Kashi Mahakaal Express :भगवान शिव की सीट उनके आशीर्वाद के लिए रखी गई थी -IRCTC

Must Read

Coronavirus In Hollywood: हॉलीवुड पहुंचा कोरोना वायरस

Coronavirus In Hollywood: कोरोना वायरस का असर पूरी दुनिया पर पड़ रहा है।...

Holi के दिन Colour से बचने के लिए लोगों के अतरंगी जुगाड़, हंसी नहीं रोक पाओगे

Holi के दिन Colour से बचने के लिए लोगों के अतरंगी जुगाड़, हंसी नहीं रोक पाओगे

अजब गजब : यह शहर कहलाता है भारत का फ्रांस

अजब गजब : विश्व के नक्शे पर फ्रांस को देखकर अगर आपका...

क्या आप जानते है ? घड़ी के विज्ञापन में समय 10:10 ही क्यों रखा जाता है

चाहे वो रोलेक्स घडी हो या टाइटन सबके विज्ञापन में हमेशा समय...

खाने से पहले उसके चारों तरफ क्यों छिड़कते हैं पानी ! Did You Know ?

भारतीय परंपराओं का हमेशा से ही दुनिया में अलग स्थान रहा है, शायद...
- Advertisement -

नई दिल्‍ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वाराणसी से इंदौर के बीच काशी महाकाल एक्सप्रेस का उद्घाटन करते हुए उसे हरी झंडी दिखाई थी। ट्रेन में भगवान शंकर के लिए भी एक सीट आरक्षित रखी गई थी जिस पर हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने धर्मनिरपेक्षता का हवाला देकर सवाला उठाया था। अब इस विवाद पर इंडियन रेलवे केटरिंग ऐंड टूरिजम कॉर्पोरेशन (IRCTC) ने सफाई देते हुए कहा है कि यह सिर्फ उद्घाटन के लिए था जिसका मकसद इस प्रॉजेक्ट की सफलता के लिए भगवान शिव का आशीर्वाद लेना था।

औवैसी ने उठाया था सवाल

IRCTC ने एक बयान जारी कर कहा कि रविवार को उद्घाटन के दौरानपूजा के लिए ट्रेन स्टाफ ने एक अपर बर्थ पर अस्थायी तौर पर श्री महाकाल की तस्वीर‘ लगाई थी। बता दें कि एआईएमआईएम मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने इस पर आपत्ति जताते हुए पीएमओ को टैग करके ट्वीट किया था। ओवैसी ने संविधान की प्रस्तावना की एक तस्वीर के साथ एएनआई यूपी के एक ट्वीट को रीट्वीट किया था। एएनआई के ट्वीट में लिखा था, ‘काशी महाकाल एक्सप्रेस (वाराणसी से इंदौर) के कोच B5 की सीट नंबर 64 को भगवान शिव के लिए एक मिनी-टेंपल में तब्दील किया गया है। ट्रेन को पीएम मोदी ने कल (रविवार) विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाई थी।

स्टाफ ने सिर्फ उद्घाटन के लिए लगाई थी तस्वीर: IRCTC

काशी महाकाल एक्सप्रेस 3 ज्योतिर्लिंगों- इंदौर के नजदीक ओमकारेश्वरउज्जैन के महाकालेश्वर और वाराणसी के काशी विश्वनाथ को जोड़ेगी। इस ट्रेन की पहली व्यावसायिक यात्रा 20 फरवरी से शुरू होने वाली है। आईआरसीटीसी ने अपने बयान में कहा, ‘नई काशी महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन के स्टाफ ने एक अपर बर्थ पर अस्थायी तौर पर श्री महाकाल की तस्वीर लगाकर पूजा की थी जिसका मकसद इस प्रॉजेक्ट की सफलता के लिए उनका आशीर्वाद पाना था। यह सिर्फ उद्घाटन के लिए थासिर्फ एक बार के लिए है।

’20 फरवरी से कमर्शल रनऐसी कोई सीट नहीं रहेगी रिजर्व

आईआरसीटीसी ने बयान में आगे कहा, ‘उद्घाटन वाली यात्रा में पैसंजर शामिल नहीं हुए। 20 फरवरी से शुरू होने जा रहे ट्रेन के कमर्शल रन में इस उद्देश्य से कोई सीट रिजर्व नहीं होगी।‘ बता दें कि काशी महाकाल एक्सप्रेस का संचालन आईआरसीटी करेगी। इस ट्रेन को मिलाकर भारतीय रेलवे की सब्सिडियरी आईआरसीटीसी अबतक 3 ट्रेनों का संचालन कर रही है। 

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

कोरोना से परेशान ‘यमराज’ सड़कों पर उतरे, घर बैठने की दी हिदायत…

आंध्र प्रदेश में बुधवार को कोरोनावायरस के 43 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में कोरोना मामलों...

राष्ट्रपति पुतिन से मिले डॉ की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

कोरोना वायरस की चपेट में इस वक्त दुनिया की अधिकतर देश आ चुकी है। ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स और वहां के प्रधानमंत्री समेत...

लॉकडाउन के बीच बड़ी राहत, रसोई गैस हुई सस्ती

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चल रही मंदी का फायदा अब आम आदमी को मिलता दिख रहा है। प्राकृतिक गैस...

कोरोना: अमरनाथ यात्रा पर कोरोना का साया रजिस्ट्रेशन टला : Baba Amarnath Yatra 2020

जम्मू, देश भर में फैले कोरोना वायरस का साया वार्षिक अमरनाथ यात्रा पर भी पड़ता नजर आ रहा है। अप्रैल से शुरू होने...

सरकार ने कहा अचानक बढ़े कोरोना के मरीज, तबलीगी जमात के लोग है वजह

देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1700 से ज्यादा हो गया है. अब तक 54 लोगों की मौत हो चुकी है. इस...

Stay connected

4,879FansLike
6,468FollowersFollow
408FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

More Articles Like This