khabar-satta-app
Home देश LG ने पलटा दिल्ली सरकार का फैसला तो BJP पर भड़की AAP

LG ने पलटा दिल्ली सरकार का फैसला तो BJP पर भड़की AAP

LG ने पलटा दिल्ली सरकार का फैसला तो भड़की AAP, BJP पर लगाया यह गंभीर आरोप… एलजी अनिल बैजल के फैसले के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर निशाना साधा. AAP ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने  LG पर दबाव डालकर घटिया राजनीति की है.

नई दिल्ली: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल (LG Anil Baijal) ने केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal) के उस फैसले को पलट दिया, जिसमें कहा गया था कि दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवालों का ही इलाज होगा. एलजी बैजल के फैसले के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर निशाना साधा. AAP ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने  LG पर दबाव डालकर घटिया राजनीति की है. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने ट्वीट किया, ‘बीजेपी की राज्य सरकारें PPE किट घोटालों और वेंटिलेटर घोटालों में व्यस्त हैं. दिल्ली सरकार सोच समझकर, ईमानदारी से इस डिज़ास्टर को मैनेज करने की कोशिश कर रही है. यह बीजेपी से देखा नहीं जा रहा इसलिए LG पर दबाव डालकर घटिया राजनीति की है.

- Advertisement -

उधर, पूर्वी दिल्ली से बीपेजी सांसद गौतम गंभीर ने एलजी के कदम की सराहना की. गौतम गंभीर ने ट्वीट करके कहा, ‘दिल्ली सरकार के अन्य राज्यों के रोगियों का इलाज नहीं करने के मूर्खतापूर्ण आदेश को खत्म करने के लिए LG की ओर से उत्कृष्ट कदम! भारत एक है और हमें मिलकर इस कोरोना वायरस की महामारी से लड़ना है!’

बता दें कि दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच दिल्ली कैबिनेट ने रविवार को फैसला लिया था कि दिल्ली सरकार के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के निवासियों का इलाज होगा, जबकि केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा. 

- Advertisement -

उन्होंने बताया था कि दिल्ली में बढ़ते मामलों के चलते ये फैसले लिये गए हैं. उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार के अस्पतालों में देश भर के लोगों के इलाज हो सकेंगे. अरविंद केजरीवाल के अनुसार दिल्ली में जून के आखिरी तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी, जबकि हमारे पास सिर्फ 10 हजार बेड हैं. ऐसे में अस्पतालों को सबके लिए खोला जाना संभव नहीं होगा.

केजरीवाल ने कहा था कि मार्च के महीने तक दिल्ली के सारे अस्पताल पूरे देश के लोगों के लिए खुले रहे. किसी भी समय हमारे दिल्ली के अस्पतालों में 60 से 70 फ़ीसदी लोग दिल्ली से बाहर के थे लेकिन कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में आप की सरकार बेड का इंतजाम कर रही है. ऐसे में अगर दिल्ली के अस्पताल बाहर वालों के लिए खोल दिए तो दिल्ली वालों का क्या होगा. दिल्ली के 90 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि जब तक को रोना है तब तक दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज हो

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,007FansLike
7,044FollowersFollow
795FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

स्टीव स्मिथ ने पंजाब के खिलाफ जीत के बाद कहा- हम सही समय पर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं

अबुधाबी। राजस्थान रॉयल्स ने आइपीएल के 13वें सीजन के 50वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जीत दर्ज...

IPL 2020: दिल्ली की बल्लेबाजी लगा पहला झटका, शिखर धवन बगैर खाता खोले आउट

नई दिल्ली।  इंडियन प्रीमियर लीग 2020 (IPL 2020) का 51वां मुकाबला दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला...

EC के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस, तन्खा बोले- चुनाव आयोग दबाव में कर रहा काम

इंदौर: पूर्व सीएम कमलनाथ को स्टार प्रचारक की सूची से हटाने पर मध्य प्रदेश कांग्रेस नेताओं का गुस्सा चर्म पर हैं। चुनाव आयोग के...

5 किलो 100 ग्राम गांजे के साथ दो आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

रतलाम: रतलाम की जावरा पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है।  मादक प्रदार्थो की तस्करी करने वालों की धर...

EC के एक्शन के बाद कमलनाथ बोले- अब प्रश्न हारने का नहीं कितनी सीट पर कितने से हारने का है

भोपाल: चुनाव आयोग द्वारा पूर्व सीएम कमलनाथ को स्टार प्रचारक की सूची से बाहर करने के बाद पूर्व सीएम का एक बड़ा बयान सामने...