Wednesday, May 18, 2022

सतपुड़ा वन संरक्षण आवर्ड से सम्मानित होंगे , सिवनी के कपिल सनोडिया

Must read

Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
- Advertisement -

वन्यजीवों की जान बचाने और शिकारियों को पकड़ने में अपना साहस दिखाने वाले वनकर्मी को मिलेगा राज्य स्तरीय सतपुड़ा वन संरक्षण पुरूस्कार टीम वर्क और उत्कृष्ट प्लांटेशन के लिए सिवनी वनवृत्त के कपिल सनोडिया का हुआ चयन, गणतंत्र दिवस समारोह में होंगे सम्मानितसिवनी। जंगल से भटके वन्यजीवों की जान बचाने और शिकारियों को पकड़ने में अपना अदम्य साहस दिखाकर महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले सिवनी वनवृत्त के वनकर्मी कपिल सनोडिया को राज्य स्तरीय सतपुड़ा वनसंरक्षण पुरूस्कार के लिए चयनित किया गया है। सभी वनवृत्त से प्रदेश स्तर पर भेजे गए प्रस्ताव में से दो वनकर्मी पुरूस्कार के लिए चयनित किए गए हैं। दूसरा पुरूस्कार विंध्य क्षेत्र में बेहतर काम करने के लिए शिवपुरी वृत्त के वनकर्मी वैदेही चरण रावत को दिया जाएगा। वन परिक्षेत्र सिवनी के गोपालगंज सर्किल में तैनात वनकर्मी कपिल सनोडिया का साल 2011 से 2016 तक किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए राज्य स्तर पर चयन किया गया है। यह पहला मौका है जब वन विभाग की ओर से मैदानी अमले को प्रोत्साहित करने इस तरह का पुरूस्कार दिया जा रहा है। चयनित वनकर्मी को गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में पुरूस्कार राशि 10 हजार रुपए व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

भंडारा का व्यापारी बन पहुंच गया शिकारियों के बीच

- Advertisement -

28 सितंबर 2015 को पेंच बफर घाटकोहका के मोहगांव  में तस्करों को  पकड़ने वनकर्मी उनके बीच भंडारा का छद्म व्यापारी बनकर पहुंच गया था।शिकारियों को पकड़ने किसी अन्य व्यक्ति को व्यापारी की भूमिका निभानी थी लेकिन आनन फानन में वनकर्मी ने व्यापारी बनकर  बाघ की हड्डियां व बाघ तस्करों से बुलवा लिए। इस दौरान तस्करों को वनकर्मी के व्यापारी के भेष में आने पर जरा भी संदेह नहीं हुआ। वरना तस्कर किसी अप्रिय घटना को भी अंजाम दे सकते थे। सीसीएफ के निर्देशन में की गई इस कार्रवाई में तस्करों से वन अमले ने बाघ की हड्डियां और उनके अवशेष बरामद किए थे। 23 मई 2015 को कुरई चीचलडोहमाल गांव के घर में घुसे तेंदुए के रेसक्यू के दौरान उत्तेजित भीड़ को नियंत्रित करने में वनकर्मी का विशेष्ा योगदान रहा था। हरहरपुर गांव में 28 फरवरी 2012 को ट्रेक्टर ट्राली की मुरम में दबाकर ले जाई जा रही अवैध सागौन की लकड़ी को जब्त करने में वनकर्मी ने अपने साहस का परिचय दिया था। इसके अलावा सागौन की अवैध कटाई रोकने पर भ्ाी वनकर्मी द्वारा प्रकरण दर्ज कर प्रभावी कार्रवाई की गई।

यह भी पढ़े :  सिवनी में आदिवासी युवको की मौत: जाँच के लिए SIT पहुँची सिवनी

छह वन्यजीवों की बचाई जान

- Advertisement -

29 अपै्रल  2013 को बंडोल के रामगढ़ गांव के घर में घुसे तेंदुए को रेसक्यू करने में वनकर्मी से अहम भूमिका निभाई थी। घर के जिस कमरे में तेंदुआ घुसा था उसके अगले कमरे में एक अपंग व्यक्ति मौजूद था। तंेदुए से बचकर वनकर्मी अपने साथी के साथ अपंग व्यक्ति को घर सेे सुरक्षित बाहर निकालने में कामयाब हो गया। तेंदुए के घर में होने के बावजूद वनकर्मी ने अपनी जान को खतरे में डाल कर एक व्यक्ति को बचाने का जोखिम उठाकर जो साहस दिखाया वह वन अमले के लिए प्रेरणादायक है। इतना ही नहीं उत्तेजित भीड़ को काबू करने के साथ साथ तेंदुए के हमले से ग्रामीणों को बचाने में वनकर्मी का महत्वपूर्ण योगदान रहा था। इसके अलावा 14 अपै्रल 2013 को गोपालगंज गांव के कुएं में गिरे मादा चीतल को वनकर्मी ने रेसक्यू कर जीवित बचाकर जंगल में छोड़ा था। इसी तरह 8 जनवरी 2016 को जमुनिया गांव के किसान की बाड़ी के कुएं में गिरे नर चीतल, 14 जनवरी 2016 को नंदौरा गांव के एक खेत में कुएं में गिरे जंगली सूअर, 11 फरवरी 2016 को खमरिया गांव के कुएं में गिरे मादा चीतल, 3 जुलाई 2016 को सिंगोड़ी गांव में घायल मादा जंगली सूअर को जीवित बचाकर वनकर्मी ने जंगल छोड़ा था। 11 जनवरी 2016 को हरहरपुर गांव में झुंड से बिछड़े काले हिरण को बच्चे को झुंड से मिलाने में वनकर्मी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

यह भी पढ़े :  सिवनी: फुलारा टोल नाके पर कुछ लोगों ने जमकर मचाया उत्पात, CCTV कैमरे में कैद पूरा हादसा

इन कार्यों पर हुआ चयन 

- Advertisement -

गोपालगंज सर्किल की खापा बीट में बर्बाद होने की कगार पर पहुंच चुके बांस रोपण को वनकर्मी कपिल सनोडिया ने समिति सदस्यों व ग्रामीणों की मदद से पुर्नजीवित करवाया। लेंटाना उन्मूलन व बांस भिर्रा सफाई समेत सुरक्षा इंतजाम किए गए। जिससे बांस का प्लांटेशन अब ग्रामीणों की आय का साधन बन गया है। यहां साल 2014-15 में 15 हेक्टेयर रकबे में कराया गया सागौन का प्लांटेशन शत प्रतिशत सफल रहा है। वहीं साल 2011-12 में कराया गया बांस रोपण सफल रहा है। 

आक्रोशित भीड़ के बीच से जब्त किया ट्रेक्टर वाहन 

टीम वर्क के जरिए वन कर्मी के कई साहसिक कामों से वन विभाग को सफलता प्राप्त हुई। 4 मई 2013 को कातलबोड़ी में वनोपज  का अवैध परिवहन कर रहे ट्रेक्टर वाहन को वनकर्मी अमले के साथ आक्रोशित भीड़ के बीच से जब्त कर परिक्षेत्र कार्यालय ले आया। काले हिरण, जंगली सूअर, चीतल समेत अन्य वन्यप्राणियों के शिकारियों को पकड़ने में भी वनकर्मी का योगदान रहा है। 

इनका कहना  

प्रदेश स्तर पर उत्कृष्ट कार्यों के लिए दक्षिण वनमंडल सिवनी रेंज के गोपालगंज सर्किल मंे तैनात वनकर्मी कपिल सनोडिया का चयन किया गया है। साहसिक कामों और विशिष्ट उपलब्धियों के लिए प्रदेश स्तरीय कमेटी ने वनकर्मी का चयन पुरूस्कार के लिए किया है। जिसे गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में पुरूस्कृत किया जाएगा। 

यह भी पढ़े :  सिवनी के द रॉयल ईकोल स्कूल में मिलेगी राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की "संघ शिक्षा", 15 दिवसीय शिविर प्रारंभ

चरणजीत सिंह मान 

मुख्य वनसंरक्षक वनवृत्त सिवनी 

- Advertisement -
- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article