Home » मध्य प्रदेश » चौधरी चरण सिंह, पीवी नरसिम्हा राव और डॉ. स्वामीनाथन को भारत रत्न: MP CM मोहन यादव ने व्यक्त की प्रसन्नता

चौधरी चरण सिंह, पीवी नरसिम्हा राव और डॉ. स्वामीनाथन को भारत रत्न: MP CM मोहन यादव ने व्यक्त की प्रसन्नता

By SHUBHAM SHARMA

Published on:

Follow Us
MohanYadav

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री श्री पीवी नरसिम्हा राव और कृषि वैज्ञानिक डॉ. एमएस स्वामीनाथन को मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किए जाने का निर्णय समूचे देश के लिए प्रसन्नता का विषय है।

मुख्यमंत्री ने इस निर्णय के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का आभार माना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर विभिन्न क्षेत्रों के योगदान को उदारतापूर्वक याद रखने और भारत रत्न से सम्मानित करने का निर्णय लिया गया है।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह ने अपनी शैली से सर्वहारा वर्ग में एक विशेष छवि बनाई। लोकतंत्र के सेनानी के रूप में उन्होंने आपातकाल का डटकर विरोध किया। वे उत्तरप्रदेश के किसानों के बड़े नेता के रूप में जाने जाते हैं और उनके कृषि क्षेत्र के योगदान को सदा याद रख जाएगा।

मुख्यमंत्री डॉ यादव ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री श्री पीवी नरसिम्हा राव एक मूर्धन्य विद्वान थे। इनका राजनैतिक जीवन विधायक, सांसद, मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में देश को समर्पित रहा है। शांत प्रवृत्ति के होने के बावजूद भी उनका काम बोलता था। उनके वित्तीय प्रबंधन ने राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाई है। 

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि डॉ. एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न दिया जाना कृषि जगत के लिए उल्लास का क्षण है और वैज्ञानिक जगत के लिए गौरव की बात है। हरित क्रांति के क्षेत्र में उनके योगदान से कृषि लाभ का धंधा बन पाया और असंख्य किसानों के जीवन में सुख का सूरज निकल सका। 

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने तीनों विभूतियों के देश के विकास में दिए गए योगदान को याद कर नमन किया।

SHUBHAM SHARMA

Khabar Satta:- Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.

Leave a Comment