS : नाबालिग बेटी से अश्लील हरकत करने वाला कलयुगी पिता गिरफ्तार
इमरान कुरैशी द्वारा 10 हजार,योगेंद्र बिसेन द्वारा 10 हजार, लखन लाल पटेल द्वारा 10 हजार, पंकज जैन द्वारा 01 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी गयी है। इसके अतिरिक्त कलेक्टर प्रवीन सिंह द्वारा 11 हजार, कार्यपालन यंत्री के.पी लखेरा एवं सिविल सर्जन डॉ.नावकर द्वारा 11-11 हजार रुपये का सहयोग किया गया है।

बताया गया है कि इस प्राप्त राशि का उपयोग अस्पताल प्रबंधन द्वारा अपनी सुविधाओं में सुधार हेतु किया जायेगा जिससे जरूरतमंदों को जिले में ही बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल जाने से महानगरों की ओर नही जाना होगा। अस्पताल से मित्रता करने के इच्छुक अन्य जिले वासी जिला अस्पताल में संपर्क कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.