After Pregnancy Skin Care in Hindi प्रसव के बाद माँ अपनी त्वचा का कैसे रखे ख़याल

0
99

प्रसव के बाद अपने और बच्चे के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के साथ-साथ दोनों की त्वचा का खयाल रखना भी बेहद जरूरी है।
मां को स्वयं के लिए समय मिलता ही कहां है। बच्चे छोटे हो तो और ज्यादा। खुद के लिए समय निकालने की बात तो दिमाग में आती ही नहीं है। बस नींद पूरी हो जाए, यही काफी है। जब नीद ही पूरी न हो रही हो तो त्वचा की देखभाल का सवाल ही कहां से उठता है। हर समय उनींदा सा चेहरा लेकर घूमती रहती हैं, चेहरे पर कालापन सा आ गया है। आईने में एकाध बार खुद को देखा तो शक्ल किसी और की सी दिखती है। ऐसे में मॉयश्चराइजर कौन सा लगाएं, यह पता ही कहां है। लेकिन अब थोड़ा सजग हो जाइए और अपने खूबसूरत चेहरे को भविष्य में भी खूबसूरत देखने के लिए लग जाइए।

माँ के पेट के स्ट्रेच माक्र्स (Pregnancy Stretch Marks Removal)

ये कभी पूरी तरह से नहीं जाएंगे लेकिन हल्के जरूर पड़ जाएंगे। शुरुआत में गुलाबी, लाल- भूरे रंग के स्ट्रेच माक्र्स हटाने के लिए बाजार में कई क्रीम उपलब्ध हैं लेकिन किसी के बारे में सौ फीसद नहीं कहा जा सकता कि ये इस दाग को हटा देगी। एलोवेरा को लगाने से भी फायदा होता है। इसका कोई नुकसान नहीं है। लेजर थेरेपी भी आप करवा सकती हैं।

यह भी पढ़े :  18 नग सागौन चिरान सहित आरोपी गिरफ्तार

त्वचा का ख़याल रखने का बनाए रूटीन

अपने लाडले के लिए तो आप दिन-रात एक कर देती हैं, कभी अपने लिए भी कुछ कर लीजिए। त्वचा की देखभाल का मतलब सिर्फ खूबसूरती से नहीं है। रोजाना नहाने के बाद सनस्क्रीन जरूर लगाएं, भले ही कहीं बाहर न जाना हो। बालकनी में भी जाती हैं तो सूरज की तेज किरणें चेहरे पर लगती ही हैं। सनस्क्रीन स्किन कैंसर से भी बचाव करता है। बच्चे के बैग या उसके सामान के पास सनस्क्रीन जरूर रखिए। उसे क्रीम लगाने के लिए जब हाथ आगे बढ़ाती हैं तो साथ में सनस्क्रीन भी उठा लीजिए। चाहें तो फोन पर रिमाइन्डर लगा लीजिए | रात को सोते नाइट क्रीम लगाना न भूले |

त्वचा की सामान्य केयर अवश्य करें

कॉम्प्लिकेटेड स्किन केयर रुटीन को छोड़ दीजिए। एक अच्छे से फेसवॉश, मॉयश्चराइजर और सनस्क्रीन का ही प्रयोग काफी है। कभी-कभार बेबी लोशन ही लगा सकती हैं। यदि एजिंग से बचना है तो रात में रेटिनोल वाले मॉयश्चराइजर का प्रयोग करें। एग्जीमा या एक्ने है तो डर्मेटोलॉजिस्ट से बात करके सही सुझाव का पालन करें। किसी भी आम प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से बचे। अभी आपमें हार्मोनल बदलाव हो रहे हैं। डर्मेटोलॉजिस्ट से बात करके सही फेस लोशन का चुनाव करें ,जो चेहरे पर दाग-धब्बे को आने से रोकें |

यह भी पढ़े :  खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के अंतर्गत 4 प्रकरणों में ₹90000 का अर्थदंड । SEONI NEWS

नेचुरल प्रोडक्ट ही अपनायें

बिना लेबल पढ़े कोई भी प्रोडक्ट न खरीदें। बेहतर तो होगा कि इस समय आप ऑर्गेनिक, खादी, नॉन-टॉक्सिक प्रोडक्ट्स का प्रयोग करें। यदि आपके हाथ पर लगा केमिकल वाला मॉयश्चराइजर आपके नन्हे के मुंह में चला गया तो सोचिए क्या होगा! इसलिए प्राकृतिक चीजों का ही प्रयोग करें।

खूबसूरती आपकी किचेन में

खाना बनाते समय कभी टमाटर को ही मुंह पर मल लें। थोड़ा सा मुंह के अंदर डालकर खा भी लें। टमाटर बेहतरीन एंटी- ऑक्सिडेंट है जो त्वचा की खूबसूरती को बढ़ाता है और गंदगी को दूर करता है। इसी तरह कभी दाल की पकौड़ियां बना रही हों तो उसी पिसी दाल को चेहरे के साथ हाथ-पैरों पर भी मल लें। यदि प्रेगनेंसी के दौरान चेहरे पर एक्ने हो गए हैं या दाग-धब्बे पड़ गए हैं तो दही में थोड़ी सी हल्दी मिलाकर चेहरे के साथ ही हाथों पर भी लगा लें। त्वचा निखर उठेगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.