Sunday, April 11, 2021

बिजनेसमैन ने दी खुद की हत्या की सुपारी, ऐसी खुली मर्डर मिस्ट्री

Must read

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma
- Advertisement -

दिल्ली के आनंद​ विहार इलाके से एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है जहां एक बिजनेसमैन ने अपनी हत्या के लिए खुद ही सुपारी दी.

नई दिल्लीदिल्ली में आर्थिक तंगी से गुजर रहे एक कारोबारी ने परिवार को इससे छुटकारा दिलवाने के लिए अपनी ही हत्या की साजिश रची. उसने अपनी हत्या की सुपारी देकर खुद की हत्या करवा दी. कारोबारी की मौत के बाद उसके परिवार को इंश्योरेंस की मोटी रकम मिलती, जिससे उसका कर्जा चुका दिया जाता. लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

- Advertisement -

रणहौला थाना पुलिस ने हत्या की गुत्थी को सुलझाते हुए एक नाबालिग समेत चार आरोपियों को दबोचा है. पकड़े गए आरोपियों की पहचान मनोज कुमार यादव (21), सूरज उर्फ सीपी (18) और सुमित कुमार(26) के रूप में हुई है. आरोपी मृतक से सुपारी की रकम वसूल भी चुके थे. सुपारी कितने में ली गई और मृतक गौरव बंसल (38) को इंश्योरेंस के कितनी रकम मिलती फिलहाल पुलिस ने इसका खुलासा नहीं किया है. आउटर डीसीपी डॉ.ए. कॉन का कहना है कि आरोपियों और परिजनों से पूछताछ कर इसकी छानबीन की जा रही है

यह भी पढ़े :  अमित शाह बोले- बंगाल की प्रगति और विकास सुनिश्चित करेगा आपका वोट

आउटर डिस्ट्रिक्ट डीसीपी ने बताया कि 10 जून को रणहौला इलाके में बापरौला के खेड़ीवाला पुल के पास से एक पेड़ पर लटकी कारोबारी की लाश मिली थी. उसके हाथ पीछे से बंधे हुए थे. पुलिस ने इसी आधार पर हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की. जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि मृतक पूर्वी दिल्ली के आईपी एक्सटेंशन स्थित आर्या अपार्टमेंट मेंं पत्नी और दो बच्चों के साथ रहता था. इसकी कड़कड़डूमा इलाके में परचून की बड़ी दुकान थी. मंगलवार दोपहर को अचानक दुकान से कारोबारी गायब हो गया था.

यह भी पढ़े :  छत्तीसगढ़: मुठभेड़ में शहीद हुए जवान को शादी के 19 साल बाद पिता बनना था; परंतु।
- Advertisement -

परिजनों ने काफी तलाश करने के आनंद विहार थाने में गौरव बंसल की गुमशुदगी दर्ज करा दी थी. पुलिस ने मृतक के सीडीआर और सोशल मीडिया अकाउंट की पड़ताल की तो एक लड़के से गौरव के लगातार संपर्क में रहने का पता चला. पुलिस आरोपी की तलाश करते-करते सूरज तक पहुंच गई. सूरज ने पूछताछ के दौरान गौरव की हत्या की बात कबूल कर ली. उसने बताया कि मनोज, सुमित और नाबालिग के साथ मिलकर उन्होंने कारोबारी को पेड़ से लटकाकर मौत के घाट उतार दिया. रात के समय वारदात को अंजाम दिया गया. दरअसल कारोबारी नाबालिग लड़के से संपर्क में था.

गौरव ने ही नाबालिग से अपनी हत्या करने की बात की. इसके बाद नाबालिग ने मनोज और बाद में सूरज और सुमित को इसके लिए तैयार किया गया.घटना वाले दिन कारोबारी किसी तरह रणहौला पहुंचा, जहां उसके हाथ-पैर बांधकर उसको पेड़ से लटका दिया गया. जिससे उसकी मौत हो गई

- Advertisement -

एक करोड़ से अधिक का कराया हुआ था इंश्योरेंस
पुलिस की मानें तो कर्ज की वजह से गौरव बेहद परेशान था. उसने कई-कई बार लाखों रुपये कर्ज लिया था. हाल ही में उसने छह लाख रुपये का कर्ज लिया था, लेकिन उसे दोबारा कारोबार में घाटा हुआ. इसके अलावा उसके साथ ऑनलाइन साढ़े तीन लाख रुपये की ठगी भी हो गई.
कर्ज की वजह से वह डिप्रेशन में भी चला गया. उसका इलाज हुआ. सूत्रों की मानें तो गौरव ने अलग-अलग कंपनियों से अपना करीब एक करोड़ से अधिक का इंश्योरेंस कराया हुआ था. इंश्योरेंस की रकम उसके मरने के बाद ही मिलती, इसलिए उसने सारी साजिश रची.

यह भी पढ़े :  मतदाताओं से अपील का समय खत्म, चार राज्य व एक केंद्रशासित प्रदेश में चुनाव कल
यह भी पढ़े :  शामली के ढाई फुट के अजीम ने उठा ली इंसास राइफल, फोटो वायरल, कानूनी शिकंजे में फंसने की संभावना

कुछ दिनों पहले फेसबुक मैसेंजर पर उसकी बात नाबालिग से हुई. बाद में फोन पर भी बात करने लगे. गौरव ने उसे सुपारी देकर अपनी हत्या का ऑफर दिया तो नाबालिग ने कबूल कर लिया. इसके लिए नाबालिग ने मनोज के जरिये सूरज और सुमित को वारदात में शामिल किया. घटना वाले दिन अपनी पहचान के लिए गौरव ने व्हाट्सऐप के जरिये अपनी खुद की फोटो नाबालिग को भेजी. बाद में वह किसी तरह रणहौला पहुंचा और नाबालिग व बाकी लड़कों से मिला. सूत्रों के मुताबिक उसने सुपारी की रकम भी दे दी. इसके बाद रात में ही आरोपियों ने वारदात ‌को अंजाम दे दिया.

- Advertisement -

IPL 2021

- Advertisement -

More articles

Latest News