Sunday, January 29, 2023
Homeअजब गजबRestaurant Bill From 1985: होटल का 37 साल पुराना बिल वायरल, शाही...

Restaurant Bill From 1985: होटल का 37 साल पुराना बिल वायरल, शाही पनीर-दाल मखनी की कीमत देखिए

Restaurant Bill From 1985: Hotel's 37-year-old bill goes viral, see price of Shahi Paneer-Dal Makhani

- Advertisement -

Restaurant Bill From 1985: छुट्टियों के दिन या किसी गेस्ट के साथ बाहर खाने की स्थिति में जब हम खाना खाने जाते हैं तो यही कोशिश रहती है कि स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन किया जाए.

ऐसा काम पुराने जमाने में भी होता था. इन दिनों सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक होटल के बिल का विवरण छपा हुआ है.

- Advertisement -

यह साल 1985 का है और इसमें दिख रहा है कि तब इनकी क्या कीमत थी.

Restaurant Bill From 1985: Hotel’s 37-year-old bill goes viral, see price of Shahi Paneer-Dal Makhani

तब कितनी थी इनकी कीमत?

- Advertisement -

दरअसल, सोशल मीडिया पर पीले रंग का यह बिल वायरल हो रहा है. इसमें दिख रहा है कि यह बिल साल 1985 का है. बिल में शाही पनीर, दाल मखनी, रायता और रोटी ऑर्डर की गई हैं. इन चीजों की रेट लिस्ट भी लिखी गई है. देखकर लग रहा है कि उस समय शाही पनीर केवल 8 रुपए में था, वहीं दाल मखनी और रायता सिर्फ 5 रुपए में मिल जाता था.

बिल में सर्विस चार्ज भी जुड़ा

इतना ही नहीं इसके अलावा रोटी की कीमत सिर्फ 70 पैसे थी. इसमें दिख रहा है कि कुल मिलाकर यह पूरा बिल 26 रुपये 30 पैसे का है. मजे की बात यह है कि इसमें 2 रुपए का सर्विस चार्ज भी जुड़ा है. इसका मतलब यह है कि यह एक अच्छे रेस्टोरेंट का बिल है. इस बिल के वायरल होते ही लोग अंदाजा लगाने लगे कि उस जमाने में खाने का क्या दाम था.

आज के दाम से तुलना

जैसे ही यह वायरल हुआ लोग इसकी तुलना आज के दाम से करने लगे. एक तरफ जहां 1985 में जहां शाही पनीर का दाम 8 रुपए था वहीं आज इसका दाम काफी बढ़ गया है. अलग अलग होटलों के दाम अलग जरूर हैं लेकिन इनमें कई गुना की बढ़ोत्तरी हो गई है. फ़िलहाल यह पुराना बिल जमकर वायरल हो रहा है.

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharmahttps://shubham.khabarsatta.com
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments