Sunday, April 11, 2021

महाराष्ट्र के पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में भीषण आग

Must read

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता
- Advertisement -

मुंबई।  महाराष्ट्र के पुणे में वीरवार को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में भीषण आग लग गई। आग को बुझाने की कोशिश की जा रही है। अभी तक आग के कारणों का पता नहीं चला है। फायर ब्रिगेड की दस गाड़ियां मौके पर पहुंच गई हैं। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के गेट नंबर एक पर आग लगी है।आग का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। बिल्डिंग की दूसरी, तीसरी, चौथी और पांचवीं मंजिल तक आग पहुंच गई है। आग से हुए नुकसान के बारे में अभी तक जानकारी नहीं मिल पाई है। आग की वजह से चारों ओर धुएं का गुबार फैल गया। अभी तक किसी तरह के जान-माल के नुक्सान की अभी तक खबर नहीं है। सीरम इंस्टीट्यूट ने ही कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड को बनाया है। सूत्रों के मुताबिक, सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने की घटना मंजरी प्लांट में हुई। यह वैक्सीन के उत्पादन को प्रभावित नहीं करेगा।

यह भी पढ़े :  बड़ी घोषणा! कक्षा 1 से 8 वीं की परीक्षा रद्द; सीधे छात्रों के लिए अगली कक्षा में प्रवेश

जिस साइट में आग लगी, वह सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे में एक निर्माणाधीन इमारत है। वैक्सीन और वैक्सीन निर्माण संयंत्र सुरक्षित हैं। करोड़ों की लागत से इस बिल्डिंग का निर्माण किया जा रहा है। इससे पहले मुंबई के साकी नाका इलाके में मंगलवार को एक दुकान में आग लगने से तीन लोग घायल हो गए थे। साकी नाका इलाके की एक दुकान में मंगलवार सुबह लगभग 10.35 बजे धमाका हुआ, जिसके बाद आग लग गई। इस दुकान में कटाई के काम के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले गैस सिलेंडर और विभिन्न स्क्रैप आइटम रखे हुए थे।आग लगते ही दमकल विभाग को सूचित किया गया। दमकलकर्मियों ने इसे लेवल-2 की आग बताया। इस हादसे में तीन लोगों के चोटें आई हैं, जिन्‍हें इलाज के लिए रजवाड़ी अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। आग को काबू करने के लिए 10 दमकल वाहन और पानी के टैंकर मौके पर मौजूद थे।

यह भी पढ़े :  "कोरोना की दूसरी लहर के नाम पर चल रहा तमाशा बंद होना चाहिए"
- Advertisement -

गौरतलब है कि 17 नवंबर 2020 को भी मुंबई के साकीनाका इलाके में सुबह 90 फीट रोड पर अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई थी। यह आग तीन नंबर खाड़ी के पास स्थित साकीनाका की झुग्गियों में लगी थी। झुग्गियों में आग लगने से गरीब मजदूर और अन्य कामगार लोग प्रभावित हुए थे। आग की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची दमकल वाहनों ने समय रहते आग पर काबू पा लिया था नहीं तो आग फैलकर जानमाल को नुकसान पहुंचा सकती थी। दरअसल ये इलाका बेहद तंग गली वाला था जहां घनी आबादी निवास करती है। आग बुझाने में जरा सी भी देरी मुश्किलें और ज्‍यादा बढ़ा सकती थी।

- Advertisement -

IPL 2021

- Advertisement -

More articles

Latest News