हैवानियत: ब्याज का पैसा न देने पर बांधा रेलवे ट्रैक पर, जो हुआ उसे देख पुलिस भी हैरान..

By Shubham Rakesh

Published on:

Follow Us
rail-track

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के पूर्वी बर्दवान जिले के केतुग्राम में एक सरकारी कर्मचारी के द्वारा ब्याज के पैसे न देने पर रेलवे ट्रैक से बांधने वाली घटना सामने आई है. इसके बाद तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट पर आने से युवक का एक पैर कट गया और दूसरा पैर गंभीर रूप से घायल हो गया है पीड़ित का नाम रुद्रभैरव मुखोपाध्याय है। उसे इलाज के लिए बर्दवान मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

मुखोपाध्याय की हालत नाजुक बताई जा रही है. वही इस घटना से पूरे जिले में हड़कंप मच गया है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और प्रशासन में भी हड़कंप मच गया।

क्या मामला है?

मुखोपाध्याय ने ऑफिस के एक सहयोगी और उसके दोस्त से 1 लाख 20 रुपये उधार लिए थे। जिसके बाद पैसा वापस देने के बाद भी उसने मुखोपाध्याय से ब्याज के नाम पर लाखों रुपये की मांग की. आरोपी पिछले कई दिनों से उस पर पैसे के लिए दबाव बना रहा था।

गुरुवार को मुखोपाध्याय ऑफिस से घर लौट रहे थे कि तभी मोटरसाइकिल पर सवार दो लोगों ने उन्हें रास्ते में रोक लिया. उन दोनों ने मुखोपाध्याय को कुछ खाने को दिया। यह खाकर मुखोपाध्याय बेहोश हो गए। उसके बाद उसके हाथ-पैर बांधकर रेलवे ट्रैक पर उन्हें फेंक दिया ।

तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में आने से युवक का एक पैर कट गया जबकि दूसरा पैर गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना कटवा पूर्वी बर्दवान के केतुग्राम के शिब्लुन स्टेशन पर अंबलग्राम रेलवे लाइन पर अजीमगंज लाइन पर हुई.

जीआरपी व पुलिस मामले की जांच कर रही है। हालांकि पीड़ित ने पुलिस बयान में पूरी घटना बताई है, लेकिन उसके परिवार की ओर से अभी तक कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है.\

पुलिस सूत्रों के मुताबिक रुद्रभैरब मुखोपाध्याय सरकारी कर्मचारी हैं. उसने एक दोस्त से पैसे उधार लिए थे. तब यह नहीं कहा गया था कि ब्याज देना होगा. उसने मूलधन का भुगतान कर दिया. उस पैसे को चुकाने के बाद, वे दोस्त ब्याज सहित दबाव बनाने लगे. रुद्रभैरव उस ब्याज राशि का समय पर भुगतान नहीं कर सके. तभी इस घटना की योजना बनाई गई है

Leave a Comment