Home सिवनी हिंदी में परीक्षा देकर भी बन सकते हैं डॉक्टर

हिंदी में परीक्षा देकर भी बन सकते हैं डॉक्टर

इंदौर -मध्यप्रदेश में चिकित्सा पाठ्यक्रमों की परीक्षाओं के दौरान करीब 40,000 विद्यार्थियों के लिये भाषा अब कोई बाधा नहीं रह गयी है।सूबे में हिन्दी में पर्चा देकर भी एमबीबीएस और अन्य पाठ्यक्रमों की प्रतिष्ठित डिग्री हासिल की जा सकती है।यह बात मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविधालय के इसी साल से लागू अहम फैसले से मुमकिन हो सकी है।फैसले के बाद हिन्दी पट्टी के इस प्रमुख राज्य में एमबीबीएस के अलावा नर्सिंग, डेंटल, यूनानी, योग, नेचुरोपैथी और अन्य चिकित्सा संकायों के पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं हिन्दी में दिये जाने का सिलसिला शुरू हुआ है।

महाविद्यालयों के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ

- Advertisement -

जबलपुर स्थित विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. रविशंकर शर्मा ने गुरुवार को बताया कि परीक्षाओं के दौरान हमारे लिये यह जांचना जरूरी होता है कि किसी विद्यार्थी को संबंधित विषय का ज्ञान है या नहीं। इस सिलसिले में भाषा की कोई बाधा नहीं होनी चाहिये. यही सोचकर हमने अपने सभी पाठ्यक्रमों की परीक्षाओं में अंग्रेजी के विकल्प के रूप में हिन्दी या अंग्रेजी मिश्रित हिन्दी के इस्तेमाल को अनुमति देने का फैसला किया है. उन्होंने बताया कि इस साल सूबे के 10 चिकित्सा महाविद्यालयों के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ, जब एमबीबीएस पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों को हिन्दी या अंग्रेजी मिश्रित हिन्दी में परीक्षा देने की आजादी मिली। इस बार एमबीबीएस प्रथम वर्ष पाठ्यक्रम के कुल 1,228 में से 380 विद्यार्थियों यानी लगभग 31 प्रतिशत उम्मीदारो ने हिन्दी या अंग्रजी मिश्रित हिन्दी में परीक्षा दी है।

*हिन्दी की स्तरीय पुस्तकों का अभाव*

- Advertisement -

शर्मा ने कहा कि इस परीक्षा का नतीजा एकाध महीने में घोषित होने की उम्मीद है. हमें भरोसा है कि यह परिणाम गुजरे वर्षों की तुलना में बेहतर होगा क्योंकि इस बार परीक्षार्थियों को हिन्दी या अंग्रेजी मिश्रित हिन्दी में पर्चा देने का मददगार विकल्प भी मिला है।

यह भी पढ़े :  सिवनी : Seoni कलेक्टर द्वारा धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी

उन्होंने यह भी बताया कि मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के सभी पाठ्यक्रमों के करीब 40,000 विद्यार्थी केवल सैद्धांतिक परीक्षा ही नहीं, बल्कि प्रायोगिक और मौखिक परीक्षा (वाइवा) में भी हिन्दी या अंग्रेजी मिश्रित हिन्दी का इस्तेमाल कर सकते हैं। बहरहाल, चिकित्सा पाठ्यक्रमों में हिन्दी में पढ़ाई की डगर विद्यार्थियों के लिये उतनी आसान भी नहीं है. खासकर एमबीबीएस पाठ्यक्रम के लिये हिन्दी की स्तरीय पुस्तकों का गंभीर अभाव है।

यह भी पढ़े :  धूमधाम से मनाया गया साई जन्मउत्सव
- Advertisement -

अंग्रेजी से हिन्दी में अनुवाद में होता है अनर्थ

इंदौर के शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के सह-प्राध्यापक (एसोसिएट प्रोफेसर) डॉ. मनोहर भंडारी ने इस बात की पुष्टि की और कहा कि चिकित्सा पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों के लिये हिन्दी की अच्छी किताबें बेहद जरूरी हैं. वर्ष 1992 में हिन्दी में शोध प्रबंध (थीसिस) लिखकर एमडी (फिजियोलॉजी) की उपाधि प्राप्त करने वाले विद्वान ने कहा कि चिकित्सा पाठ्यक्रमों के लिये हिन्दी की कुछ किताबें तो ऐसी हैं जिन्हें पढ़कर सिर पीट लेने का मन करता है।खासकर तकनीकी शब्दों के अंग्रेजी से हिन्दी में अनुवाद के समय इन पुस्तकों में अर्थ का अनर्थ कर दिया गया है।

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,272FansLike
7,044FollowersFollow
786FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

भारत में कोरोना की वैक्सीन जनवरी तक आने की उम्मीद, ट्रायल अंतिम चरण मेंः गुलेरिया

नई दिल्ली। भारत में कोरोना की वैक्सीन को लेकर एम्स दिल्ली के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने करोड़ों लोगों को...

अमेरिकी में स्थायी निवास और ग्रीन कार्ड में भी अब राहत

वाशिंगटन। अमेरिका में रहने वाले भारतीय पेशेवरों के लिए सीनेट ने एक प्रस्ताव पारित कर राहत भरी खबर दी है। सीनेट से सर्वसम्मति से प्रस्ताव...

हाफिज सईद के बाद जमात-उद-दावा के प्रवक्ता को पाक अदालत ने सुनाई सजा, 15 साल रहेगा जेल में

लाहौर। पाकिस्तान में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के बाद जमाद-उद-दावा के प्रवक्ता, याहया मुजाहिद को पाकिस्तान अदालत ने सजा सुनाई है। एब...

रेट्रो के सफ़र पर ले जाएगा कियारा आडवाणी की फ़िल्म ‘इंदू की जवानी’ का नया गाना, देखें वीडियो

नई दिल्ली। हिंदी सिनेमा चाहे जिस दौर में पहुंच जाए, मगर रेट्रो का सुरूर ज़हन से नहीं जाता। फ़िल्ममेकर्स किसी ना किसी बहाने दर्शकों को...

Bigg Boss 14: एजाज़ ख़ान और जैस्मिन भसीन ने एक दूसरे के कैरेक्टर पर उछाला कीचड़, बोले- ‘भाड़े का कैरेक्टर’

नई दिल्ली। टीवी एक्ट्रेस जैस्मिन भसीन जब ‘बिग बॉस 14’ में आई थीं तब दर्शकों को उनकी एक अलग पर्सनैलिटी देखने को मिली थी।...
x