HOME

WhatsApp

Google News

Shorts

Facebook

Home » सिवनी » सिवनी की बबीता सूर्या MPPSC में मारी बाजी, नायब तहसीलदार पद में हुआ चयन

सिवनी की बबीता सूर्या MPPSC में मारी बाजी, नायब तहसीलदार पद में हुआ चयन

By SHUBHAM SHARMA

Published on:

Follow Us
Babita Surya Seoni

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

सिवनी: मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) ने हाल ही में राज्य सेवा परीक्षा 2021 का परिणाम (State Service Exam 2024 Result) घोषित किया है। इस परीक्षा में सिवनी नगर की बेटी बबीता (बुलबुल) सूर्या (Babita Surya) का चयन नायब तहसीलदार पद के लिए हुआ है।

बबीता ने इस सफलता से अपने नगर का नाम रोशन किया है और वह अपने चयन से बेहद खुश हैं। इसके साथ ही, डीएसपी (DSP) पद के लिए उनका नाम प्रतीक्षा सूची में भी है।

MP PATWARI EXAM में भी बबीता का चयन

गौरतलब है कि इससे पहले बबीता का चयन व्यापम द्वारा आयोजित पटवारी परीक्षा (MP PATWARI EXAM) में हुआ था और वह वर्तमान में चौरई में पटवारी पद पर कार्यरत हैं।

बबीता ने बताया कि बचपन से ही उनका सपना प्रशासनिक सेवा में जाकर जरूरतमंद लोगों की सेवा करना था। इसी सपने को साकार करने के लिए उन्होंने बारहवीं कक्षा के बाद से ही कड़ी मेहनत शुरू कर दी थी।

मेहनत और समर्पण की कहानी

बबीता ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, मामा राजेश डेहरिया और गुरुजनों को दिया है। उनके पिता, निर्मल कुमार सूर्या, पुलिस विभाग में प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ हैं। बबीता ने बताया कि उन्होंने प्रतिदिन 8 से 10 घंटे पढ़ाई की और समय-समय पर सोशल मीडिया प्लेटफार्म का भी सदुपयोग किया।

समाज सेवा की दिशा में बबीता का लक्ष्य

अब बबीता का लक्ष्य आम जनता की समस्याओं का समाधान प्राथमिकता के आधार पर करना है। उनकी सफलता न केवल उनके परिवार के लिए गर्व का विषय है, बल्कि उनके नगर के लिए भी प्रेरणादायक है। बबीता ने बताया कि प्रशासनिक सेवा में आने का उनका उद्देश्य जरूरतमंद लोगों की मदद करना और समाज में सकारात्मक बदलाव लाना है।

Babita-Surya
सिवनी की बबीता सूर्या MPPSC में मारी बाजी, नायब तहसीलदार पद में हुआ चयन

परिवार और गुरुजनों का समर्थन

बबीता ने अपनी सफलता में अपने परिवार और गुरुजनों के महत्वपूर्ण योगदान को स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि उनके माता-पिता ने हमेशा उनका समर्थन किया और उन्हें प्रेरित किया। उनके मामा, राजेश डेहरिया ने भी उन्हें सही मार्गदर्शन दिया और उनके गुरुजनों ने उन्हें सही दिशा में मार्गदर्शन किया।

बचपन से ही था प्रशासनिक सेवा का सपना

बबीता ने बताया कि बचपन से ही उनका सपना प्रशासनिक सेवा में जाकर जरूरतमंद लोगों की सेवा करना था। इसलिये उन्होंने बारहवीं कक्षा के बाद से ही कड़ी मेहनत शुरू कर दी थी, और प्रतिदिन 8 से 10 घंटे पढ़ाई करती थीं। उन्होंने अपनी तैयारी के दौरान समय-समय पर सोशल मीडिया प्लेटफार्म का भी सदुपयोग किया। जिसके फलस्वरूप आज उन्हें यह सफलता हासिल हुई है।

बबीता की सफलता की कहानी समाज के अन्य युवाओं के लिए भी प्रेरणादायक है। उनकी मेहनत और समर्पण ने उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाया है। यह कहानी उन सभी के लिए एक प्रेरणा है जो प्रशासनिक सेवाओं में अपना करियर बनाना चाहते हैं। बबीता का उदाहरण दिखाता है कि सही मार्गदर्शन और कड़ी मेहनत से किसी भी लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है।

बबीता का कहना है कि वह भविष्य में भी अपने समाज की सेवा करती रहेंगी और आम जनता की समस्याओं का समाधान प्राथमिकता के आधार पर करेंगी। उनका मानना है कि प्रशासनिक सेवा के माध्यम से वह समाज में सकारात्मक बदलाव ला सकती हैं।

SHUBHAM SHARMA

Khabar Satta:- Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.

Leave a Comment