बेटी ने निभाया बेटे का धर्म, पिता को दी मुखाग्नि

- Advertisement -

लखनादौन | वक्त बदल रहा हैं और साथ ही बदल रही हैं समाज की सोच।नगर में परंपराओं से हटकर एक बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि देकर उनका अंतिम संस्कार किया। मृतक का कोई बेटा नहीं था बल्कि दो बेटियां थीं| शमशान पर उस समय लोगों के आंसू छलक पड़े, जब एक बेटी ने श्मशान में रूढ़ीवादी परंपराओं के बंधन को तोड़ते हुए अपने पिता का अंतिम संस्कार किया। उसने बेटा बनकर हर फर्ज को पूरा किया, जिसकी हर किसी ने तारीफ की। अंतिम संस्कार में वह रोती रही, पापा को याद करती रही, लेकिन बेटे की कमी को हर तरह से पूरा किया।

अंतिम संस्कार में पहुंचे लोगों ने कहा कि एक पिता के लिए अंतिम विदाई इससे अच्छी और क्या हो सकती हैं, जब पुरानी परंपरा को तोड़ते हुए बेटियों ने बेटे का फर्ज निभाया। दरअसल, ज्यादातर ऐसी बातें होती हैं कि बेटा कुल का दीपक होता हैं, बेटे के बिना माता-पिता को मुखाग्नि कौन देगा ? लेकिन अब यह बातें अब बीते जमाने की हो गई, यह साबित किया हैं लखनादौन की बेटी ने। गत दिनों ऐसी ही पुरानी कुरीति एक बार फिर टूटी। बेटी प्रिया तिवारी ने पिता को न सिर्फ मुखाग्नि दी बल्कि अंतिम संस्कार की हर वह रस्म निभाई, जिनकी कल्पना कभी एक पुत्र से की जाती थी।

यह भी पढ़े :  Seoni Corona Update : केवलारी विधायक एवं अन्य पांच की रिपोर्ट आई नेगेटिव

जानकारी के अनुसार नगर में देवेंद्र तिवारी का बीमारी के चलते निधन हो गया। मौजूद लोगो ने कहा कि उनके पिता की हार्दिक इच्छा थी कि बेटी उनका अंतिम संस्कार करें और उसने अपने पिता की आखिरी इच्छा पूरी की। समय से साथ सोच बदलने की जरूरत है। आज से समय में बेटा-बेटी बराबर हैं। मृतक देवेंद्र तिवारी की मृत्यु कैंसर से हो गई। देवेन्द्र तिवारी अत्यंत मिलनसार एवं हंसमुख स्वाभाव के धनी थे। उनकी अंतिम यात्रा में समाज के सभी वर्गो ने हिस्सा लेकर परिवार के प्रति सांत्वना प्रकट की। उनकी 2 बेटियां जिसमें बडी़ बेटी प्रियांशी कर्नाटक में अध्ययनरत है जबकि छोटी बेटी प्रिया कक्षा 7 में अध्ययनरत हैं। कोई बेटा नहीं था। देवेंद्र तिवारी की मृत्यु के बाद उनकी दोनों बेटियों ने हिन्दू रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार के सारे फर्ज पूरे किए।

- Advertisement -

दोनों बहनें, बेटे की तरह की गई परवरिश
उसके पिता ने उनको बेटों की तरह पाला है, वो दोनों बहनें ही हैं, उनका कोई भाई नहीं है, उसके पिता ने कभी दोनों बहनों में किसी प्रकार का भेद-भाव नहीं किया, सभी को अच्छी शिक्षा दिला रहें।

यह भी पढ़े :  सर्पदंश की घटना में अंधविश्वास में समय व्यर्थ न करें परिजन

बेटियां क्यों नहीं…
आज जमाना बदल गया है, पुरानी कुरीतियां रही हैं कि दाह संस्कार का काम केवल बेटे ही कर सकते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं है, जमाना बदल रहा है। जो काम बेटे कर सकते हैं, उस काम को बेटियां भी कर सकती हैं। आज लड़कीयों का जमाना हैं यह हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। हमने अपने पिता का अंतिम संस्कार किया है और हम वह सभी कार्य करेंगे, जो एक बेटे को करनी चाहिए। इसके बाद सभी रिश्तेदारों ने एक राय होकर बेटी को ही अंतिम संस्कार के लिए आगे किया और उसे ढांढ़स बंधाया।

यह भी पढ़े :  SEONI : युवा काग्रेस एवं NSUI ने सौपा ज्ञापन-मामला पेट्रोल एव डीजल के दाम व्रद्धि का
- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Short Stories

Leave a Reply

यह भी पढ़े :  SEONI : शिवराज सिंह चौहान का पुतला जलाने पर 11 लोगों पर मामला दर्ज

बन्दर को उम्रकैद : शराबी बन्दर को उम्रकैद, हरकतें जानकर आप भी होंगे हैरान

आपने अक्सर लोगों को उम्रकैद की सजा मिलने की खबर सुनी होगी,...

क्या 21 जून 2020 को खत्म हो जाएगी दुनिया? माया कैलेंडर पर चौंकाने वाला खुलासा

क्या 21 जून 2020 को खत्म हो जाएगी दुनिया? माया कैलेंडर पर चौंकाने वाला खुलासा अब दुनिया...

Corona Mata : महिलाओं-किन्नरों के सपने में आईं कोरोना माता, बोली – मेरी पूजा करो

कोरोना माता (Corona Mata) महिलाओं-किन्नरों के सपने में आईं कोरोना माता, बोली - मेरी पूजा करो

एक साथ 25 सरकारी स्कूलों में पढ़ा रही थी, साल भर में कमाए एक करोड़, फूर गया भांडा

आपको बता दें कि हर जिले के एक ब्लॉक में एक कस्तूरबा गांधी स्कूल होता है। यह...

मुसलमानों के लिए शराब पीने में कोई बुराई नहीं – मौलवी

पाकिस्तान के इस मौलवी ने दारू पीने वालों के लिहाज से ये कमाल की बात कह दी...

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

5,564FansLike
7,044FollowersFollow
483FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

अमेरिकी चुनाव : भारत का बोलबाला, हर कोई भारत से रिश्ते बनाना चाहता है मजबूत

अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि अगर नवम्बर में वह चुनाव जीत जाते...

झटके पे झटका : इस केंद्रीय मंत्रालय ने किया चीनी उत्पादों को बैन

केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक मंत्री राम विलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने कहा कि उनके विभाग में अब कोई भी...

शिवराज कैबिनेट : नए चेहरे आए सामने , देखें किसे मिला मौका और किसका नाम छूटा?

भाजपा के कुल 16 नेताओं में 7 शिवराज की पिछली कैबिनेट में मंत्री रह चुके हैं, वहीं 9 नए चेहरे हैं जो...

चीनी ऐप बैन : भारत के सपोर्ट में खुलकर उतरा अमेरिका, कही ये अहम बात

वाशिंगटन: अमेरिका ने भारत के चीनी ऐप (Chiense App) पर प्रतिबंध फैसले का स्वागत किया है. विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ...

Indian Navy लद्दाख में सेना के लिए भेज रही यह ‘हथियार’, पैंगोंग पर चीन की हरकत होगी नाकाम

नई दिल्‍ली। भारत और चीन के बीच युद्ध के हालात बने हुए हैं और इस टकराव को...