Saturday, April 17, 2021

आरटीआई कार्यकर्ता और पत्रकार का अपहरण कर नृशंस हत्या

रोहिदास दतिर का शव मंगलवार आधी रात के आसपास कॉलेज रोड पर मिला था। उसके सिर पर पत्थर फेंककर मारा गया था। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Must read

- Advertisement -

अहमदनगर: अहमदनगर जिले के राहुरी में आरटीआई कार्यकर्ता और पत्रकार रोहिदास दतिर की अपहरण और नृशंस हत्या ने हलचल मचा दी है। पुलिस जांच कर रही है कि रोहिदास दतिर को क्यों मारा गया। पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जांच कर रही है। 

रोहिदास दतिर, अहमदनगर जिले के राहुरी में एसोसिएशन ऑफ जर्नलिस्ट्स और विजिलेंट जर्नलिस्ट्स के अध्यक्ष का कल दोपहर दोपहिया वाहन पर घर के रास्ते में एक स्कार्पियो वाहन में अज्ञात व्यक्तियों ने अपहरण कर लिया। रोहिदास दतिर की पत्नी ने राहुरी पुलिस स्टेशन में अपहरण का मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी और वाहन की तलाश शुरू की थी। हालांकि, मंगलवार आधी रात के आसपास कॉलेज रोड पर रोहिदास दतिर का शव मिला था। पहली नजर में उसके सिर पर पत्थर फेंककर मारा गया था। पुलिस ने घटनास्थल पर पंचनामा करने के बाद आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

रोहिदास दतिर ने अपनी पत्रकारिता के माध्यम से राहुरी तालुका में कई घटनाओं को पढ़ा था। उन्होंने सभी आम लोगों को न्याय दिलाने का काम किया। कुछ मामले औरंगाबाद कोर्ट में लंबित हैं। यह इस मामले से है कि उसके अपहरण और हत्या पर चर्चा शुरू हो गई है। 

कॉलेज रोड इलाके में मृत

- Advertisement -

पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज किया है और दतिर के लिए तलाशी अभियान शुरू किया है। उसी रात, अहमदनगर में राहुरी कॉलेज रोड पर रोहिदास दतिर का शव मिला। दतिर को बेरहमी से पीट-पीटकर मार डाला गया।

आरटीआई के जरिए भ्रष्टाचार उजागर

दक्ष पाटकर संघ के संस्थापक अध्यक्ष रोहिदास दतिर ने पत्रकारिता के माध्यम से राहुरी तालुका में कई चीजें निकालीं। रोहिदास दतिर ने आरटीआई के माध्यम से कई भ्रष्टाचारों को उजागर किया था। यह प्राथमिक कारण है कि वह क्यों मारा गया।

- Advertisement -

इस बीच, पुलिस ने घटनास्थल पर एक पंचनामा बनाया है और आरोपियों की तलाश कर रही है। बहरहाल, एक पत्रकार की हत्या से अहमदनगर जिले में खलबली मच गई। 

दिल्ली में एक पत्रकार की हत्या

दिल्ली में एक पत्रकार विक्रम जोशी की पिछले साल गोली मारकर हत्या कर दी गई थी क्योंकि उसने अपनी भतीजी के साथ छेड़छाड़ करने की पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। जोशी को उनकी बेटियों की आंखों के सामने गोली मार दी गई थी। विक्रम जोशी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनकी भतीजी के साथ गुंडों ने छेड़छाड़ की थी। इसका बदला लेने के लिए गुंडों ने हमला किया था।

- Advertisement -
- Advertisement -

More articles

- Advertisement -

Latest article

_ _