गाँव से जुड़कर ही हो सकता है देश का विकास- मोदी

0
92

मंडला- देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मध्यप्रदेश के आदिवासी जिले मंडला जिले में रानी दुर्गावती गढ़ रामनगर से राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस का उद्घाटन किया इस मौके पर तीन दिवसीय आदि उत्सव की भी शुरुआत की गई। प्रधानमंत्री ने इस दौरान कई ग्राम पंचायतों के सरपंचों की पीठ थपथपाकर सम्मानित भी किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत गौंडी भाषा बोलकर की। एक विशाल जन समूह की मौजूदगी में पीएम मोदी कहा कि आदिवासी भाईयों ने हमेशा ही देश के लिए काम किया है, फिर चाहे वो अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई हो या फिर देश सम्मान के लिए शहीद होना हो या फिर देश का विकास हो।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान हाल में POCSO एक्ट में किए गए बदलाव के बारे में भी कहा. उन्होंने कहा कि जो भी अब राक्षसी काम करेगा, उसे फांसी पर लटकाया जाएगा. आज की केंद्र सरकार लोगों की भावनाओं को समझती है और उसके हिसाब से निर्णय ले रही है. ये एक सामाजिक बदलाव है, हमें अपने लड़कों को भी समझाना होगा। बेटों को बेटियों की इज्जत करना सिखाना होगा. परिवारों में घर के अंदर से ही इस बदलाव की शुरूआत करना होगा.
मोदी ने इस दौरान यहां त्रिपुरा के उपमुख्यमंत्री जिष्णु देव वर्मा का स्वागत किया और कहा कि जैसे यहां पर गोंड परंपरा का इतिहास है, वैसे ही त्रिपुरा में आदिवासी लोगों का बहुत बड़ा इतिहास है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत की पहचान यहां के गांवों से ही है, महात्मा गांधी ने भी इस बात को दोहराया था. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सभी को साथ लेकर बापू के सपनों को पूरी करेगी।
PM ने कहा कि गांव के लोगों और हमारे सपने जुड़ेंगे तभी देश आगे बढ़ेगा. हम सभी को कुछ ऐसा करना चाहिए जिससे आने वाली पीढ़ी की ज़िंदगी में बदलाव आए. उन्होंने कहा कि एक जमाना था कि बजट की चिंता होती थी, लेकिन अब चिंता है कि बजट का इस्तेमाल सही तरीके से कैसे हो. हमें अपने गांव के लिए कुछ करने का संकल्प करना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस तरह से हमने जनधन योजना लागू कर हर एक को समृध्द बनाया है ठीक उसी तरह अब गांव में निवासरत ग्रामीणों के लिए खुशखबरी देते हुए बताया कि अब से आपके आसपास के जंगल से प्राप्त वन संपदा को एकत्र कर लाभ कमाने वहीं किसानों के हित में बात करते हुए अपनी धरती माता पर पड़ रही रासायनिक खादों के खतरे को बताते हुए देशीखाद को बढ़ावा देने पर बल दिया। जिसपर पीएम ने जनधन, वनधन और गौधन की बात कही।
प्रधानमंत्री ने बताया कि हर किसी को कोशिश करनी चाहिए कि गांव का हर बच्चा पढ़े क्योंकि सरकार सिर्फ पैसा-स्कूल-टीचर-बैग दे सकती है लेकिन अपने बच्चों को आपको को ही प्रोत्साहित करना होगा ताकि वह पढ लिख कर अपने गांव घर का नाम रोशन कर सके।

यह भी पढ़े :  केवलारी : शहादत को शालाम , वीर जवानों को दी गई श्रद्धांजलि

शिवराज ने केंद्र को सराहा:-
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस दौरान कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राज्य सरकार गरीबों और आदिवासियों के लिए काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार हर गरीब और आदिवासी को घर-चूल्हा देने का काम कर रही है. शिवराज बोले कि केंद्र की सरकार की तरफ से अब करीब 50 करोड़ लोगों के स्वास्थ्य के लिए योजना लेकर आ रहे हैं.
आधिकारिक जानकारी के अनुसार, उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किया. इस अवसर पर केंद्रीय पंचायती राज और कृषि तथा कृषक कल्याण मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला, मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मध्य प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव के साथ नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष व जबलपुर सांसद राकेश सिंह, मंडला-सिवनी सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते भी उपस्थित रहे।
आदि उत्सव के दूसरे दिन 25 अप्रैल को रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होगा. सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से जनजाति जीवन के विभिन्न पहलू से परिचित कराते हुए कलाकार अपनी प्रस्तुतियां देंगे. उत्सव के अंतिम दिन 26 अप्रैल को प्रशासन द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत लगभग 1000 विवाह तथा निकाह कराए जाएंगे. इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने वाले जोड़ों का उनके परंपरागत रीतिरिवाजों के अनुसार विवाह होगा. आयोजन स्थल में विभिन्न विभागों की आम जनता की जानकारी के लिए प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी.
चारों खूंट रही चाक चौबंद सुरक्षा :-
प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर मंडला में सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं. एसपीजी सहित अन्य सुरक्षा बलों के जवान बड़ी संख्या में यहां पहुंची। दिन में पुलिस बलों ने रिहर्सल की. वहीं पूरे कार्यक्रम स्थल को सुरक्षा बलों ने अपने कब्जे में ले लिया है।

यह भी पढ़े :  आज का दिन "राष्ट्र प्रेम दिवस" के रूप में प्रतिवर्ष मनाया जाये: डॉ. रामकुमार चतुर्वेदी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.