Home देश पाकिस्तान को 5.8 अरब $ का जुर्माना, अब गिड़गिड़ा रहे PAK PM इमरान खान

पाकिस्तान को 5.8 अरब $ का जुर्माना, अब गिड़गिड़ा रहे PAK PM इमरान खान

इस्लामाबाद: आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले पाकिस्तान (Pakistan) की आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गई है कि उसे इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल (International Tribunal) के आगे गिड़गिड़ाना पड़ रहा है. ट्रिब्यूनल ने पाकिस्तान पर 5.8 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया है. पाकिस्तान का कहना है कि यदि वह इतनी बड़ी रकम का भुगतान करता है, तो कोरोना (CoronaVirus) महामारी से निपटने में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा.

इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल ने यह जुर्माना ऑस्ट्रेलियाई कंपनी का खनन पट्टा रद्द करने पर लगाया है. अपनी GDP के लगभग दो फीसदी के बराबर के जुर्माने की बात सुनकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के होश उड़ गए हैं. उन्होंने जुर्माना न वसूलने के लिए गिड़गिड़ाना शुरू कर दिया है.

- Advertisement -

मालूम हो कि पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत का रेको डीक (Reko Diq) जिला सोने और तांबे सहित दूसरी अन्य खनिज संपदा के लिए प्रसिद्ध है. इमरान सरकार इसे अपनी एक रणनीतिक राष्ट्रीय संपत्ति मानती है. सरकार ने टेथयॉन कॉपर (Tethyan Copper Corp) कंपनी को दिए गए खनन पट्टे को रद्द कर दिया था, जिसकी वजह से उस पर जुर्माना लगाया गया है. टेथयॉन कॉपर में बैरिक गोल्ड कारपोरेशन ऑफ ऑस्ट्रेलिया और चिली की एंटोफगस्टो पीएलसी की बराबर की हिस्सेदारी है. पाकिस्तान ने व‌र्ल्ड बैंक इंटरनेशनल सेंटर फॉर सेटलमेंट ऑफ इंवेस्टमेंट डिस्प्यूट (World Bank’s International Centre for Settlement of Investment Disputes) से जुर्माना न वसूलने की अपील की है, जिस पर विचार किया जा रहा है.

लाभ उठाने का लालच
बलूचिस्तान सरकार (Balochistan government) ने खदान को विकसित करने के लिए अपनी स्वयं की एक कंपनी बनाई है. चूंकि कमोडिटी की कीमतें बढ़ रही हैं, इसलिए स्थानीय सरकार मौके का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाना चाहती है.  स्थिति की गंभीरता को देखते हुए पाकिस्तान ने कंपनी से वैकल्पिक समाधानों पर चर्चा की इच्छा व्यक्त की है, लेकिन अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है. पाक अधिकारियों ने कहा कि वे प्रत्यक्ष रूप से किसी के संपर्क में नहीं हैं और कोई विशेष समझौता नहीं किया गया है.

यह भी पढ़े :  ना'पाक' साजिश बेपर्दा, सीमा पर मिली सुरंग, इसी रास्ते से घुसे थे मारे गए चारों जैश आतंकी
- Advertisement -
यह भी पढ़े :  फेक न्यूज पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, सरकार से कहा इस पर रोक लगाने के लिए तंत्र विकसित करने

इमरान के कार्यकाल में बदतर हुए हालात
इमरान खान नए पाकिस्तान के नारे के साथ सत्ता में आये थे. आवाम को उम्मीद थी कि इमरान दूसरे नेताओं से कुछ अलग करके दिखाएंगे, लेकिन वह पूरी तरह नाकाम साबित हुए हैं. उनके कार्यकाल में पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति बाद से बदतर होती जा रही है. कोरोना महामारी से निपटने में भी उनकी सरकार विफल रही है और आये दिन सामने आने वाले भ्रष्टाचार के मामलों से जनता में उनके प्रति गुस्सा बढ़ा है. इमरान के खास समझे जाने वाले पूर्व सैन्य अधिकारी असीम सलीम बाजवा के भ्रष्टाचार को लेकर हाल ही में बड़ा खुलासा हुआ है. इसके बावजूद इमरान ने उन्हें अपने विशेष सहायक के पद से नहीं हटाया है.

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,262FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

संजय दत्त से कंगना रनौत ने की हैदराबाद में मुलाकात

हैदराबाद : कंगना रनौत एक पहेली हैं! एक ओर, उसने हाल ही में संजय दत्त की नशीली दवाओं की लत के...
यह भी पढ़े :  किसानों के समर्थन में उतरे केजरीवाल, बोले- अन्नदाताओं पर जुर्म बिल्कुल गलत

कोरोना काल में MP के कड़कनाथ मुर्गे की बढ़ी मांग, शासन ने तैयार की कड़कनाथ पालन योजना

भोपाल , मध्यप्रदेश : कोरोना काल में प्रदेश के प्रसिद्ध कड़कनाथ की देश में बढ़ती माँग को देखते हुए राज्य शासन ने इसके उत्पादन...

नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना

भोपाल: मध्य प्रदेश के राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगाण करते नजर आ रहे...

नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण

भोपाल: प्रदेश की सियासत बहुत कुछ या यूं कहें, कि सबकुछ गंवाने के बाद भी कांग्रेस अपनी गलतियों से कोई सीख नहीं ले रही...

लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय

रांची। लालू प्रसाद यादव की जमानत पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान लालू के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सीबीआइ के जवाब...
x