Saturday, February 27, 2021

कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर; इस साल सैलरी में होगी बढ़ोतरी

पीटीआई के अनुसार, भारतीय कंपनियां इस साल 2021 में अपने कर्मचारियों के वेतन में 7.7 प्रतिशत की वृद्धि करने की योजना बना रही हैं

Must read

- Advertisement -

नई दिल्ली: 2021 में वेतन वृद्धि: यदि आप एक कर्मचारी हैं, तो आपके लिए अच्छी खबर है। एक सर्वेक्षण के अनुसार इस वर्ष अच्छा वेतन वृद्धि होगी। इस साल, भारतीय कंपनियां अपने कर्मचारियों को अच्छी वेतन वृद्धि देने जा रही हैं। पीटीआई के अनुसार, भारतीय कंपनियां इस साल 2021 में अपने कर्मचारियों के वेतन में 7.7 प्रतिशत की वृद्धि करने की योजना बना रही हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार, यह BRIC देशों (ब्राजील, रूस, भारत और चीन) में सबसे अधिक है। (Salary Hike 2021 Indian Companies To Increase Salary By 7.7 Percents Current Year)

88% कंपनियां वेतन बढ़ाएंगी  (88 Percent Companies Will Increase Salary)

यह पिछले साल की वेतन वृद्धि की तुलना में 6.1 प्रतिशत की वृद्धि है। वैश्विक पेशेवर सेवा कंपनी Aon PLC ने मंगलवार को भारत में Savory Growth पर अपनी नवीनतम रिपोर्ट जारी की। सर्वेक्षण में शामिल अस्सी-अस्सी प्रतिशत कंपनियों ने कहा कि वे 2021 तक अपने कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि करना चाहती हैं। 2020 में, तथाकथित कंपनियों की संख्या 75 प्रतिशत थी।

1,200 से अधिक कंपनियों के बारे में क्या?

- Advertisement -

सर्वेक्षण में 20 उद्योगों से 1,200 से अधिक कंपनियों के विचार शामिल थे। सर्वेक्षण के अनुसार, कंपनियों का कहना है कि वेतन वृद्धि से मजबूत सुधार दिखाई देगा। यह भी कहा कि पे कोड उलटा होगा।

यह भी पढ़े : Economic Survey 2021-21: राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने नए कृषि सुधारों से किसानों को लेकर कह दी ये बड़ी बात

कंपनियों को नए प्रावधान करने होंगे

- Advertisement -

भारत में एओन के साझेदार और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नितिन सेठी ने कहा कि नए श्रम संहिता के तहत वेतन की प्रस्तावित परिभाषा कंपनियों को ग्रेच्युटी का भुगतान करने, पैसे के बदले में छोड़ने और भविष्य निधि की अनुमति देगी। इसके लिए एक उच्च प्रावधान होना चाहिए। कंपनियां श्रम संहिता के वित्तीय प्रभाव का मूल्यांकन करने के बाद वर्ष में अपने वेतन बजट की समीक्षा करेंगी। 

यह भी पढ़े : पेट्रोल पर 33% वैट वसूल रही शिवराज सरकार ! कीमतें पहुंची 100 के पार

- Advertisement -
- Advertisement -

More articles

Latest article