HOME

WhatsApp

Google News

Shorts

Facebook

Home » मध्य प्रदेश » पटाखों पर लगे बैन पर भड़की साध्वी प्रज्ञा सिंह, कहा : बकरे कटने पर क्यों कोई नहीं बोलता

पटाखों पर लगे बैन पर भड़की साध्वी प्रज्ञा सिंह, कहा : बकरे कटने पर क्यों कोई नहीं बोलता

By Shubham Rakesh

Published on:

Follow Us
mp-pragya-singh

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

भोपाल: अक्सर अपने बयानों को लेकर विवादों में रहने वाली भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने कुछ ऐसा कह दिया कि वे एक बार फिर चर्चा का विषय बन गई है। इस साल भी दिवाली से पहले देश के कई इलाकों में पटाखों को बैन कर दिया गया है जिसे लेकर साध्वी ने बयान दिया है।

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने पटाखों पर लगे बैन पर कहा कि हमेशा एक इसे एक प्रोपेगेंडा बनाया जाता है। लेकिन जब अन्य त्योहार होते हैं, जैसे बकरे काटे जाते हैं या उनकी खाल और हड्डियों को सड़ने के लिए वातावरण में फेंक दिया जाता है,उस पर कोई नहीं बोलता। 

जैस हम जानते है कि दिल्ली में पटाखों पर बैन लगाया गया है। जिस पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने अपनी प्रतिक्रिया दी। साध्वी प्रज्ञा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर अपना निशाना साधा है। प्रज्ञा ठाकुर ने अरविंद केजरीवाल को कहा कि क्या आपको हिंदुओं ने वोट नहीं दिया है। 

उन्होंने कहा कि 31दिसंबर को इतना हल्ला, पार्टी और अधिक शराब बिकती है, पटाखे फूटते हैं। लेकिन उस पर कोई कुछ नहीं बोलता है। लेकिन जब दीपावली आती है, गणपति जी या नवरात्रि आती है तो इन सभी त्योहारों पर कटाक्ष क्यों किया जाता है। क्यों लोगों को इन सबसे पीड़ा होती है। हमारी संस्कृति में त्यौहार मनाने का सबको अधिकार है। 

इसी दौरान कांग्रेस नेताओं के भगवान राम से राहुल गांधी की तुलना करने पर प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस के लिए तो राम थे ही नहीं उन्होंने तो उन्हें काल्पनिक बता दिया था। लेकिन अब अचानक से कांग्रेस को राहुल में राम दिखने लगे। हर व्यक्ति में राम हैं। राहुल यदि भारत में रह रहे हैं तो राहुल में भी राम हैं। 

साध्वी ने जयस को आदिवासियों के लिए घातक और कांग्रेस को विघटनकारी बताया है। सांसद ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा विघटन का काम किया है और जयस संगठन ने भी आदिवासियों के हित के लिए कोई काम नहीं किया है। उन्होंने कहा कि देखा जाए तो जयस घातक संगठन है। लेकिन फिर भी कांग्रेस उनका साथ लेती रही है। लेकिन अब जयस के लोगों को समझ आ गया इसलिए वे उन्होंने अपना फैसला ले रहें है। 

Leave a Comment