Wednesday, September 28, 2022
Homeमध्य प्रदेशपचमढ़ी में लगने वाला प्रसिद्ध महादेव मेला हुआ स्थगित, कोरोना संक्रमण के...

पचमढ़ी में लगने वाला प्रसिद्ध महादेव मेला हुआ स्थगित, कोरोना संक्रमण के चलते लगायी गयी रोक

होशंगाबाद जिला क्राइसिस मैनजमेंट ग्रुप की बैठक में हुआ निर्णय,होशंगाबाद का सन्त रामजी बाबा मेला भी स्थगित

- Advertisement -

होशंगाबाद :  हर वर्ष पचमढ़ी में महाशिवरात्रि के अवसर पर लगने वाला प्रसिद्ध महादेव मेला को कोरोना संक्रमण के चलते स्थगित कर दिया गया है | कल गृह विभाग द्वारा जारी आदेशानुसार जिला आज जिला क्रायसिस कमेटी की बैठक बुलाई गयी थी जिसमे महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना के संक्रमण को देखते हुए पचमढ़ी के महादेव मेला व होशंगाबाद के रामजीबाबा मेला को स्थगित कर दिया गया है।

हर साल पचमढ़ी में स्थित पचमढ़ी चौरागढ़ महादेव स्थल पर महाशिवरात्रि के पवन अवसर पर मेला आयोजित होता है जिसमे आस पास के राज्यों से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होते है जो इस बार 3 मार्च से 12 मार्च तक मेले का आयोजन किया जाना था पर इस मेले में महाराष्ट्र से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु शमिल होते है और अभी महाराष्ट्र में कोरोना का संक्रमण फिर जोर पकड़ रहा है इसी के चलते और संक्रमण ना फैले जिला क्रायसिस कमेटी ने यह निर्णय लिया है

- Advertisement -

यह निर्णय मंगलवार को हुई जिला आपदा प्रबंध समिति की बैठक में लिया गया है। कलेक्टर धनंजय सिंह की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया था। बैठक में होशंगाबाद विधायक डॉ सीतासरन शर्मा, सोहागपुर विधायक विजय पाल सिंह वर्चुअल शामिल हुए। । हर साल महाशिवरात्रि के अवसर पर लगने वाले मेले में बड़ी संख्या में महाराष्ट्र से श्रद्धालु आते हैं।

कल से शुरू होना था रामजी बाबा मेला

होशंगाबाद में रामजी बाबा मेले का शुभारंभ 24 फरवरी से होना था यह मेला 5 मार्च तक लगने वाला था। रामजीबाबा मेले के लिए गुप्ता मैदान में तैयारियां की जा रहीं थी। सोमवार से यहां झूले वालों व अन्य दुकानदारों के आने का सिलसिला शुरू हो गया था। मेला नहीं लगने के कारण इन सभी को अब हटाने की तैयारी प्रशासन कर रहा है। मंगलवार से दुकानदारों से साफ सफाई चार्ज लेना शुरू होना था। एसडीएम आदित्य रिछारिया ने बताया कि रामजीबाबा मेले का आयोजन नहीं किया जा रहा है।

- Advertisement -

शासन की गाइड लाइन के अनुसार अब व्यवस्था की जाएगी। रामजीबाबा समाधि स्थल पर पूर्णिमा के अवसर पर भीड़ ना हो इसके लिए व्यवस्थाएं बनाई जा रही हैं। अपर मुख्य सचिव गृह डा. राजेश राजौरा ने महाराष्ट्र राज्य के सीमावर्ती जिलों के कलेक्टरों को जिला क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक करने के निर्देश जारी किए थे।

यह भी पढ़े : कुंभ मेला 2021: कोरोना के कारण इस साल 30 दिनों का होगा कुम्भ मेला, मेडिकल सर्टिफिकेट होगा जरूरी

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group